Ultimate magazine theme for WordPress.

जब कुछ खाने का मन न करे प्रेगनेंसी में

0

जब कुछ खाने का मन न करे प्रेगनेंसी में, प्रेगनेंसी में भूख की कमी के कारण, प्रेगनेंसी के दौरान जब कुछ खाने का मन न करे तो क्या करे, गर्भवती महिला के लिए टिप्स, प्रेगनेंसी में भूख बढ़ाने के तरीके

खान पान का बेहतर होना प्रेगनेंसी के दौरान बहुत जरुरी होता है, क्योंकि बेहतर खान पान गर्भवती महिला को प्रेगनेंसी के दौरान बहुत सी परेशानियों से बचाव करने के साथ गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर विकास में भी मदद करता है। लेकिन कई बार ऐसा हो सकता है की गर्भवती महिला को कुछ भी खाने का मन न करे। और इसका कोई एक नहीं बल्कि बहुत से कारण हो सकते हैं, जैसे की शरीर में होने वाले बदलाव के कारण महिला का तनाव में आना, उल्टी आने के डर से खाने का मन नहीं करना, जीभ का स्वाद अलग होने के कारण, कब्ज़ या पेट से जुडी समस्या होने के कारण, आदि। लेकिन यदि आप प्रेगनेंसी में बेहतर खान पान नहीं रखती है, समय से आहार नहीं लेती है, लापरवाही करती हैं, तो ऐसा करने के कारण गर्भवती महिला को परेशानी होने के साथ शिशु के विकास में भी कमी आ सकती है। तो लीजिये आज हम प्रेगनेंसी के दौरान कुछ खाने का मन न करें तो आपको किस तरह अपनी भूख को बढ़ाना चाहिए इससे जुड़े कुछ खास टिप्स बताने जा रहे हैं।

तरल पदार्थ लें

यदि आपका कुछ खाने का मन नहीं कर रहा है तो आपको पानी, जूस, नारियल पानी, आदि पेय पदार्थ भरपूर मात्रा में लेने चाहिए। ऐसा करने से शरीर से विषैले पदार्थ बाहर निकलते हैं, आपके पेट से सम्बंधित समस्या का समाधान होता है। जिससे आपकी भूख धीरे धीरे बढ़ने लगती है, और आपका खाने का मन करता है।

पेट भरकर न खाएं

प्रेगनेंसी में यदि आपका कुछ खाने का मन न करें, तो आपको धीरे धीरे खाने की शुरुआत करनी चाहिए। और बड़े मील लेने की बजाय जितना आपसे खाया जाए, उतना मील दो से तीन घंटे के अंतराल पर लें। ऐसा करके आप इसे धीरे धीरे अपनी दिनचर्या में शामिल कर सकते हैं, और आपको कोई परेशानी भी नहीं होती है, साथ ही एक ही तरह का खाना न खाएं बदल बदल कर अपने आहार को खाएं।

मुँह की साफ़ सफाई

मुँह का स्वाद अजीब होने के कारण, उल्टी आने जैसा मन होने के कारण, भी महिला का खाने का मन नहीं करता है। ऐसे में महिला को इस बात का ध्यान रखना चाहिए की वो अपने मुँह की साफ़ सफाई का खास ध्यान रखे जिससे मुँह फ्रैश फील करे, और आपका खाने का मन करे।

हल्का खाएं

शुरुआत में आपको हल्के मील के साथ पोषक तत्वों से भरपूर आहार का सेवन करना चाहिए, ज्यादा तेज गंध और ज्यादा मसालों वाले खाने से परहेज करना चाहिए। क्योंकि इससे पेट सम्बन्धी समस्या हो सकती है, इसके लिए आप फलों को अच्छे से धोकर उनका सेवन करें, अधिक मसालों का प्रयोग किये बिना अपनी पसंदीदा सब्जियों आदि का सेवन करें।

व्यायाम करें

यदि आपको भूख नहीं लगती है, या खाने का मन नहीं करता है, तो आप हल्का व्यायाम या योगासन करें। इससे न केवल आपकी बॉडी फिट रहेगी, बल्कि आपको तनाव आदि समस्या से भी निजात पाने में मदद मिलेगी। जिससे आपको धीरे धीरे भूख लगने लगेगी।

डॉक्टर से राय लें

कई बार शारीरिक परेशानियों के अधिक होने के कारण भी खाने का मन नहीं करता है, ऐसे में अधिक परेशानी होने पर इससे बचाव के लिए एक बार डॉक्टर से राय लेनी चाहिए। ताकि आपकी परेशानी का समाधान हो सके और आपको खाने का मन करने लगे।

प्रेगनेंसी में खाना खाने से कभी भी परहेज नहीं करना चाहिए, क्योंकि इससे गर्भवती महिला और शिशु दोनों को दिक्कत हो सकती है। ऐसे में समय से और थोड़ा थोड़ा करके खाने की शुरुआत करे, और ज्यादा दिक्कत होने पर डॉक्टर से राय लें, लेकिन खाने के प्रति लापरवाही न करे।