क्या खाने से नोर्मल डिलीवरी होती है

क्या खाने से नोर्मल डिलीवरी होती है
0

क्या खाने से नोर्मल डिलीवरी होती है, नोर्मल डिलीवरी के लिए अपनाएँ यह टिप्स, सामान्य प्रसव के लिए खाएं यह आहार, अगर आप भी चाहती हैं नोर्मल डिलीवरी तो यह खाएं, Food for Normal Delivery

गर्भावस्था महिला के लिए बहुत ही सुखद अहसास होता है और इस दौरान महिला का मन बहुत ही परेशान भी होता है। क्योंकि उसके मन में तरह तरह के सवाल उथल पुथल मचा रहे होते हैं। जैसे की प्रेगनेंसी के दौरान महिला के लिए क्या सही है क्या गलत, क्या खान पान होना चाहिए और किन चीजों से परहेज करना चाहिए, शिशु का गर्भ में विकास कैसे हो रहा है, शिशु स्वस्थ है या नहीं, शिशु गर्भ में कब हलचल करेगा, प्रेगनेंसी के समय हो रहे रहे बॉडी में बदलाव के बारे में, साथ ही महिला की डिलीवरी कैसे होगी क्या नोर्मल होगी या सिजेरियन, आदि। और ऐसा भी हो सकता है की प्रेगनेंसी का पूरा समय महिला स्वस्थ रहे और डिलीवरी के दौरान किसी परेशानी के आने के कारण महिला को सिजेरियन डिलीवरी करवानी पड़े।

ऐसे सवालों का उठना सही है लेकिन इनके कारण महिला को तनाव नहीं लेना चाहिए। बल्कि प्रेगनेंसी के अनुभव को एन्जॉय करना चाहिए। साथ ही जो महिलाएं डिलीवरी को लेकर परेशान होती है उन्हें भी परेशान नहीं होना चाहिए, क्योंकि जब गर्भ से शिशु के गर्भ से बाहर आने का समय होता है तो अपने आप ही पता चल जाता है की शिशु का जन्म किस प्रक्रिया से होगा। लेकिन फिर भी ज्यादातर महिलाएं चाहती है की उनकी डिलीवरी नोर्मल हो, क्योंकि सिजेरियन की बजाय नोर्मल डिलीवरी के बाद माँ और शिशु दोनों ही फायदा मिलता है। तो लीजिये आज हम आपको कुछ ऐसे आहार बताने जा रहे हैं जिनके सेवन से आपको नोर्मल डिलीवरी होने के चांस को बढ़ाने में मदद मिलती है।

आयरन युक्त आहार

नोर्मल डिलीवरी के लिए महिला के स्वस्थ रहने के साथ बॉडी में ब्लड की मात्रा का भरपूर होना भी बहुत जरुरी होता है। और यदि महिला में खून की कमी होती है तो इसके कारण डिलीवरी के दौरान महिला को परेशानी भी हो सकती है। इसीलिए महिला को प्रेगनेंसी के दौरान आयरन युक्त आहार जैसे की हरी सब्जियों, अनार, आदि का भरपूर सेवन करना चाहिए। इसमें आयरन के साथ, फोलिक एसिड, फोलेट, आदि भी भरपूर मात्रा में होते हैं जो महिला के नोर्मल डिलीवरी के चांस को बढ़ाने में मदद करते है।

डेरी प्रोडक्ट्स

प्रोटीन, कैल्शियम, फॉस्फोरस, मैग्नेशियम, जिनक आदि से भरपूर डेरी प्रोडक्ट्स का सेवन भी गर्भवती महिला को जरूर करना चाहिए। इससे न केवल महिला को स्वस्थ रहने में बल्कि शिशु का विकास भी बेहतर तरीके से होने में मदद मिलती है। और गर्भ शिशु और गर्भवती महिला का स्वस्थ रहना नोर्मल डिलीवरी के लिए बहुत जरुरी होता है।

अंडे

अंडे में प्रोटीन, फैट के साथ कोलिन नामक तत्व मौजूद होता है, जो ने केवल शिशु के मानसिक विकास को बेहतर तरीके से होने में मदद करता है। बल्कि प्रेगनेंसी के दौरान महिला को जितनी ऊर्जा की जरुरत होती है उसका 25% भी देता है, जो को महिला और शिशु दोनों को फिट रखने में मदद करता है। इसीलिए अंडे को नोर्मल डिलीवरी के लिए एक बेहतरीन स्त्रोत माना जाता है।

कम वसा वाला मीट

आयरन की मात्रा से भरपूर कम वसा वाला मीट भी नोर्मल डिलीवरी में मदद करता है। क्योंकि प्रेगनेंसी के दौरान महिला को आयरन की मात्रा भरपूर चाहिए होती है जो की कम वसा वाले मीट में भरपूर होती है।

ब्रोकली

विटामिन बी 9, विटामिन सी, कैल्शियम, फाइबर, व् अन्य एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर ब्रोकली का सेवन करने से भी नोर्मल डिलीवरी के चांस बढ़ जाते हैं। क्योंकि इसके सेवन से महिला को डिलीवरी से पहले होने वाले सभी संक्रमण से बचाव करने में मदद मिलती है।

दालें और फलियां

प्रोटीन, आयरन, कैल्शियम, फोलेट, फाइबर आदि से भरपूर दालें और फलियों का सेवन भी प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला और गर्भ में पल रहे शिशु को स्वस्थ रखने में मदद करता है। और महिला प्रेगनेंसी के दौरान जितना स्वस्थ रहती है उतना ही महिला के नोर्मल डिलीवरी के चांस बढ़ जाते है।

संतरा

प्रेगनेंसी के दौरान महिला के शरीर में पानी की कमी को पूरा करने के साथ संतरे का सेवन करने से महिला और शिशु दोनों को ही संक्रमण से सुरक्षित रहने में भी मदद मिलती है। जिससे की महिला स्वस्थ रहती है और डिलीवरी के दौरान महिला को किसी भी तरह की परेशानी नहीं आती है।

केला

कमजोरी, थकान, महसूस होना प्रेगनेंसी के दौरान आम बात होती है। ऐसे में केला गर्भवती महिला के लिए ऊर्जा के स्त्रोत का काम करता है, जिससे महिला को प्रेगनेंसी के दौरान ऊर्जा से भरपूर रहने में मदद मिलती है। और महिला को केले का सेवन नियमित नाश्ते में करना चाहिए ताकि महिला सारा दिन ऊर्जा से भरपूर रहे और प्रेगनेंसी के दौरान स्वस्थ रहे, और प्रसव के दौरान भी किसी तरह की परेशानी न हो।

नोर्मल डिलीवरी के लिए अन्य टिप्स

  • नोर्मल डिलीवरी के लिए महिला का स्वस्थ होना सबसे ज्यादा जरुरी होता है, इसीलिए महिला को प्रेगनेंसी के दौरान शारीरिक व् मानसिक रूप से अपने आप को स्वस्थ रखना चाहिए।
  • प्रेगनेंसी के दौरान महिला को अपने खान पान का अच्छे से ध्यान रखना चाहिए ताकि महिला और शिशु दोनों स्वस्थ रह सकें, और दोनों को भरपूर पोषण मिले।
  • गर्भ में शिशु एमनियोटिक फ्लूड में रहता है, जिससे शिशु को ऊर्जा मिलती है, और बच्चा जितनी अधिक मूवमेंट करता है उतना ज्यादा महिला के नोर्मल डिलीवरी के चांस होते हैं, और इसके लिए महिला को चाहिए की उसके शरीर में पानी की कमी न हो इसीलिए महिला को पानी का भरपूर सेवन करना चाहिए।
  • तनाव मुक्त रहना भी आपके नोर्मल डिलीवरी के चांस को बढ़ाता है।
  • सारा दिन आराम करना ही प्रेगनेंसी का मतलब नहीं होता है, बल्कि नोर्मल डिलीवरी के लिए महिला को हल्का व्यायाम, वॉक आदि करते रहना चाहिए।

तो यह हैं कुछ आहार और कुछ टिप्स जिनकी मदद से आपके नोर्मल डिलीवरी के चांस को बढ़ाने में मदद मिलती है। इसके अलावा आपको एक बात का और ध्यान रखना चाहिए की नोर्मल डिलीवरी के चक्कर में आपको अपने शरीर पर ज्यादा दबाव नहीं डालना चाहिए, क्योंकि इससे गर्भ में शिशु और गर्भवती महिला दोनों को परेशानी हो सकती है। और समय पर अपनी जांच भी जरूर करवानी चाहिए ताकि प्रेगनेंसी के दौरान होने वाली किसी भी तरह की परेशानी से आपको बचाव करने में मदद मिल सके।