प्रेग्नेंट महिला को आलू के चिप्स खाने से ये नुकसान हो सकते हैं

प्रेगनेंसी में आलू चिप्स खाने चाहिए या नहीं, प्रेगनेंसी महिला के लिए एक ऐसा समय होता है जहां महिला को बहुत से बदलाव का अनुभव करना पड़ सकता है। और यह बदलाव महिला को शारीरिक रूप, मानसिक रूप से महसूस होने के साथ जीभ के स्वाद में भी महसूस हो सकते हैं। जैसे की कई बार महिला का कुछ न कुछ अलग खाने की इच्छा हो सकती है जिसे क्रेविंग कहा जाता है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं होता है की प्रेगनेंसी में आपका जो भी चीज खाने का मन करे उसे आप खा लें।

बल्कि आपके लिए इस बात का ध्यान रखना सबसे जरुरी होता है की जो आप खा रही है उसका सेवन प्रेगनेंसी के दौरान करना चाहिए या नहीं। क्योंकि महिला यदि किसी ऐसी चीज का सेवन करती है जिसका सेवन प्रेगनेंसी के दौरान नहीं करना चाहिए। तो इससे महिला के स्वास्थ्य के साथ शिशु का विकास भी प्रभावित हो सकता है। तो आइये आज हम इस आर्टिकल में प्रेगनेंसी के दौरान पोटैटो चिप्स के बारे में बात करने जा रहे हैं।

प्रेगनेंसी में आलू के चिप्स का सेवन करना चाहिए या नहीं?

प्रेग्नेंट महिला को प्रेगनेंसी के दौरान अधिक तेल, नमक, चीनी आदि का सेवन न करने की सलाह दी जाती है। और आलू के चिप्स को बनाने के लिए तेल, नमक, चीनी आदि का इस्तेमाल किया जाता है। ऐसे में गर्भवती महिला यदि इनका सेवन करती है तो इसके कारण महिला को स्वास्थ्य सम्बन्धी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। इसीलिए प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला को बाजार में मिलने वाले पोटैटो चिप्स का सेवन करने से बचना चाहिए।

प्रेगनेंसी में आलू चिप्स खाने के नुकसान

यदि प्रेग्नेंट महिला आलू चिप्स का सेवन प्रेगनेंसी के दौरान करती है। तो इसके कारण महिला को बहुत सी दिक्कतें हो सकती है। तो आइये अब जानते हैं की प्रेगनेंसी में आलू के चिप्स खाने से कौन से नुकसान हो सकते हैं।

वजन

यदि प्रेग्नेंट महिला आलू के चिप्स का सेवन प्रेगनेंसी के दौरान करती है तो इसके कारण बॉडी में वसा की मात्रा बढ़ सकती है। जिसके कारण गर्भवती महिला का वजन जरुरत से ज्यादा बढ़ सकता है। और प्रेग्नेंट महिला का जरुरत से ज्यादा वजन बढ़ना प्रेग्नेंट महिला व् शिशु दोनों की सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है।

सूजन

आलू के चिप्स को बनाने के लिए जिस तेल का इस्तेमाल किया जाता है उस तेल में लिनोलेइक एसिड मौजूद होता है। साथ ही आलू के चिप्स में नमक की भी अधिकता होती है। जिसके कारण गर्भवती महिला को सूजन जैसी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

हदय रोग

आलू के चिप्स को तलने के लिए तेल का इस्तेमाल किया जाता है ऐसे में आलू के चिप्स अधिक खाने से बॉडी में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ सकती है। जिसके कारण गर्भवती महिला को हदय रोग जैसी समस्या होने का भी खतरा रहता है।

तो यह हैं प्रेगनेंसी के दौरान आलू के चिप्स के सेवन से जुडी कुछ खास बातें, यदि आप भी प्रेग्नेंट हैं और आपका भी आलू के चिप्स खाने का मन करता है। तो ऐसे में आप भी इस बात का ध्यान रखें की आलू के चिप्स आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसीलिए प्रेगनेंसी के दौरान इनका सेवन करने से परहेज रखें।