Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

नार्मल डिलीवरी होने के लिए टिप्स

0

माँ बनना हर औरत के लिए बड़े ही सौभाग्य की बात होती है, इसके साथ डिलीवरी का समय किसी भी महिला के लिए किसी चुनौती से कम नहीं होता है, चाहे नॉर्मल डिलीवरी हो या सिजेरियन दोनों में ही महिला को मुश्किल तो होती है, परंतु नॉर्मल डिलीवरी के समय जितनी परेशानी होती है, बाद में महिला को ठीक होने में उतना ही कम समय लगता है, इसके साथ महिला को सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिला को वापिस से अपने आप सँभालने में शारीरिक रूप से स्वस्थ होने में काफी समय लगता है, और साथ ही सिजेरियन डिलीवरी में महिला को ज्यादा केयर की भी जरुरत होती है।

आज के समय में महिलाएं दर्द होने के डर से सिजेरियन डिलीवरी करवा लेती है, परंतु फिर भी ज्यादातर महिलाएं आज भी नार्मल डिलीवरी को ही सही मानती है, और गर्भावस्था के समय महिलाएं यही सोचती है की वो की प्रकार अपनी केयर करें, की उनकी नार्मल डिलीवरी की सम्भावना बढ़ जाएँ, तो आइये आज हम आपको कुछ ऐसी ही बातें बताएंगे, जो आपकी नार्मल डिलीवरी होने की सम्भावना को बढ़ा सकती है, परंतु आपको इन टिप्स को अपनाना चाहिए, जिससे आपको नार्मल डिलीवरी करने में टिप्स मिल सकें, तो आइये विस्तार से जानते है नार्मल डिलीवरी के लिए कुछ टिप्स।

अपने शरीर में खून की कमी न होने दें:-

डिलीवरी के समय महिला के शरीर में खून की कमी होने के कारण बहुत सी परेशानियां आ सकती है, और यदि आप चाहते है की आपकी नार्मल डिलीवरी हो और वो भी किसी परेशानी के बिना, तो आपको चेक करवाना चाहिए की आपके शरीर में पर्याप्त मात्रा में खून हो, यदि आपके शरीर में खून की कमी होती है, तो डॉक्टर भी आपको इस बारे में सलाह देते है की किस प्रकार आप अपने शरीर में खून की मात्रा को पर्याप्त हो, इससे भी आपको शारीरिक रूप से स्वस्थ रहने के कारण नार्मल डिलीवरी में मदद मिलती है।

स्वस्थ व् पोष्टिक आहार लें:-

vegetables

स्वस्थ व् पोष्टिक आहार का सेवन करने से आपको स्वस्थ रहने में मदद मिलती है, इसके लिए आपको ताजे फल, आयरन, कैल्शियम, विटामिन सारे खनिज से युख तथा प्रोटीन युक्त भोजन करें, थोड़े थोड़े समय के बाद कुछ न कुछ कहते रहें जिससे आपके शरीर में ऊर्जा बनी रहे, और आप अपने आहार में कभी भी बासी भोजन को सम्मिलित न करें, बल्कि ताजे फल, सब्जियां, फ्रेश घर पर निकले हुए जूस आदि का सेवन करें, इसके कारण आपका स्वास्थ्य सही रहता है, और आपको नार्मल डिलीवरी होने में मदद मिलती है।

हल्का फुल्का व्यायाम करें:-

गर्भावस्था का ये मतलब बिलकुल नहीं होता है, की आप सिर्फ आराम करें, और किसी भी तरह का काम न करें, ऐसा करने से भी आप सिजेरियन डिलीवरी को बुलावा देती है, कुछ महिलाओ को कॉम्प्लीकेशन्स के कारण बेड रेस्ट बोला जाता है, परंतु दूसरी औरते जिन्हें कोई समय नहीं होती है, उन्हें हल्का फुल्का व्यायाम करते रहना चाहिए, क्योंकि इससे आपकी बॉडी फ्रेश महसूस करते है, और आपको कही आस पास भी जाना हो तो भी आप पैदल जाकर अच्छा महसूस कर सकते है, परंतु ज्यादा कठिन व्यायाम नहीं करना चाहिए, नियमित व्यायाम करने से आपकी मांसपेशियाँ मजबूत और लचीली हो जाती है, जिससे आपको नार्मल डिलीवरी में दर्द सहने की हिम्मत मिलती है, और साथ ही नॉर्मल डिलीवरी की सम्भावनाएँ बढ़ जाती है।

पर्याप्त मात्रा में पानी का सेवन करें:-

गर्भावस्था में महिला के शरीर में पानी की मात्रा का पूरा होना बहुत जरुरी होता है, इसके कारण शारीरिक रूप से आपको एक्टिव रहने में मदद मिलती है, इसीलिए गर्भावस्था के दौरान महिला को कम से कम दस से बारह ग्लास पानी का सेवन जरूर करना चाहिए।

छोटे छोटे मील में भोजन का सेवन करें:-

गर्भावस्था के समय में आपको बड़े बड़े आहार लेने की बजाय छोटे छोटे मील को थोड़े समय बाद लेते रहना चाहिए, और कभी भी फ्रिज़ से निकले ठन्डे भोजन का सेवन न करें, क्योंकि छोटे छोटे मील लेने से आपके शरीर में ऊर्जा बनी रहती है, जिसके कारण आपके अंदर ऊर्जा बनी रहती है, और आपको शारीरिक रूप से स्वस्थ रहने में मदद मिलती है, जिसके कारण आपको नार्मल डिलीवरी होने में मदद मिलती है।

भरपूर नींद लें:-

नींद को भरपूर मात्रा में लेने से आपके शरीर को आराम महसूस होता है, जिसके कारण आपको फ्रेश महसूस होता है, और आठ घंटे की भरपूर नींद के बाद आपको खुद ही महसूस होता है, की आप एक्टिव है, और गर्भावस्था में तो खास कर शरीर को आराम की जरुरत होती है, इसीलिए जितना हो सकें अपने शरीर को आराम देने के लिए और एक्टिव रहने के लिए भरपूर मात्रा में नींद आवश्य लें।

तनाव से दूर रहें:-

depression-1212

गर्भावस्था में महिलाओ को तनाव से जितना हो सकें दूरी बनाकर रखनी चाहिए, क्योंकि कई बार आपको तनाव के कारण भी गर्भावस्था के समय और डिलीवरी के समय परेशानी का अनुभव करना पड़ सकता है, और यदि आप गर्भावस्था के समय में स्वस्थ और नार्मल डिलीवरी करवाना चाहते है, जितना हो सकें इससे आपको दूरी बनाएं रखनी चाहिए। इसके साथ कभी भी अपने मन में गलत विचारो को पनपने नहीं देना चाहिए, और सकारात्मक सोच रखनी चाहिए।

स्वास्थ्य के साथ कोई भी समस्या होने पर डॉक्टर से संपर्क करें:-

गर्भावस्था का पूरा समय महिला के लिए बहुत ही सावधानी बरतने वाला होता है, इसीलिए यदि आप कभी भी ऐसा लगे की आपको अच्छा महसूस नहीं हो रहा है, उलटी ज्यादा आ रही है, पेट में दर्द होने लगता है, क्योंकि यदि ऐसी समस्या को नज़रअंदाज़ किया जाएँ तो बाद में आपको मुश्किल का सामना करना पड़ सकता है, इसीलिए जितना हो सकें अपने आप को स्वस्थ रखें की कोशिश करें, और साथ ही कोई भी परेशानी होने पर बिना लापरवाही के डॉक्टर के साथ संपर्क जरूर करें।

नार्मल डिलीवरी के लिए अन्य टिप्स:-

  • योग सिर्फ स्वस्थ शरीर के लिए जरूरी नहीं है, बल्कि ये आपकी नार्मल डिलीवरी में भी आपकी मदद करता है।
  • गर्भावस्था के दौरान लंबी अवधि के लिए एक जगह पर नहीं खड़े रहने चाहिए।
  • अपने वजन को सही रखें, इसे न तो अधिक मात्रा में बढ़ने दे, और न ही कम होने दें।
  • मानसिक रूप से हमेशा आराम महसूस करें, किसी भी प्रकार की नेगिटिविटी को अपने दिमाग में पनपने न दें।
  • डॉक्टर के कहे अनुसार हर एक बात का अनुसरण करें जिससे आपके स्वास्थ्य को बेहतर रहने में मदद मिल सकें।
  • पैदल चलना तथा टहलना एक गर्भवती महिला के लिए बहुत फायदेमंद होता है।
  • आपको रोजाना के काम करते रहना चाहिए, किसी भारी काम को न करें, बल्कि आपको हलके फुल्के काम को करते रहना चाहिए।
  • महिला को अपने स्वास्थ्य को लेकर बिलकुल भी लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए।
  • नशीले पदार्थो का सेवन नहीं करना चाहिए, इसका असर महिला के स्वास्थ्य के साथ बच्चे के विकास पर भी पड़ता है।
  • खुश रहने की कोशिश करें, हमेशा सकारात्मक सोच रखे, किसी भी गलत विचार को अपने मन में पनपने न दें। तो ये कुछ तरीके है जिनका इस्तेमाल करके आप नार्मल डिलीवरी हो इसमें मदद ले सकते है।
Leave a comment