Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

जब तीन महीने का गर्भ हो तो महिलाएं भूल कर भी न करें ये काम

0

प्रेगनेंसी का पूरा समय ही महिलाओ को अपना पहले से ज्यादा ध्यान रखना चाहिए, परंतु पहले तीन महीने महिला को अपना ज्यादा ध्यान रखने की जरुरत होती है, क्योंकि इस समय में महिला की स्थिति बहुत नाजुक होती है, और साथ ही थोड़ी सी भी लापरवाही आपके और गर्भ में पल रहे शिशु के स्वास्थ्य को नुकसान पंहुचा सकती है, तो आइये जानते है की गर्भ के पहले तीन महीने महिला को भूल कर भी कौन से काम नहीं करने चाहिए।

प्रेगनेंसी के समय में महिला बहुत से अनुभव से गुजरती है, ऐसे में महिला के शरीर में भी बहुत से बदलाव आते है, इसीलिए महिला को प्रेगनेंसी में अपना पूरा ध्यान रखना चाहिए, लेकिन महिला को जैसे ही पता चलता है किसके गर्भ में एक नन्ही सी जान पल रही है, तब से लेकर तीन महीने तक महिलाओ को अपना सबसे ज्यादा ध्यान रखना चाहिए, क्योंकि पहले तीन महीने में महिला के साथ समस्या होने के चांस ज्यादा होते है, थोड़ी सी लापरवाही के कारण स्पोटिंग या कई बार गर्भपात का खतरा बढ़ जाता है, जैसे की महिला यदि अपने खान पान का ध्यान नहीं रखती है, तो इसके कारण उसके शरीर में कमजोरी आ जाती है।

ज्यादा उछल कूद भागा दौड़ी करने के कारण महिला को स्पोटिंग या गर्भपात का खतरा बढ़ जाता है, शारीरिक सम्बन्ध बनाते समय यदि सावधानी न बरती जाएँ, तो इसके कारण भी गर्भ में पल रहे शिशु को नुकसान पहुच सकता है, ज्यादा गरम चीजो का सेवन करने से गर्भपात का खतरा बढ़ जाता है, बिना डॉक्टर की सलाह के दवाईयो का सेवन करने के कारण भी आपको परेशानी का अनुभव करना पड़ सकता है, तो आइये अब आपको विस्तार से बताते है की आपको प्रेगनेंसी के समय कौन कौन से काम भूल कर भी नहीं करने चाहिए।

अपने खान पान के प्रति लारवाही न बरतें:-

pregnant women eating

महिलाओ को प्रेगनेंसी के समय ज्यादातर उनके स्वाद में परिवर्तन, गंध से एलर्जी होने के कारण, या शरीर में हॉर्मोन्स के परिवर्तन के कारण भूख कम लगती है, जिसके कारण महिला अपने खान पान के प्रति लापरवाही करती है, परंतु उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिएं बड़े बड़े मील लेने की बजाय थोड़े थोड़े समय के बाद कुछ न कुछ खाते रहना चाहिए, यदि वो खान पान को सही नहीं रखती है, जिसके कारण उनके शरीर में कमजोरी आ जाती है, और इससे गर्भ में पल रहे शिशु के स्वास्थ्य को भी नुकसान होता है, इसीलिए आपको अपने खान पान का अच्छे से ध्यान रखना चाहिए, ताकि प्रेगनेंसी में माँ और बच्चे दोनों को स्वस्थ रहने में मदद मिलेगी।

ज्यादा उछल कूद न करें:-

महिलाओ को प्रेगनेंसी के पहले तीन महीने बिलकुल भी उछल कूद नहीं करनी चाहिए, क्योंकि ऐसा करने के कारण उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ सकता है, क्योंकि ज्यादा उछल कूद करने के कारण आपको स्पोटिंग का खतरा बढ़ जाता है, और पेट में भी दर्द की समस्या हो जाती है, इसीलिए आप गर्भ के पहले तीन महीने ज्यादा उछल कूद नहीं करनी चाहिए।

ज्यादा कड़ा व्यायाम नहीं करना चाहिए:-

महिला को पुरे गर्भावस्था के समय में कड़ा व्यायाम नहीं करना चाहिए, जिसके कारण उसके पेट पर या अन्य अंगो पर दबाव पढ़ें, और गर्भ के पहले तीन महीने तो ज्यादा सावधानी बरतनी चाहिए, थोड़ा बहुत वॉक आप कर सकती है, परंतु वॉक करते समय भी ध्यान रखें, यदि आप थका हुआ महसूस कर रहे है, तो इससे भी परहेज करना चाहिए, कहना खाने के बाद आपको थोड़ा बहुत वॉक जरूर करना चाहिए।

ऐसा कोई काम न करें जिसके कारण आपके पेट पर दबाव पढ़ें:-

महिलाओ को ध्यान रखना चाहिए की वो ऐसा कोई काम न करें, जिसके कारण उनके पेट पर दबाव न पड़ें, जैसे की पैरो के भार न बैठे, ज्यादा झुककर काम न करें, पेट के बल लग कर न खड़े हो, ज्यादा सामान न उठायें, ऐसा करने से आपके पेट पर दबाव पड़ता है, जिसके कारण पेट में दर्द हो जाता है, और साथ ही कई बार ज्यादा देर पैरो के भार बैठने पर ब्लीडिंग भी होने लगता है।

ज्यादा दवाइयों का सेवन न करें:-

medicine

गर्भावस्थे के तीन महीने महिला के शरीर में हॉर्मोन्स का बदलाव तेजी से होने के कारण कई प्रकार की शारीरिक समस्या हो जाती है, कई बार थकावट महसूस होती है, सर दर्द, शरीर के ने अंगो में दर्द रहने लगता है, ऐसे में इससे राहत पाने के लिए कभी भी डॉक्टरी परामर्श के दवाईयो का सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि इसके कारण भी आपके स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है।

इलायची का सेवन न करें:-

इलायची का सेवन करने से भी हो सकें तो आपको प्रेगनेंसी में परहेज रखना चाहिए, क्योंकि इसके कारण भी गर्भ के गिरने का खतरा बढ़ जाता है, और रात के समय तो खास कर इसका सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि ये आपके स्वास्थ्य पर बुरा असर डालती है, हो सकें तो प्रेगनेंसी के पहले तीन महीने इलायची का सेवन से चाय में भी इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

ज्यादा भाग दौड़ी नहीं करनी चाहिए:-

प्रेगनेंसी में आपको ज्यादा भागा दौड़ी नहीं करनी चाहिए, क्योंकि इसके कारण भी आपको समस्या का सामना करना पड़ सकता है, ज्यादा घूमने फिरने, से भी आपको परहेज रखना चाहिए, यात्रा भी हो सकें तो कम करनी चाहिए, जितना हो सकें रेस्ट करना चाहिए, क्योंकि पहले तीन महीने आपको थोड़ी सी भी लापरवाही आपको नुकसान कर सकती है।

नशीले पदार्थो व् धूम्रपान का सेवन नहीं करना चाहिए:-

गर्भावस्था के पहले तीन महीने ही नहीं बल्कि आपको आपको पूरी गर्भावस्था के दौरान नशीले पदार्थो का सेवन नहीं करना चाहिए, धूम्रपान से भी परहेज करना चाहिए, क्योंकि इसके कारण महिला और होने वाले बच्चे पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है, इसीलिए इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

पपीते का सेवन नहीं करनी चाहिए:-

papaya

गर्भावस्था के पहले तीन महीने भूल कर भी कच्चे पपीते का सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि इसमें विटामिन सी की मात्रा बहुत होती है, जो की सीधा आपको गर्भपात जैसी गंभीर समस्या की और लेकर जा सकती है, इसीलिए आपको पहले तीन महीने ही नहीं बल्कि पूरी गर्भावस्था में ही कच्चे पपीते का सेवन नहीं करना चाहिए।

शारीरिक सम्बन्ध बनाते समय रखे ध्यान:-

प्रेगनेंसी के पहले तीन महीने बहुत ज्यादा महिला को अपना ध्यान रखना चाहिए, वैसे तो डॉक्टर भी गर्भावस्था के पहले तीन महीने शरीर की स्थिति को सामान्य रखने के लिए हो सकें तो शारीरिक सम्बन्ध से परहेज रखना चाहिए, आप चाहे तो इसके लिए डॉक्टर की भी राय ले सकते है, क्योंकि पहले तीन महीने महिला की स्थिति नाजुक होती है, इसीलिए आप शारीरिक सम्बन्ध बनाते समय ध्यान रखें।

डॉक्टर से राय लें:-

महिला को प्रेगनेंसी के समय में यदि कोई भी परेशानी हो, तो आपको बिलकुल भी अनदेखा नहीं करना चाहिए, क्योंकि इसके कारण आपको परेशानी का सामना करना पड़ सकता है, यदि आपको कभी भी प्रेगनेंसी में असहज महसूस हो, तो आपको बिना लापरवाही किये डॉक्टर के पास जाना चाहिएं न की घर में इसका इलाज़ शुरू कर देना चाहिए।

प्रेगनेंसी के पहले तीन महीने भूल कर भी न करें ये काम:-

  • अजवाइन की तासीर गरम होती है, इसीलिए गर्भावस्था के पहले तीन महीने अजवाइन का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • गरम पदार्थो का सेवन जैसे की ड्राई फ्रूट्स आदि जिनकी तासीर गरम होती हैं, शुरूआती दिनों में इनसे भी परहेज रखना चाहिए।
  • अनानास का सेवन नहीं करना चाहिए, इसमें विटामिन सी की मात्रा अधिक होती है।
  • कटहल में भी विटामिन सी की मात्रा अधिक होती है, और यदि गर्भावस्था के शुरूआती दिनों में इसका सेवन करते है, तो गर्भपात का खतरा बढ़ जाता है।
  • ज्यादा तले हुए और मसालेदार भोजन से परहेज रखें।
  • डिब्बा बंद जूस का सेवन न करें।
  • नशीले पदार्थो और धूम्रपान का सेवन न करें।
  • शिमला मिर्च, ब्रोकली, आदि का सेवन करने से भी आपको परेशानी का अनुभव हो सकता है।
  • ज्यादा व्यायाम न करें, और थकावट होने के बाद तो कभी भी अपने शरीर पर जोर नहीं डालना चाहिए।

तो ये कुछ काम है, जो महिलाओं को बिलकुल भी नहीं करने चाहिए है, जब गर्भावस्था के पहले तीन महीने चल रहे होते है, यदि आप चाहते है गर्भ में पल रहे शिशु के साथ आप भी स्वस्थ रहें और शिशु का विकास भी गर्भ में अच्छे से हो इसके लिए आपको ध्यान देना चाहिए, और कोईभी लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए।

Leave a comment