गर्भ में पल रहा शिशु लड़का है या लड़की? जानिए इन मज़ेदार और रोमांचक तरीको से

प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला को नए नए अनुभव का अहसास तो होता ही हैं। साथ ही प्रेग्नेंट महिला और घर के सदस्यों को यह जानने की इच्छा भी होती है। की आखिर गर्भ में पल रहा शिशु लड़का है या लड़की? लेकिन इसके बारे में तो डिलीवरी के बाद ही पता चलता है। की आपके परिवार में नन्हा राजकुमार शामिल हो रहा है या नन्ही परी शामिल हो रही है। लेकिन फिर भी कुछ ऐसे मज़ेदार और रोमांचक तरीके होते हैं। जिनसे यह अंदाजा लगाया जा सकता है। की गर्भ में पल रहा शिशु लड़का है या लड़की है। तो आइये आज इस आर्टिकल में कुछ ऐसे ही तरीको के बारे में हम आपके साथ शेयर करने जा रहे हैं।

भ्रूण के दिल की धड़कन

  • यदि शिशु के दिल की धड़कन140 BPM (बीट्स प्रति मिनट) से ऊपर है, तो गर्भ में लड़की एक लड़की है।
  • अगर यह गर्भ में शिशु के दिल की धड़कन140 (बीट्स प्रति मिनट) से कम है तो आपके गर्भ में लड़का है।

मुँह का स्वाद

  • प्रेगनेंसी के दौरान बॉडी में होने वाले हार्मोनल बदलाव के कारण मुँह के स्वाद में फ़र्क़ आ सकता है।
  • और मुँह के स्वाद में फ़र्क़ आने के बाद यदि प्रेग्नेंट महिला का मीठा खाने की इच्छा होती है।
  • तो इसका मतलब होता है की महिला एक लड़की को जन्म देने वाली है।
  • लेकिन यदि महिला की खट्टा या नमकीन खाने की इच्छा होती है तो यह गर्भ में लड़का होने की और संकेत करता है।

लड़का या लड़की जानने के लिए देखें प्रेग्नेंट महिला की ख़ूबसूरती

  • ऐसा माना जाता है की यदि प्रेग्नेंट महिला की ख़ूबसूरती प्रेगनेंसी के दौरान कम हो जाती है।
  • जैसे की महिला को चेहरे पर मुहांसे, दाने, स्किन में रूखापन, बालों की चमक में कमी आदि हो जाती है।
  • तो इसका मतलब होता है की महिला के गर्भ में लड़की है।
  • क्योंकि लडकियां अपनी माँ की ख़ूबसूरती को चुरा लेती है।
  • लेकिन यदि प्रेग्नेंट महिला की ख़ूबसूरती बढ़ जाती है।
  • तो यह गर्भ में लड़का होने की तरफ इशारा करता है।

पेट पर होने वाली काली रेखा

  • प्रेगनेंसी के दौरान बहुत सी महिलाओं के पेट पर बेली बटन के थोड़ा ऊपर से लेकर नीचे तक एक लम्बी रेखा होती है।
  • और यह रेखा थोड़ी डार्क होती है तो इसका मतलब गर्भ में पल रहा शिशु लड़का है।
  • लेकिन यदि यह रेखा लम्बी न होने के साथ ज्यादा दिखाई भी नहीं देती है।
  • तो यह गर्भ में लड़की होने का लक्षण होता है।

लड़का या लड़की जानने के लि बच्चे से पूछे

  • यदि आपका कोई बच्चा है और उसकी उम्र तीन साल से कम है।
  • और वह आपके पेट को बार बारे छेड़ता है या आपके कहने से बेली पर किस करता है।
  • तो इसका मतलब होता है की गर्भ में पल रहा शिशु लड़की है।
  • लेकिन यदि आपके शिशु को इसमें कोई इंटरेस्ट नहीं होता है।
  • तो इसका मतलब होता है की गर्भ में पल रहा शिशु लड़की है।

पैरों में बदलाव

  • प्रेग्नेंट महिला के पैरों का साइज यदि बढ़ जाता है और पैर ठन्डे रहते हैं।
  • तो इसका मतलब होता है की गर्भ में पल रहा शिशु नन्हा राजकुमार है।
  • लेकिन यदि पैरों का साइज वैसे ही रहता है, और पैर गर्म या सामान्य तापमान में रहते हैं।
  • तो इसका मतलब होता है की गर्भ में पल रहा शिशु लड़का होती है।

वजन

  • यदि प्रेग्नेंट महिला का वजन ज्यादा तेजी से बढ़ता है और ज्यादा बढ़ जाता है।
  • तो इसका मतलब होता है की गर्भ में पल रहा शिशु बेटी है।
  • लेकिन यदि महिला का वजन ठीक बढ़ता है और महिला के अंगो पर चर्बी अधिक नहीं होती है।
  • तो इसका मतलब होता है की गर्भ में पल रहा शिशु बेटा है।

मॉर्निंग सिकनेस

  • सुबह उठने पर उल्टी आने का मन करना, सिर में भारीपन महसूस होना, आदि मॉर्निंग सिकनेस के लक्षण होते हैं।
  • यदि प्रेग्नेंट महिला को मॉर्निंग सिकनेस की समस्या अधिक होती है।
  • तो यह बेटी होने का लक्षण होता है।
  • जबकि मॉर्निंग सिकनेस की समस्या जिन प्रेग्नेंट महिलाओं को कम होती है यह इस बात का लक्षण होता है की शायद गर्भ में बेटा है।

मूड स्विंग्स

  • बॉडी में होने वाले हार्मोनल बदलाव के कारण प्रेगनेंसी में मूड स्विंग्स की समस्या का होना भी आम बात होती है।
  • यदि गर्भवती महिला को मूड स्विंग जैसे की गुस्सा, चिड़चिड़ेपन जैसी दिक्कत अधिक होती है।
  • तो यह गर्भ में लड़की होने की निशानी होती है।
  • जबकि जिन प्रेग्नेंट महिलाओं को मूड स्विंग्स की समस्या अधिक नहीं होती है।
  • तो यह उनके गर्भ में बेटा होने का लक्षण हो सकता है।

लड़का या लड़की जानने के लिए करें रिंग टेस्ट

  • ये तरीका थोड़ा मज़ेदार होने के साथ रोमांचक भी है।
  • इस तरीके के लिए एक बाल में या एक पतले धागे में अपनी शादी की अंगूठी को अपनी प्रेग्नेंट बेली के आस पास करके अपने हाथ से लटकाएं।
  • उसके बाद देखें यदि यह रिंग गोल घूम रही है तो यह महिला के गर्भ में बेटी होने का लक्षण है।
  • यदि यह रिंग आगे पीछे घूम रही है तो यह गर्भ में बेटा होने का लक्षण होता है।

बेकिंग सोडा टेस्ट

  • इस उपाय को करने के लिए दो चम्मच बेकिंग सोडा को प्रेग्नेंट महिला अपने यूरिन के साथ मिक्स करे।
  • यदि यूरिन और बेकिंग सोडा मिक्स हो जाते हैं।
  • और सोडा की तरह हो जाते हैं।
  • तो यह गर्भ में बेटा होने का लक्षण होता है।
  • जबकि बेकिंग सोडा और यूरिन में यदि आपस में कोई प्रतिक्रिया नहीं करते हैं।
  • तो यह गर्भ में बेटी होने का लक्षण होता है।

लड़का या लड़की जानने के लिए देखें होने वाले पिता में परिवर्तन

  • गर्भावस्था महिला को होती है लेकिन पिता में भी यदि किसी तरह का बदलाव हो।
  • तो इसे देखकर भी अंदाजा लगाया जा सकता है की गर्भ में बेटा है या बेटी।
  • ऐसे में यदि होने वाले पिता के वजन में बढ़ोतरी हो जाती है।
  • तो यह गर्भ में बेटी होने का लक्षण होता है।
  • जबकि होने वाले पिता के वजन में कोई बदलाव नहीं आता है तो यह गर्भ में बेटा होने का लक्षण होता है।

तो यह हैं कुछ तरीके जिनसे आप अंदाजा लगा सकते हैं की गर्भ में पल रहा शिशु लड़का है या लड़की है। लेकिन इस बात का ध्यान रखें की यह तरीके सिर्फ अंदाज़ा लगाने के लिए ही हैं। यह पूरी तरह सच हो यह कहना थोड़ा मुश्किल हैं। लेकिन हाँ, इन तरीको से प्रेगनेंसी को थोड़ा मज़ेदार बनाया जा सकता है।