Lifestyle Blog India
प्रेगनेंसी

अपनी प्रेगनेंसी कब तक दूसरों को नहीं बतानी चाहिए?

आपने यह तो सुना होगा की ख़ुशी बाटने से बढ़ जाती है, लेकिन कुछ खुशियां ऐसी भी जिन्हे बताने में ज्यादा जल्दी नहीं करनी चाहिए। और वो ख़ुशी है प्रेगनेंसी की, हाँ यदि आप प्रेगनेंसी कन्फर्म कर चुकी है तो आप अपने पार्टनर से यह बात शेयर कर सकती है। अपने घर में रहने वाले सदस्यों को बता सकती है, लेकिन अपने रिश्तेदारों, पड़ोसियों को प्रेगनेंसी कन्फर्म होते ही नहीं बताना चाहिए। अब आप यह सोच रहे होंगे की प्रेगनेंसी की खबर को सुनकर सभी खुश होते हैं तो आप क्यों किसी को न बताएं। इसके पीछे कुछ कारण है आइये पहले उन कारणों को जानते हैं की क्यों प्रेगनेंसी की खुशखबरी बताने में ज्यादा जल्दी नहीं करनी चाहिए।

पूरी तरह कन्फर्म

घर में टेस्ट करने के बाद डॉक्टर से मिलें, यदि डॉक्टर भी कन्फर्म कर देती है की आप प्रेग्नेंट हैं तो इसका मतलब यह नहीं है की आप सबको बता दें। क्योंकि प्रेगनेंसी के पहले तीन महीने बहुत ही खास होते हैं इस दौरान गर्भपात होने के सबसे ज्यादा चांस होते हैं। ऐसे में कुछ गड़बड़ हो जाये तो जितने ज्यादा लोग इस बारे में जानते हैं उतना ही इस परेशानी को कम करना मुश्किल हो जाता है।इसीलिए जब तक तीन महीने अच्छे से निकल नहीं जाते तब तक आपको यह बात किसी से शेयर नहीं करनी चाहिए।

नज़र

बड़े बुर्जुग इस बात को बहुत मानते थे की ऐसी बातें किसी को बताने में ज्यादा जल्दी नहीं करनी चाहिए क्योंकि इससे किसी की नज़र लगने का डर रहता है। और वह नज़र गर्भवती महिला और शिशु को नुकसान पहुंचा सकती है।

READ  जब गर्भ में शिशु मूवमेंट न करें तो क्या करें

अनचाहा गर्भ

यदि आप शिशु नहीं चाहते हैं और आपका गर्भ ठहर गया है तो आपको अपने पार्टनर के साथ इसे सबसे पहले शेयर करना चाहिए और किसी को भी नहीं बताना चाहिए। ताकि आप दोनों इसका हल निकाल सकें और ऐसी बातें किसी और से शेयर करना ठीक भी नहीं होता है।

कब बताएं अपनी प्रेगनेंसी?

वैसे तो प्रेगनेंसी के दौरान तीसरे महीने के बाद महिला का हल्का फुल्का पेट बाहर आ सकता है तब लोग अपने आप ही पूछने लग जाते हैं। ऐसे में आपको इसके बारे में बताने की जरुरत नहीं होती है फिर भी जो आपके बहुत नजदीकी है और आप उनसे अपनी ख़ुशी शेयर करना चाहते हैं तो कम से कम तीन महीने बाद ही उन्हें बताएं। क्योंकि प्रेगनेंसी की पहली तिमाही बहुत कठिन होती है यदि महिला को इस दौरान कोई परेशानी न हो तो उसके बाद महिला को थोड़ा आराम मिलता है और परेशानी कम हो जाती है। लेकिन ख़ुशी में आप अपना ख्याल रखना न भूलें, और अपनी अच्छे से केयर करें। ताकि प्रेगनेंसी के पूरे नौ महीने आपको हर परेशानी से बचे रहने में मदद मिल सके।

तो यह हैं आपको अपनी प्रेगनेंसी कब दूसरों के साथ शेयर करनी चाहिए उससे जुड़े कुछ टिप्स, ऐसे में यदि आप भी माँ बनने वाली है तो आपको भी इस बात का ध्यान जरूर रखना चाहिए ।

Related posts

प्रेगनेंसी जांच कब करना सही होता है?

Indian

गर्भावस्था में रोजाना एक कटोरी दाल खाने के फायदे

Indian

बच्चे क्यों मारते हैं किक जानिये

Indian

Leave a Comment