प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में महिला खाएं यह 10 चीजें

0

गर्भावस्था की तीसरी तिमाही में महिला को अपनी सेहत व् स्वास्थ्य का अच्छे से ध्यान रखना चाहिए। क्योंकि इस दौरान गर्भ में शिशु का विकास तेजी से हो रहा होता है, महिला का शरीर डिलीवरी के लिए तैयार होता है साथ इस दौरान किसी भी तरह की लापरवाही समय से पहले बच्चे के जन्म की समस्या का कारण बन सकती है।

ऐसे में प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में महिला को अपने खान पान का सबसे ज्यादा ध्यान रखना चाहिए ताकि बच्चे का विकास अच्छे से हो और महिला के शरीर को डिलीवरी के लिए तैयार करने में मदद मिल सके। तो आइये अब इस आर्टिकल में हम आपको ऐसे 10 खाद्य पदार्थों के बारे में बताने जा रहे हैं जो प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में महिला को जरूर खाने चाहिए।

हरी सब्जियां

प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में प्रेग्नेंट महिला को हरी सब्जियां जैसे की पालक, मेथी आदि का भरपूर सेवन करना चाहिए। क्योंकि इनमे आयरन, फाइबर, फोलेट जैसे पोषक तत्व मौजूद होते हैं। जो गर्भवती महिला के शरीर में खून की कमी को पूरा करने के साथ गर्भ में शिशु के बेहतर विकास और शिशु को जन्मदोष से सुरक्षित रखने में मदद करते हैं।

देसी घी

गर्भावस्था की तीसरी तिमाही में महिला को देसी घी का भी रोजाना सेवन करना चाहिए। क्योंकि देसी घी गर्भवती महिला के शरीर को प्रसव के लिए तैयार करने, महिला के शरीर को मजबूत रखने, प्रसव के दौरान होने वाली तकलीफों को कम करने, बच्चे के बेहतर विकास करने में मदद करता है।

READ  अकेली रहने वाली प्रेग्नेंट महिला को किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

नट्स

नट्स यानी ड्राई फ्रूट्स प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में महिला को ड्राई फ्रूट्स का सेवन भी जरूर करना चाहिए। क्योंकि इनमे प्रोटीन, ओमेगा फैटी एसिड जैसे पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो माँ और बच्चे दोनों के लिए फायदेमंद होते हैं।

दालें और फलियां

प्रेगनेंसी के आखिरी महीनों में महिला दालों और फलियां को अपनी डाइट में अहम जगह देनी चाहिए। और रोजाना किसी न किसी दाल का सेवन जरूर करना चाहिए। क्योंकि दालें प्रोटीन, फाइबर से भरपूर होती है जो माँ और बच्चे दोनों के लिए फायदेमंद होती है।

फल

गर्भावस्था के तीसरे ट्राइमेस्टर में महिला मौसम में आने वाले फलों का सेवन भी भरपूर करना चाहिए। क्योंकि फलों में पोषक तत्व भरपूर मात्रा में होते हैं जो महिला को हेल्दी रखने और बच्चे के बेहतर विकास में मदद करते हैं।

डेयरी प्रोडक्ट्स

कैल्शियम और प्रोटीन से भरपूर डेयरी प्रोडक्ट्स का सेवन भी प्रेग्नेंट महिला को तीसरी तिमाही में जरूर करना चाहिए। क्योंकि इससे महिला को शारीरिक रूप से मजबूती मिलती है और बच्चे का शारीरिक विकास अच्छे से होता है। इसीलिए रोजाना, दूध, दही, छाछ का सेवन महिला को जरूर करना चाहिए।

अंडा

यदि प्रेग्नेंट महिला अंडा का सेवन करती है तो गर्भवती महिला प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में अंडा खा सकती है। क्योंकि अंडा खाने से महिला को एनर्जी से भरपूर रहने, बच्चे के बेहतर विकास में मदद मिलती है। अंडे का सेवन करते समय ध्यान रखें की अंडा अच्छे से पका हुआ हो साथ ही अंडा

नॉन वेज

गर्भावस्था की तीसरी तिमाही में महिला चिकन, मछली आदि का सेवन भी कर सकती है। चिकन व् मछली में पोषक तत्व भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं। साथ ही इनका सेवन करने से महिला का शरीर मजबूत होता है जिससे डिलीवरी के दौरान आने वाली परेशानी को कम करने और बच्चे के बेहतर विकास में मदद मिलती है।

READ  नोर्मल डिलीवरी होने वाली है या हुई है तो इन बातों का ध्यान रखें?

खजूर

गर्भावस्था की तीसरी तिमाही में महिला को खजूर भी जरूर खाने चाहिए। क्योंकि खजूर खाने से महिला के शरीर में खून की कमी पूरी होती है, महिला को एनर्जी मिलती है, प्रसव को आसान बनाने में मदद मिलती है, आदि।

साबुत अनाज

प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में महिला को ओट्स, दलिया आदि का भी भरपूर सेवन करना चाहिए। क्योंकि इनका सेवन करने से महिला को प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में ऊर्जा से भरपूर रहने में मदद मिलती है।

तो यह हैं वो 10 खाद्य पदार्थ जो गर्भवती महिला को प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में जरूर खाने चाहिए ताकि गर्भवती महिला स्वस्थ रहे और गर्भ में शिशु का विकास बेहतर तरीके से हो सके साथ ही महिला की डिलीवरी को आसान बनाने में मदद मिल सके।

Pregnancy diet for third trimester

Leave A Reply

Your email address will not be published.