Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

प्रेगनेंसी में आइस क्रीम खानी चाहिए या नहीं?

जब सामने आइस क्रीम रखी हो तो किसी को भूख हो या नहीं हो वो कभी मना नहीं करता है क्योंकि आइस क्रीम सभी को पसंद होती है। साथ ही चाहे सर्दियों का मौसम भी हो तो भी आइस क्रीम खाना सभी का पसंदीदा होता है। और उसके बाद जब आइस क्रीम के अलग अलग फ्लेवर की बात आती है तो मुँह में पानी आ जाना भी स्वाभाविक होता है।

-- Advertisement --

वैसे ही गर्भावस्था के दौरान भी महिला को अलग अलग चीजें खाने की क्रेविंग हो सकती है। लेकिन कई बार प्रेगनेंसी में अपनी पसंद की चीज को भी न कहना पड़ता है क्योंकि वो चीज माँ और बच्चे दोनों के लिए नुकसानदायक हो सकती है। तो आज इस आर्टिकल में हम आपसे प्रेगनेंसी के दौरान आइस क्रीम के सेवन की बात करने जा रहे हैं की गर्भवती महिला को आइस क्रीम खानी चाहिए या नहीं।

गर्भावस्था में आइस क्रीम खाने की इच्छा क्यों होती है?

प्रेगनेंसी के दौरान बॉडी में होने वाले हार्मोनल बदलाव के कारण जीभ के स्वाद में भी बदलाव महसूस होता है। जिसकी वजह से महिला की अलग अलग चीजें खाने की इच्छा हो सकती है। ऐसे ही उन चीजों में महिला को आइस क्रीम खाने की क्रेविंग भी हो सकती है।

प्रेग्नेंट महिला आइस क्रीम खा सकती है या नहीं?

गर्भावस्था के दौरान बाहर से मिलने वाली यानी की जो चीजें बाहर बनाई जाती हैं जैसे की जंक फ़ूड, डिब्बाबंद आहार, आदि उन चीजों को न खाने की सलाह दी जाती है। क्योंकि बाहर की चीजों को बनाने में किन किन चीजों का इस्तेमाल किया गया है, वो कितने दिनों से बनी रखी है, आदि के बारे में आपको सही जानकारी नहीं होती है। ऐसे में इन चीजों को खाने के कारण महिला व् शिशु की सेहत को नुकसान पहुँचने का खतरा रहता है।

वैसे ही बाहर से मिलने वाली आइस क्रीम का सेवन भी गर्भवती महिला को नहीं करना चाहिए। क्योंकि उसमे मौजूद शुगर माँ व् बच्चे की दिक्कत को बढ़ा सकता है साथ ही यदि आइस क्रीम को बनाने में कच्चे दूध या क्रीम का इस्तेमाल किया गया है तो इसकी वजह से महिला को इन्फेक्शन का खतरा भी होता है। और उसका असर गर्भ में पल रहे शिशु पर भी देखने को मिल सकता है।

लेकिन यदि महिला का कभी आइस क्रीम खाने का मन करता है तो महिला घर में ही आइस क्रीम बना सकती है लेकिन उसमे महिला को उन चीजों का इस्तेमाल बिल्कुल नहीं करना है जिससे माँ बच्चे को कोई नुकसान हो। जैसे की कच्चा अंडा, कच्चा दूध, जरुरत से ज्यादा मीठा, बाहर से मिलने वाला आर्टिफिशल शुगर आदि। इसके अलावा महिला को घर में बनी आइस क्रीम का भी कभी कभी सेवन करना चाहिए।

प्रेगनेंसी में आइस क्रीम खाने के नुकसान

गर्भवती महिला यदि आइस क्रीम का सेवन करती है तो महिला को इसकी वजह से महिला को कुछ दिक्कतें हो सकती है। जैसे की:

संक्रमण

यदि आइस कच्चे दूध से बनी हो तो उसमे मौजूद बैक्टेरिया के कारण महिला और शिशु दोनों को संक्रमण होने का खतरा होता है। क्योंकि कच्चे दूध में हानिकारक बैक्टेरिया मौजूद होता है जो माँ व् बच्चे को नुकसान पहुंचा सकता है।

जेस्टेशनल डाइबिटीज़

आइस क्रीम को बनाने को आर्टिफिशल शुगर का इस्तेमाल किया जाता है ऐसे में महिला यदि आइस क्रीम का सेवन करती है। तो इसकी वजह से महिला के ब्लड में शुगर लेवल बढ़ सकता है जिसकी वजह से महिला को जेस्टेशनल शुगर होने का खतरा होता है।

वजन

आइस क्रीम का सेवन करने के कारण महिला का वजन भी ज्यादा बढ़ सकता है और प्रेगनेंसी के दौरान वजन का जरुरत से ज्यादा बढ़ना माँ व् बच्चे दोनों के लिए दिक्कत खड़ी कर सकता है।

खांसी व् जुखाम

मौसम का बदलाव होने पर यदि प्रेग्नेंट महिला आइस क्रीम का सेवन करती है तो इसकी वजह से महिला को खांसी व् जुखाम फ्लू आदि होने का खतरा रहता है।

तो यह हैं प्रेगनेंसी के दौरान आइस क्रीम खाने के नुकसान, ऐसे में गर्भवती महिला को इन बातों का ध्यान रखना चाहिए। ताकि गर्भवती महिला यदि आइस क्रीम खाये भी तो घर में बनी हुई वो भी सिमित मात्रा में जिससे माँ व् बच्चे दोनों की सेहत को किसी भी तरह का नुकसान नहीं हो।

Eating ice cream during pregnancy safe or not

Leave a comment