प्रेगनेंसी के दौरान दूध ज्यादा फायदेमंद होता है या दही?

0

प्रेगनेंसी कन्फर्म होने के बाद से ही गर्भवती महिला को सभी बेहतरीन खान पान की सलाह देते हैं। क्योंकि प्रेगनेंसी के दौरान महिला द्वारा ली गई डाइट के फायदे केवल महिला को ही नहीं मिलते हैं बल्कि इससे गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर विकास में भी मदद मिलती है। ऐसे में महिला को हरी सब्जियां, दालें व् फलियां, अंडा व् नॉन वेज, साबुत अनाज, फल व् उनका रस, डेयरी प्रोडक्ट्स आदि का सेवन जरूर करना चाहिए।

हर एक खाद्य पदार्थ में अलग अलग पोषक तत्व मौजूद होते हैं ऐसे में महिला को उन सभी खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए जिससे माँ व् बच्चे की सभी जरूरतें पूरी हो सकें। साथ ही महिला को हमेशा एक ही तरह की डाइट नहीं लेनी चाहिए बल्कि अपनी डाइट में बदलाव करते रहना चाहिए ताकि सभी पोषक तत्वों की मात्रा को शरीर में सही रहने में मदद मिल सके। आज इस आर्टिकल में हम आपसे प्रेगनेंसी के दौरान दो डेयरी प्रोडक्ट्स दूध और दही के सेवन के बारे में बात करने जा रहे हैं की आखिर दूध या दही कौन ज्यादा फायदेमंद होता है।

गर्भावस्था में दूध या दही या है ज्यादा फायदेमंद

पहली बात दूध व् दही दोनों का सेवन प्रेगनेंसी के दौरान किया जा सकता है, दूसरी बात दूध की मदद से ही दही को तैयार किया जाता है। ऐसे में जो पोषक तत्व दूध में होते हैं वो दही में भी मौजूद होते हैं साथ ही दूध व् दही में अलग अलग और भी पोषक तत्व मौजूद होते हैं। जैसे की दूध कैल्शियम का बेहतरीन स्त्रोत होता है और दही प्रोटीन से भरपूर होती है और कैल्शियम और प्रोटीन दोनों ही माँ व् बच्चे के लिए जरुरी होते हैं। इसके अलावा दूध में विटामिन डी होता है तो दही में फाइबर मौजूद होता है और दोनों का ही प्रेग्नेंट महिला के शरीर में सही मात्रा में होना जरुरी होता है।

ऐसे में यह कह पाना की दूध ज्यादा फायदेमंद है या दही थोड़ा मुश्किल होगा। बल्कि महिला को प्रेगनेंसी के दौरान दूध व् दही दोनों का सेवन करना चाहिए ताकि दोनों में मौजूद पोषक तत्व माँ व् बच्चे को मिल सकें। क्योंकि दूध व् दही दोनों में मौजूद पोषक तत्व माँ और बच्चे के लिए जरुरी होते हैं। और यदि महिला सिमित मात्रा में, सही समय पर इन खाद्य पदार्थों का सेवन करती है तो इससे गर्भवती महिला और गर्भ में पल रहे शिशु को सही मात्रा में पोषक तत्व मिलते हैं जिससे प्रेग्नेंट महिला को स्वस्थ रहने और गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर विकास में मदद मिलती है।

प्रेगनेंसी में दूध का सेवन करने के फायदे

गर्भावस्था के दौरान यदि महिला दूध का सेवन करती है तो इससे एक नहीं बल्कि बहुत से फायदे माँ व् बच्चे को मिलते हैं। जैसे की:

कैल्शियम: दूध कैल्शियम का बेहतरीन स्त्रोत होता है जो गर्भवती महिला की हड्डियों को मजबूत करने के साथ गर्भ में पल रहे शिशु की हड्डियों व् दांतों के बेहतर विकास में मदद करता है।

प्रोटीन: दूध में प्रोटीन भी मौजूद होता है जो कोशिकाओं के लिए बहुत जरुरी होता है। ऐसे में दूध का सेवन करने से गर्भवती महिला को प्रोटीन मिलता है जिससे गर्भवती महिला की मांसपेशियों को पोषण मिलने के साथ गर्भ में पल रहे शिशु के शरीर व् मस्तिष्क की कोशिकाओं का विकास अच्छे से होता है।

विटामिन डी: दूध में विटामिन डी भी मौजूद होता है जो गर्भ में पल रहे शिशु और गर्भवती महिला के लिए एक जरुरी पोषक तत्व होता है। इसकी कमी के कारण गर्भ में पल रहे शिशु के विकास में कमी आने का खतरा भी होता है।

हाइड्रेट रखता है: दूध का सेवन करने से शरीर में तरल पदार्थों की मात्रा को सही रखने में मदद मिलती है जिससे गर्भवती महिला हाइड्रेट रहती है।

ऊर्जा: दूध का सेवन करने से गर्भवती महिला को बहुत से पोषक तत्व मिलते हैं जिससे गर्भवती महिला को ऊर्जा से भरपूर रहने में मदद मिलती है।

प्रेगनेंसी में दही का सेवन करने के फायदे

गर्भावस्था के दौरान यदि महिला दही का सेवन करती है तो दही का सेवन करना भी माँ व् बच्चे के लिए बहुत फायदेमंद होता हैं। तो आइये अब जानते हैं की प्रेगनेंसी में दही खाने से कौन से फायदे मिलते हैं।

पाचन में करती है सुधार: दही में गुड़ बैक्टेरिया मौजूद होते हैं जो प्रेगनेंसी के दौरान महिला के पाचन तंत्र को बेहतर रखने में मदद करते हैं। जिससे महिला को पेट सम्बंधित समस्याओं से बचे रहने में मदद मिलती है।

इम्युनिटी मजबूत होती है: दही का सेवन करने से महिला को प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत रहने में मदद मिलती है। जिससे गर्भवती महिला व् शिशु को संक्रमण व् बिमारियों के खतरे से बचे रहने में मदद मिलती है।

ब्लड प्रैशर रहता है कण्ट्रोल: प्रेगनेंसी के दौरान कुछ महिलाएं ब्लड प्रैशर से जुडी समस्या से भी परेशान रहती है लेकिन दही का सेवन करने से महिला को इस समस्या से बचे रहने में मदद मिलती है। क्योंकि दही का सेवन करने से ब्लड प्रैशर को नियंत्रित रहने में मदद मिलती है।

हड्डियों के लिए है फायदेमंद: दही में कैल्शियम भी मौजूद होता है जो माँ व् बच्चे की हड्डियों को पोषण पहुंचाने में मदद करता है।

तनाव: गर्भावस्था के दौरान जिन महिलाओं को तनाव की समस्या होती है उनके लिए भी दही का सेवन बहुत फायदेमंद होता है।

वजन नियंत्रित रहता है: दही का सेवन करने से गर्भवती महिला के वजन को नियंत्रित रहने में मदद मिलती है जो की प्रेगनेंसी के दौरान बहुत जरुरी होता है।

दूध व् दही का सेवन करते समय इन बातों का ध्यान रखें

  • कच्चे दूध का सेवन नहीं करें।
  • ज्यादा गर्म व् ठन्डे दूध के सेवन से परहेज रखें।
  • रात के समय दही का सेवन नहीं करें।
  • दही का सेवन करने से यदि किसी तरह की दिक्कत हो तो दही का सेवन करने से बचें।
  • दूध व् दही का सेवन एक साथ नहीं करें।
  • सर्दी खांसी जुखाम आदि की समस्या हो तो भी दही का सेवन करने से परहेज करें।

तो यह हैं प्रेगनेंसी के दौरान दूध व् दही के सेवन से जुडी जानकारी, ऐसे में प्रेग्नेंट महिला को दूध व् दही दोनों का ही सेवन जरूर करना चाहिए। ताकि दोनों में मौजूद पोषक तत्व गर्भवती महिला व् शिशु को मिल सकें।