What In India

लड़कियों को हॉस्टल भेजने से पहले माता पिता को इन बातों का जरूर पता करना चाहिए?

0

आज के इस प्रतियोगिता के युग में लड़के और लड़कियों में कोई फर्क नही है, इसीलिए हर माँ बाप चाहते है, की उनकी बेटी भी लड़को की तरह ही कामयाब हो और जीवन में अपना नाम कमाएं, परंतु कई बार ऐसा हो जाता है की लड़की को अवसर तो मिलता है, परंतु उसे हॉस्टल में जाना पड़ता है, और इसमें कोई बड़ी बात भी नहीं है, परंतु माता पिता को लड़की के हॉस्टल में जाने से पहले किन किन बातों का ध्यान रखने चाहिए, क्या आप जानते है?

आज के समय में यदि कुछ करना चाहते है तो ऐसा बिलकुल भी नहीं है की वो आपको बैठे बैठे मिल जाता है, बल्कि उसके लिए आपको संघर्ष करना पड़ता है, फिर चाहे आप अच्छी एजुकेशन की बात करें, या फिर लड़कियों के बाहर काम करने की, परंतु आज की दिल देहले देने वाली घटनाओ को सुन कर माँ बाप कभी कभी घबरा जाते है, और उन्हें डर लगता है की वो अपनी बेटी को बाहर भेजे न भेजे, आपको उन्हें बिलकुल भेजना चाहिए, और उन्हें बाहर भेजते समय कुछ बातों का ध्यान भी रखना चाहिए, जिसके कारण उन्हें किसी परेशानी का सामना न करना पड़ें।

कई बार ऐसा हो जाता है की आपको अपनी बेटी को घर से दूर हॉस्टल में रहने के लिए भेजना पड़ता है, ये बिलकुल सच होता है की घर का अहसास हॉस्टल में नहीं मिल सकता है, परंतु यदि आप जिंदगी में आगे बढ़ना चाहते है, कुछ करना चाहते है, तो इसके लिए आपको अपनी बेटी को हॉस्टल में भेजने से पहले बहुत सी बातों का ध्यान रखना चाहिए, जैसे की हॉस्टल का माहौल कैसा है, वहाँ का स्टाफ कैसा है, कमरे कैसे है, आस पास का माहौल कैसा है, क्या उस होटल में बीते दिनों में गलत बातें तो नहीं हुई है, वहाँ का खान पान कैसा है, ऐसी ही कुछ छोटी छोटी बातों का ध्यान माँ बाप को खास कर बेटियो के हॉस्टल का चुनाव करते समय करना चाहिए।

हॉस्टल का वातावरण कैसा है:-

माँ बाप को अपनी बेटी के लिए हॉस्टल का चुनाव करते समय सबसे पहली बात जिसका ध्यान देना चाहिए, वो ये की हॉस्टल का वातावरण कैसा है इसकी अच्छे से जांच परख कर लें, हॉस्टल में कहा कहा की लडकिया रहती है, कही कुछ लडकिया ऐसी तो नहीं है जो गलत संगत का शिकार है, खास कर तब जब आपकी बेटी के साथ कोई लड़की रूम शेयर करने वाली हो, क्योंकि संगती का बहुत जल्दी असर पड़ता है, इसीलिए माँ बाप को वहाँ की लड़कियों के बारे में अच्छे से पूछ ताछ करनी चाहिए।

सुरक्षा का क्या प्रबंध है:-

हॉस्टल की सुरक्षा प्रबंध के बारे में भी पूरी तरह से जान कारी लेनी चाहिए, वहाँ के गार्ड्स कैसे है, वार्डन कैसी है, क्योंकि आज के समय में हॉस्टल की जो वारदात आती है, उसमे गार्ड्स और वार्डन भी शामिल हुए दिखाएं जाते है, इसीलिए हॉस्टल वालो से गार्ड्स और उनके सुरक्षा के तरीको के बारे में अच्छे से जानकारी लेनी चाहिए, ताकि कभी गार्ड्स और वार्डन की और से कभी शिकायत का मौका न आएं, इसके साथ हॉस्टल में काम करने वाले अन्य लोगो के बारे में और हॉस्टल में कौन कौन से सुरक्षा प्रबंध है इस बारे में भी अच्छे से जानकारी लेनी चाहिए।

वहाँ की सुविधाएं कैसी है:-

हॉस्टल की सुविधाओं के बारे में भी अच्छे से पता करना चाहिए,जैसे की खान पान का क्या सिस्टम है, बाथरूम कैसा है, कमरे कैसे है, लाइट का क्या प्रबंध है, लड़कियों के लिए कौन कौन सी सुविधाएँ है, कैमरा है, क्या वहाँ मेडिकल सुविधाएं उपलब्ध है, कमरे में रहने के लिए क्या प्रबंध है, पानी के लिये क्या सुविधा है, ऐसी ही कुछ बातों का ध्यान आपको रखना चाहिए, क्योंकि आपकी बेटी वहाँ किस प्रकार रहेगी, क्या उसकी जरूरते वहाँ पूरी हो सकती है, ऐसी ही कुछ बातों का ध्यान रखने के बाद आपको अपनी बेटी को हॉस्टल में भेजना चाहिए।

आस पास का माहौल कैसा है:-

हॉस्टल के आस पास के माहौल पर भी ध्यान देना चाहिए, क्योंकि आस पास का वातावरण भी लड़कियों को खराब कर सकता है, या मुसीबत में दाल सकता है, क्योंकि यदि आपकी बेटी काम करती है, तो वो कभी रात को लेट भी हो सकती है, ऐसे में आस पास का माहौल ऐसा तो नहीं है, जिसके कारण उसे परेशानी का सामना करना पड़ें, और साथ ही क्या दिन के समय भी वहाँ पर से आना जाना सेफ है या नहीं इस बात का भी माँ बाप को हॉस्टल का चुनाव करते समय ध्यान रखना चाहिए।

हॉस्टल का स्टाफ कैसा है:-

हॉस्टल के स्टाफ के बारे में भी अच्छे से जानकारी लेनी चाहिए की वहाँ पर जो स्टाफ काम करता है, वो ठीक है या नहीं क्योंकि टीवी में हर दूसरे दिन ऐसी खबरे आती रहती है, जिसके कारण माँ बाप लड़कियों को हॉस्टल में भेजने से पहले डरते है,होटल के स्टाफ को वहाँ काम करते हुए कितना समय हो गया है, महिला हेल्पर्स लड़कियों के लिए है या नहीं, किसी जरुरत के समय में लड़कियों के लिए स्टाफ किस प्रकार मदद करता है, इस बारे में अच्छे से जानकारी लेनी चाहिए।

हॉस्टल का बैकग्राउंड कैसा है:-

अपनीबेटी को हॉस्टल भेजने से पहले हॉस्टल के बैकग्राउंड के बारे में भी अच्छे से जान कारी लेनी चाहिए, जैसे की उसे खुले कितने साल हो गए है, कही पुराने समय में या आस पास कोई ऐसी दुर्घटना तो नहीं हुई है, जो की नहीं होनी चाहिए, हॉस्टल किस ट्रस्ट का है या प्राइवेट है, ऐसी कुछ बातों से आप हॉस्टल के बेकग्रॉउंड के बारे में अच्छे से जानकारी ले सकते है, और अपनी बेटी के लिए एक अच्छे और सेफ हॉस्टल का चुनाव भी कर सकते है।

वहाँ के नियम और कानूनों के बारे में भी जानकारी लें:-

अपनी बेटी को हॉस्टल भेजने से पहले जहाँ आप अपनी बेटी को भेज रहे है वहाँ के क़ानून के बारे में अच्छे से जान कारी लेनी चाहिए, वहाँ के नियमो के बारे में अच्छे से पता करना चाहिए, क्योंकि यदि वहाँ के कानून और नियम ही सही नहीं होंगे तो इसके कारण आपको परेशानी का सामना करना पढ़ सकता है, और यदि वहाँ के क़ानून और नियम सहीहोंगे तोये आपकी बेटी की सुरक्षा के काम ही आएंगे, और यदि आपको कुछ समझ नहीं आता है, तो इस बारे में आपको वहाँ के स्टाफ से पता करना चाहिए, ऐसे ही आप अपनी बेटी के लिए एक सही हॉस्टल का चुनाव कर सकते है।

तो ये कुछ बातें है जिनका ध्यान आपको लड़कियों के हॉस्टल के चुनाव करते समय करना चाहिए, क्योंकि सुरक्षा करना आपके हाथ में ही होता है, क्योंकि जितना आप सतर्क रहेंगे, उतना ही गलत होने से बचें रहेंगे, अपनी बेटी को भी कैसे रहना चाहिए, किन किन सुरक्षा के तरीको का इस्तेमाल करना चाहिए, किसी भी खतरे का अंदेशा या कुछ अच्छा या बुरा होने पर आपसे जरूर कहे, ऐसी ही कुछ बातों को समझाना चाहिए, एक माँ बाप से अच्छा एक दोस्त की तरह उन्हें समझाएं, ऐसा करने से माँ बाप एक अच्छे हॉस्टल का चुनाव अपनी बेटी के लिए कर सकते है।

Leave a comment