Ultimate magazine theme for WordPress.

प्रेगनेंसी में बार-बार यूरिन आना क्या खतरनाक हो सकता है?

0

गर्भावस्था एक ऐसा समय होता है जहां गर्भवती महिला को बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। और कुछ दिक्कतें तो ऐसी होती है जिनके कारण महिला बहुत अधिक परेशान हो सकती है, जैसे की बार बार यूरिन पास करने की समस्या होना। प्रेगनेंसी के दौरान बहुत जल्दी जल्दी यूरिन पास करने की इच्छा होना आम बात होती है लेकिन कई बार इस परेशानी के बढ़ जाने के कारण गर्भवती महिला को न केवल ज्यादा समय बाथरूम में आने जाने के कारण परेशानी होती है। बल्कि यह सोचकर भी महिलाएं घबरा सकती है की कहीं प्रेगनेंसी में बार बार यूरिन आना खतरनाक तो नहीं।

प्रेगनेंसी में बार बार यूरिन आना खतरनाक है या नहीं?

गर्भवती महिला को प्रेगनेंसी की पहली और आखिरी तिमाही में यह समस्या अधिक हो सकती है, जबकि दूसरी तिमाही में इस समस्या से महिला को थोड़ी राहत मिल सकती है। प्रेगनेंसी में बार बार यूरिन आना बॉडी में होने वाले हार्मोनल बदलाव के कारण किडनी के अधिक सक्रिय होने व् वजन बढ़ने के कारण मूत्राशय पर दबाव पड़ने के कारण हो सकता है। इसके अलावा और भी कई कारण हो सकते हैं जिसके कारण यह समस्या हो सकती है। ऐसे में महिला को जितनी बार यूरिन आए उतनी बार बाथरूम में जरूर जाना चाहिए। लेकिन बाथरूम को रोककर नहीं रखना चाहिए क्योंकि यह गर्भवती महिला के लिए परेशानी खड़ी कर सकता है। क्योंकि यूरिन रोककर रखने के कारण गर्भाशय में संकुचन होने की संभावना बढ़ सकती है। ऐसे में प्रेगनेंसी में यूरिन का बार बार आना खरतरनाक नहीं होता है बल्कि यूरिन को रोककर रखना आपको परेशानी में डाल सकता है।

प्रेगनेंसी में बार बार यूरिन आने के कारण

गर्भावस्था के दौरान बार बार यूरिन आने का कोई एक कारण नहीं होता है बल्कि ऐसे कई कारण होते हैं जिनकी वजह से महिला को यह परेशानी हो सकती है। तो आइये अब विस्तार से जानते हैं की प्रेगनेंसी में बार बार यूरिन आने के क्या कारण होते हैं।

किडनी: बॉडी में होने वाले हार्मोनल बदलाव के कारण किडनी में रक्त संचार बढ़ने लगता है जिसके कारण किडनी में तरल पदार्थ की मात्रा जल्दी जल्दी बढ़ने लगती है। और महिला को बार बार यूरिन पास करने की इच्छा हो सकती है।

गेस्टेशनल डाइबिटीज़: यदि प्रेग्नेंट महिला को गेस्टेशनल डाइबिटीज़ होने का खतरा होता है तो भी महिला को यूरिन पास करने की इच्छा अधिक हो सकती है और उतनी ही ज्यादा तेजी से महिला को प्यास भी लगती है।

कैफीन: यदि प्रेग्नेंट महिला कैफीन का सेवन अधिक मात्रा में करती है तो भी महिला को बार बार बाथरूम में जाने की इच्छा हो सकती है।

शिशु का वजन: गर्भ में जैसे जैसे शिशु का वजन बढ़ता है वैसे वैसे पेट के निचले हिस्से में दबाव भी अधिक बनने लगता है। और जैसे जैसे यह दबाव अधिक बढ़ता है वैसे वैसे इसके कारण भी महिला को बार बार यूरिन पास करने की इच्छा हो सकती है।

इन्फेक्शन: प्रेग्नेंट महिला को यदि बार बार यूरिन आने की समस्या के साथ यूरिन में से बदबू, यूरिन के रंग में बदलाव, यूरिन पास करते समय जलन आदि मसहूस हो तो यह यूरिन इन्फेक्शन का लक्षण हो सकता है, ऐसे में यूरिन के ज्यादा आने पर इन संकेतों का ध्यान रखना चाहिए। क्योंकि कई बार इन्फेक्शन के बढ़ने के कारण भी महिला को बार बार बाथरूम में जाने की इच्छा हो सकती है।

तो यह हैं प्रेगनेंसी के दौरान बार बार यूरिन आने से जुडी समस्या से जुडी कुछ बातें, ऐसे में महिला को इन बातों का ध्यान रखना चाहिए ताकि इसके कारण महिला को किसी भी तरह की परेशानी से बचाव करने में मदद मिल सके।