Take a fresh look at your lifestyle.

प्रेगनेंसी के आखिरी महीने में यूरिन करते समय ध्यान रखें

0

प्रेगनेंसी के आखिरी महीनें में यूरिन करते समय ध्यान रखें, प्रेगनेंसी में यूरिन करते समय इस बात का ध्यान रखे, गर्भावस्था के नौवें महीने में इस बात का ध्यान रखें, प्रेगनेंसी टिप्स

गर्भावस्था के पूरे नौ महीने महिला को अपना दुगुना ध्यान रखना पड़ता है। क्योंकि महिला जितनी स्वस्थ रहती है गर्भ में शिशु का विकास भी उतना ही बेहतर तरीके से होता है। प्रेगनेंसी के हर महीने, हर दिन, महिला किसी न किसी अनुभव से गुजरती है, चाहे फिर वो कोई शारीरिक समस्या हो या बॉडी में होने वाला कोई बदलाव। और इसी तरह प्रेगनेंसी के आखिरी महीने में महिला को और ज्यादा केयर करनी पड़ती है, क्योंकि पेट के बाहर निकलने, वजन बढ़ने के कारण महिला को बहुत सी परेशानियां हो सकती है। ऐसे में महिला को यूरिन पास करते समय भी ध्यान रखना चाहिए।

प्रेगनेंसी के आखिरी महीने में यूरिन करते समय इस बात का ध्यान रखें

जब भी आप यूरिन पास करने के लिए जाती है तो आपको ध्यान रखना चाहिए की यूरिन ज्यादा गाढ़ा, या थोड़े खून वाला तो नहीं आ रहा है। यदि ऐसा होता है तो यह इस बात का संकेत होता है की गर्भ से शिशु बाहर आने के लिए तैयार है, क्योंकि यह गाढ़ा पानी यूरिन नहीं बल्कि एमनियोटिक फ्लूड होता है। जिसमे शिशु नौ महीने माँ के गर्भ में रहता है, इसी फ्लूड की मदद से शिशु गर्भ में मूवमेंट कर पाता है। और यदि आपको एमनियोटिक फ्लूड निकलता हुआ महसूस होता है, तो आपको बिना देरी किये जितना जल्दी हो सके डॉक्टर के पास जाना चाहिए।

क्योंकि जितना गर्भ में एमनियोटिक फ्लूड की कमी होती है उतना ही गर्भ में शिशु असहज महसूस कर सकता है। जब वाटर ब्रेक यानी एमनियोटिक फ्लूड निकलता है तो आपको यूरिन जैसा ही प्रैशर महसूस होता है, ऐसे में यदि आपको पता न चले तो शिशु गर्भ में परेशानी में आ सकता है। इसीलिए प्रेगनेंसी के नौवें महीने में इस बात का खास ध्यान रखना चाहिए, और जब भी गर्भवती महिला यूरिन पास करने जाती है उसे इस बात का ध्यान रखना चाहिए। साथ ही एमनियोटिक फ्लूड को देखकर महिला को ज्यादा तेजी नहीं करनी चाहिए, और न ही अधिक घबराना चाहिए, क्योंकि एक ही बार में सारा फ्लूड बाहर नहीं आता है, बस जैसे ही आपको ऐसा महसूस हो आपको तभी हॉस्पिटल में चले जाना चाहिए।

तो यह है वो बातें जिनका ध्यान गर्भवती महिला को प्रेगनेंसी के आखिरी महीने में यूरिन करते समय ध्यान रखना चाहिए। इसके अलावा प्रेगनेंसी के दौरान यूरिन के रंग का भी ध्यान रखना चाहिए यदि यूरिन का रंग ज्यादा पीला आता है या आपको यूरिन करते समय किसी तरह की परेशानी होती है। तो यह यूरिन इन्फेक्शन के कारण हो सकता है। ऐसे में आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए, और किसी भी तरह की परेशानी होने पर बिना देरी किये जल्दी से जल्दी डॉक्टर से मिलना चाहिए।

Hindi Video : In 9th Month Daily Check your Urine

Urine Karte Samay
Leave A Reply

Your email address will not be published.