What In India

Trending Now

प्रेगनेंसी में केयर कैसे करें?

0

गर्भावस्था महिला के लिए बहुत ही खास पल होने के साथ ही बहुत ही केयर करने वाला समय होता है। क्योंकि प्रेगनेंसी के पूरे नौ महीने महिला शरीर में होने वाले तरह तरह के बदलाव, हार्मोनल बदलाव, शारीरिक परेशानियों आदि का सामना करती है और बच्चे का विकास भी महिला पर ही निर्भर करता है। साथ ही इस दौरान महिला यदि अपनी केयर में थोड़ी भी लापरवाही करती है तो इसका बुरा असर महिला की सेहत पर पड़ने के साथ गर्भ में पल रहे शिशु के विकास पर भी पड़ता है।

ऐसे में महिला यदि चाहती है की प्रेगनेंसी के दौरान महिला को किसी तरह की दिक्कत नहीं हो साथ ही गर्भ में शिशु का विकास भी बेहतर तरीके से हो। तो इसके लिए महिला को अपनी अच्छे से केयर करनी चाहिए। आइये अब इस आर्टिकल में हम आपको कुछ प्रेगनेंसी के दौरान महिला को अपनी केयर किस तरीके से करनी चाहिए उसके बारे में बताने जा रहे हैं।

रूटीन बनाएं बेहतर

प्रेगनेंसी के दौरान जरुरी है की महिला अपना एक रूटीन बनाएं और अपनी जीवनशैली को सही रखें। क्योंकि जितना महिला का रूटीन बेहतर होता है और जीवनशैली सही होती है उतना ही गर्भवती महिला को स्वस्थ रहने में मदद मिलती है।

पोषक तत्वों से भरपूर ले आहार

प्रेग्नेंट महिला के फिट रहने के लिए और गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर विकास के लिए महिला के लिए जरुरी है की महिला पोषक तत्वों से भरपूर आहार लें। यदि महिला पोषक तत्वों से भरपूर आहार लेती है तो इससे महिला और बच्चे दोनों को स्वस्थ रहने में मदद मिलती है।

अपने खान पान में न करें लापरवाही

प्रेग्नेंट महिला को पोषक तत्वों से भरपूर डाइट लेने के साथ खाना खाते समय बहुत सी बातों का ध्यान रखना चाहिए। जैसे की भरपेट खाने की बजाय थोड़ा थोड़ा करके खाएं ताकि खाना अच्छे से हज़म हो सकें, डाइट नहीं करें, खाना खाते समय ध्यान रखें की उन चीजों का सेवन नहीं करें जिनसे आपको एसिडिटी की समस्या होती है, आदि। इन बातों का ध्यान रखने से महिला की पाचन क्रिया दुरुस्त रहती है जिससे महिला को प्रेगनेंसी के दौरान पेट सम्बन्धी परेशानियों से बचे रहने में मदद मिलती है।

दवाइयों का समय से करें सेवन

प्रेगनेंसी के दौरान डॉक्टर महिला को कुछ विटामिन्स लेने की सलाह देते हैं ऐसे में गर्भवती महिला को डॉक्टर द्वारा बताये गए विटामिन्स को समय से लेना चाहिए। ताकि शरीर में पोषक तत्वों की मात्रा को सही रहने में मदद मिल सके।

व्यायाम जरूर करें

प्रेग्नेंट महिला को स्वस्थ व् एक्टिव रहने के लिए दिन भर में थोड़ा व्यायाम भी जरूर करना चाहिए। ज्यादा व्यायाम प्रेगनेंसी के दौरान सेफ नहीं होता है ऐसे में आप चाहे तो योगा कर सकते हैं और यदि आप योगा भी नहीं कर रही है तो दिन में थोड़ी देर वॉक जरूर करें।

मैडिटेशन भी है जरुरी

गर्भावस्था के दौरान तनाव से बचे रहने और मानसिक रूप से रिलैक्स रहने के लिए महिला को थोड़ी देर मैडिटेशन जरूर करनी चाहिए। मैडिटेशन के लिए सुबह का समय सबसे बेहतरीन माना जाता है।

हाइड्रेट रहें

गर्भावस्था के दौरान महिला को शरीर में तरल पदार्थों की मात्रा को पूरा रखना चाहिए। और इसके लिए महिला को दिन में आठ से दस गिलास पानी पीने के साथ जूस, निम्बू पानी, नारियल पानी आदि का सेवन भी जरूर करना चाहिए।

नेगेटिविटी से दूर रहें

तनाव, नेगेटिव बातें, नेगेटिव सोच से गर्भवती महिला को दूर रहना चाहिए। क्योंकि इसके कारण महिला के साथ बच्चे की सेहत पर नेगेटिव असर पड़ता है। ऐसे में महिला और शिशु का स्वास्थ्य बेहतर रहे इसके लिए गर्भवती महिला को खुश रहना चाहिए।

साफ़ सफाई का ध्यान रखें

प्रेगनेंसी में अपनी केयर करने के दौरान महिला को इस बात का ध्यान रखना चाहिए की महिला अपने आस पास सफाई रखें ताकि महिला को किसी भी तरह की शारीरिक परेशानी होने का खतरा नहीं हो।

नशीले पदार्थों का सेवन नहीं करें

गर्भवती महिला को किसी भी तरह के नशे जैसे की अल्कोहल, धूम्रपान आदि का सेवन नहीं करना चाहिए। साथ ही अधिक मात्रा में कैफीन युक्त पदार्थ जैसे की चाय कॉफ़ी का भी अधिक सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि यह सभी बच्चे के विकास में रूकावट पैदा कर सकते हैं

लापरवाही न करें

प्रेगनेंसी के दौरान महिला को अपनी केयर करते समय इस बात का ध्यान रखना चाहिए की महिला किसी भी तरह की लापरवाही नहीं करें। क्योंकि इस दौरान बरती गई थोड़ी सी लापरवाही माँ और बच्चे दोनों को नुकसान पहुंचा सकती है। ऐसे में महिला को पेट के बल या झुककर कोई काम नहीं करना चाहिए, ज्यादा सीढ़ियां नहीं चढ़नी चाहिए, कोई काम ज्यादा तेजी से नहीं करना चाहिए, पेट के बल नहीं सोना चाहिए, ज्यादा भारी सामान नहीं उठाना चाहिए, यात्रा नहीं करनी चाहिए, आदि काम नहीं करने चाहिए।

नींद है जरुरी

प्रेगनेंसी के दौरान महिला के लिए जितना खान पान का ध्यान रखना जरुरी है उतनी ही महिला के लिए नींद भी जरुरी होती है। ऐसे में प्रेग्नेंट महिला को शारीरिक व् मानसिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए खान पान बेहतर लेने के साथ नींद भी भरपूर लेनी चाहिए।

डॉक्टर से करवाएं नियमित जांच

गर्भावस्था के दौरान स्वस्थ रहने के लिए महिला को समय से अपना टीकाकरण करवाने के साथ नियमित जांच भी समय से करवानी चाहिए। क्योंकि नियमित जांच के दौरान यदि कोई समस्या होती भी है तो उसका इलाज साथ के साथ ही हो जाता है जिससे माँ और बच्चे को बाद में कोई दिक्कत नहीं होती है।

गर्भ में बच्चे की मूवमेंट पर भी रखें नज़र

महिला को अपनी सेहत का ध्यान रखने के साथ गर्भ में शिशु की हलचल पर भी ध्यान रखना चाहिए। की शिशु गर्भ में हलचल कर रहा है या नहीं, यदि गर्भ में शिशु हलचल कर रहा है तो बहुत अच्छी बात है। लेकिन यदि आपको लम्बे समय से गर्भ में शिशु की हलचल महसूस नहीं हुई है तो इसे अनदेखा नहीं करें और तुरंत डॉक्टर से मिलें।

मौसम के अनुसार केयर करने के तरीके में थोड़ा बदलाव करें

गर्भावस्था के दौरान प्रेगनेंसी के हर महीने खान पान में थोड़ा बदलाव करने की सलाह दी जाती है ताकि माँ और बच्चे को भरपूर पोषण मिल सकें। ऐसे में हर महीने बदलाव करने के साथ महिला को मौसम में बदलाव के साथ भी अपने खान पान का अच्छे से ध्यान रखना चाहिए। ताकि महिला की इम्युनिटी सही रहे जिसे माँ और बच्चे दोनों को स्वस्थ रहने में मदद मिल सकें।

तो यह हैं कुछ टिप्स जिनका ध्यान यदि प्रेग्नेंट महिला रखती है तो इससे प्रेग्नेंट महिला को स्वस्थ रहने के साथ गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर विकास में भी मदद मिलती है।

Pregnancy care tips

Leave a comment