गर्भधारण के बाद 10 सम्पूर्ण आहार

0

गर्भधारण के बाद 10 सम्पूर्ण आहार, प्रेगनेंसी के दौरान महिला का आहार, प्रेगनेंसी के समय महिला को क्या क्या खाना चाहिए, गर्भवती महिला के लिए सम्पूर्ण आहार, गर्भावस्था के दौरान क्या खाना चाहिए

गर्भावस्था के दौरान महिला का स्वास्थ्य और शिशु का बेहतर विकास पूरी तरह से गर्भवती महिला के खान पान पर निर्भर करता है। क्योंकि महिला जो आहार लेती है उसमे मौजूद पोषक तत्व ही शिशु का बेहतर विकास करते है, और प्रेगनेंसी के समय महिला को हर परेशानी से बचाव करने में मदद करते हैं। और यदि महिला प्रेगनेंसी के दौरान सम्पूर्ण आहार का सेवन नहीं करती है तो इसके कारण शिशु के विकास में कमी आ सकती है, महिला को स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्या का सामना करना पड़ सकता है, समय से पहले प्रसव की समस्या हो सकती है, डिलीवरी के दौरान परेशानी का अनुभव करना पड़ सकता है, आदि। यदि आप चाहती हैं की प्रेगनेंसी के दौरान आपको ऐसी कोई भी परेशानी न हो तो आपको अपने खान पान का अच्छे से ध्यान रखना चाहिए। तो आइये अब जानते हैं की गर्भधारण के बाद सम्पूर्ण आहार कौन कौन से होते हैं।

हरी पत्तेदार सब्जियां

विटामिन ए, फोलिक एसिड, आयरन से भरपूर हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन प्रेगनेंसी के दौरान महिला को भरपूर करना चाहिए। क्योंकि यह महिला में खून की कमी को दूर करने के साथ शिशु के मस्तिष्क विकास, रीढ़ की हड्डी को मजबूत बनाने में मदद करता है। इसके लिए आप पालक, चने का साग, सरसों, गोभी के पत्ते, चौलाई, बथुआ आदि का भरपूर सेवन कर सकते हैं। आप इन्हे सब्जी, रायता, पराठे, सैंडविच आदि बनाकर खा सकते हैं। इनके सेवन से पहले एक बात का ध्यान रखे की यह ताजा होने के साथ अच्छे से धोने के बाद प्रयोग करें।

दूध व् दूध से बनी चीजें

कैल्शियम, प्रोटीन व् अन्य पोषक तत्वों से भरपूर दूध व् दूध से बनी चीजों का सेवन भी प्रेगनेंसी के दौरान महिला को स्वस्थ रखने के साथ, शिशु की शारीरिक विकास खासकर हड्डियों की मजबूती में बहुत मदद करता है। और यदि महिला के शरीर में कैल्शियम की कमी आती है तो प्रेगनेंसी के दौरान महिला को कमजोरी जैसी समस्या होने के साथ शिशु के विकास में भी कमी आती है।

फल

फलों का सेवन भी प्रेगनेंसी के दौरान भरपूर मात्रा में करना चाहिए क्योंकि यह भी पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। साथ ही संतरा, तरबूज, जैसे फलों का सेवन करने से पोषक तत्व भी मिलते हैं और शरीर में पानी की कमी को भी पूरा करने में मदद मिलती है।

अंडा

गर्भावस्था के दौरान महिला को अंडे का सेवन भी जरूर करना चाहिए, खासकर सुबह नाश्ते के समय यदि महिला दो उबले अण्डों का सेवन कर लेती है। तो ऐसा करने से महिला को पूरा दिन एनर्जी से भरपूर रहने में मदद मिलती है। क्योंकि इसमें मौजूद कोलिन नामक तत्व महिला के शरीर में कैलोरी को पर्याप्त बनाएं रखने में मदद करता है, साथ ही इसमें मौजूद प्रोटीन भी शिशु और गर्भवती महिला दोनों के लिए ही बहुत फायदेमंद होता है। अंडे का सेवन करते समय एक बात का ध्यान रखें की अंडा अधपका न हो।

दालें

दाल भी प्रोटीन, विटामिन, व् अन्य मिनरल्स से भरपूर होती है, और प्रेगनेंसी के दौरान महिला के शरीर में पोषक तत्वों की मात्रा को भरपूर बनाये रखने में मदद करती है। इसीलिए महिला को दिन में एक समय के आहार में किसी भी दाल, चने, राजमा, आदि को जरूर शामिल करना चाहिए।

सूखे मेवे

सूखे मेवे भी पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं, और प्रेगनेंसी के दौरान इनका सेवन भी महिला के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद होता है। महिला को भीगे हुए बादाम, पिस्ता व् अन्य ड्राई फ्रूट्स को दूध में मिक्स करके उनका सेवन करना चाहिए, यह महिला को एनर्जी से भरपूर रखने व् शिशु को भी पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व देने में मदद करते हैं।

नॉन वेज

यदि आप नॉन वेज का सेवन करते हैं तो हफ्ते में एक बार आप नॉन वेज का सेवन भी कर सकते है, क्योंकि आयरन व् प्रोटीन के लिए यह सबसे बेहतरीन स्त्रोत होता है। इसके सेवन से शिशु के मानसिक और शारीरिक विकास को और ज्यादा बेहतर तरीके से होने में मदद मिलती है, लेकिन कुछ किस्म की मछलियां जिनमे मर्करी की मात्रा अधिक होती है, बासी, ठंडा व् अधपके मास के सेवन से बचना चाहिए क्योंकि यह आपके लिए और शिशु के लिए नुकसानदायक भी हो सकता है।

अंकुरित चना और मूंग

विटामिन बी, आयरन, जिंक, फाइबर, व् अन्य पोषक तत्वों से भरपूर अंकुरित चने व् मूंग का सेवन करने से प्रेगनेंसी के दौरान महिला और गर्भ में पल रहे शिशु के विकास के लिए भरपूर मात्रा में पोषक तत्व मिलते हैं। इन्हे आप सुबह के नाश्ते में, सलाद आदि में शामिल कर सकते हैं।

भरपूर आयोडीन

प्रेगनेंसी के दौरान बॉडी में आयोडीन की मात्रा का भी पर्याप्त होना जरुरी होता है, क्योंकि आयोडीन की कमी होने के कारण शिशु के शारीरिक और मानसिक विकास में कमी आ सकती है। ऐसे में खाने में पर्याप्त मात्रा में आयोडीन लेना चाहिए, और जरुरत से अधिक भी इसका सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि इसके अधिक सेवन के कारण रक्तचाप से जुडी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

पेय पदार्थ

खाने के साथ प्रेगनेंसी के दौरान बॉडी में पानी की मात्रा का भी पर्याप्त होना बहुत जरुरी होता है। क्योंकि पानी की कमी के कारण गर्भ में शिशु को भी परेशानी हो सकती है, इसके लिए महिला को दिन में आठ से दस गिलास पानी पीने के साथ, ताजे फलों का रस घर में निकाला हुआ, नारियल पानी, निम्बू पानी आदि का सेवन करते रहना चाहिए।

तो यह हैं वो सम्पूर्ण आहार जो महिला को प्रेगनेंसी के दौरान लेने चाहिए क्योंकि इनका सेवन करने से महिला को प्रेगनेंसी के दौरान आने वाली परेशानी से बचाव करने के साथ शिशु के भरपूर विकास में भी मदद मिलती है। और यह भी सच है की एक स्वस्थ महिला के गर्भ में स्वस्थ शिशु निवास करता है।

[Total: 0    Average: 0/5]