Take a fresh look at your lifestyle.

सूनी गोद में गूंजेगी किलकारियां! ये है तरीके

0

माँ बनना हर महिला के लिए बड़े ही सौभाग्य की बात होती है, परन्तु कई बार महिला को किसी शारीरिक समस्या के होने के कारण, मासिक धर्म में होने वाली अनियमितता के कारण, या पति पत्नी के करीबी सम्बन्ध सही न होने का असर भी महिला के गर्भधारण पर पड़ता है, इसके अलावा यदि महिला को मासिक तनाव होता है तो इसके कारण भी गर्भाधारण में समस्या आती है, और इसके कारण महिला के अंदर और भी निराशाजनक भावना पैदा हो जाती है।

इन्हें भी पढ़ें:- एबॉर्शन के बाद होने वाली परेशानियां!

किसी भी महिला को अच्छा नहीं लगता है की बहुत सी कोशिश करने पर भी उसका गर्भधारण नहीं हो रहा है, ऐसे में महिलाओ को निराशा को छोड़ कर इस बात का पता करना चाहिए, की उन्हें ऐसी परेशानी क्यों हो रही है, जैसे की उन्हें अपनी अच्छे से जांच करवानी चाहिए, अपने पति का भी चेक अप करवाना चाहिए, यदि महिला को प्रेगनेंसी नहीं हो रही है तो उसे अपने ओवुलेशन पीरियड का भी ध्यान रखना चाहिए, इसके अलावा और भी कई तरीके है जिनसे आप माँ बनने का सुःख पा सकती है, और आपकी भी सूनी गोद में किलकारियां गूंज सकती है, तो आइये जानते है की वो तरीके कौन कौन से है।

शारीरिक परेशानी होने पर उसका इलाज करवाएं:-

कई बार महिलाओ को गर्भाशय से सम्बंधित समस्या होने पर या किसी बिमारी आदि के कारण भी प्रेग्नेंट होने में समस्या का सामना करना पड़ सकता है, इसके लिए जरुरी है यदि आपको लम्बे समय से प्रेगनेंसी न होने के कारण हताश होना पड़ रहा है, तो इसके इलाज के लिए आपको एक बार अपनी शारीरिक जांच करवानी चाहिए यदि इसके कारण आपकी गोद सूनी है, तो इस समस्या का समाधान करके आपको भी ये ख़ुशी मिल सकती है।

मासिक धर्म में परेशानी होने पर:-

कई महिलाओ को मासिक धर्म से जुडी परेशानी होती है,जैसे की इसका अनियमित होना, माहवारी कम या ज्यादा होना, इसके कारण भी महिला के गर्भ को ठहरने में परेशानी होती है, इसके अलावा कई महिलाओ को ओवुलेशन पीरियड के बारे में भी पता नहीं होता है, इस समय सम्बन्ध बनाने से भी महिलाओ के गर्भवती होने के चांस सबसे ज्यादा होता है, इसीलिए यदि आपको गर्भधारण नहीं हो रहा है, तो इस पीरियड का ध्यान रखना चाहिए।

इन विट्रो फर्टिलाइजेशन:-

जो महिलाएं प्रेग्नेंट नहीं हो सकती है, आज कल उनकी इस समस्या का मेडिकल में आसान सा इलाज उपलब्ध है, जिसे करने से आपके घर में भी बच्चे की किलकारियां गूंज सकती है, इस प्रक्रिया में महिला के गर्भाशय के बाहर शुक्रा* णुओं द्वारा अंडे का निषेचन किया जाता है, और उसके बाद उसे फिर से महिला के गर्भाशय में रखा जाता है, जिसके कारण महिला को माँ बनने का अनुभव मिलता है, यदि आपको लगता है की आप माँ नहीं बन सकती है, तो इस बारे में आप एक बार अपने डॉक्टर से इसके बारे में राय ले सकते है।

इन्हें भी पढ़ें:- IVF क्या होता है? क्या ये माँ बनने का सही तरीक़ा है? 

सेरोगेसी से महिला बन सकती है माँ:-

सेरोगेसी भी आज कल एक माध्यम है जिसके कारण आपको अपने घर में बच्चे की किलकारियां सुनाई देती है, इसमें यदि महिला माँ नहीं बन सकती है, तो किसी और के गर्भ का सहारा लेकर वो अपने बच्चे को जन्म दे सकती है, इस बारे में भी आप चाहे तो अपने डॉक्टर से राय ले सकते है, और आप चाहे तो किसी अपनी या डॉक्टर द्वारा बताई गई महिला की मदद से अपन घर में एक नन्हे मेहमान को ला सकते है।

फैलोपियन टयुब से जुडी परेशानी का समाधान करके:-

महिला के अं *डाणु और पुरुष के शु* क्राणु के द्वारा होने वाली निषेचन की प्रक्रिया फैलोपियन टयुब में ही होती है,लेकिन यदि आपको इससे जुडी कोई समस्या है या आपकी फैलोपियन टयुब बंद है, तो इस समस्या का इलाज करवाने या इसका समाधान करवाने के लिए आपको एक बार डॉक्टर से अच्छे से अपनी जांच करवानी चाहिए।

पुरुष भी करवाएं अपना चेक अप:-

जरुअरी नहीं है की महिला यदि गर्भवती नहीं हो रही है तो इसका कारण हमेशा महिला में ही कोई कमी होती है ऐसा हो बल्कि कई बार पुरुषो में भी कमी होती है, इसीलिए यदि आपको भी ऐसी कोई समस्या है, तो इसके इलाज के लिए जरुरी है की महिला के सारः पुरुष भी अच्छे से अपने शरीर की जांच करवाएं और यदि उनके शरीर में कोई कमी है तो इस समस्या का समाधान करके अपने आप को इस ख़ुशी के लिए तैयार करें।

तो ये कुछ तरीके है जिनका इस्तेमाल करके आप भी अपने घर में अपने घर में नन्हे मेहमान को आमंत्रित कर सकते है, और यदि आपको ऐसी कोई परेशानी है तो जितना जल्दी हो सकें आपको इस समस्या के समाधान के लिए डॉक्टर से राय लेनी चाहिए ताकि आपको भी इस ख़ुशी का अनुभव हो सकें।

इन्हे भी पढ़ें:- महिलाओ में इनफर्टिलिटी ( बांझपन ) के मुख्य कारण

Leave A Reply

Your email address will not be published.