प्रेगनेंसी में काजू और किशमिश खाने के फायदे

प्रेगनेंसी के दौरान खान पान के प्रति बहुत ज्यादा सावधानी बरतने की सलाह दी जाती है। क्योंकि गलत खान पान का असर माँ के साथ साथ बच्चे को भी प्रभावित करता है जिसके कारण माँ व् बच्चे दोनों को स्वास्थ्य सम्बन्धी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। तो आज इस आर्टिकल में हम आपसे प्रेगनेंसी में काजू और किशमिश का सेवन करने से जुडी बातें करने जा रहे हैं। की प्रेगनेंसी में काजू और किशमिश का सेवन करना चाहिए या नहीं?

गर्भावस्था में काजू और किशमिश का सेवन करना चाहिए या नहीं?

ड्राई फ्रूट्स में शामिल काजू और किशमिश का सेवन प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला कर सकती है। क्योंकि इसमें आयरन, कैल्शियम, प्रोटीन, फोलिक एसिड जैसे पोषक तत्व शामिल होते हैं। और यह सभी पोषक तत्व माँ व् बच्चे दोनों के लिए फायदेमंद होते हैं। तो आइये अब जानते हैं की प्रेगनेंसी में काजू का सेवन करने से कौन से फायदे मिलते हैं और किशमिश का सेवन करने से कौन से फायदे मिलते हैं।

प्रेगनेंसी में काजू खाने के फायदे

प्रेग्नेंट महिला यदि काजू का सेवन करती है तो काजू में मौजूद आयरन, फोलिक एसिड, कैल्शियम, प्रोटीन व् अन्य पोषक तत्व गर्भवती महिला व् बच्चे दोनों को फायदा पहुंचाते हैं। जैसे की:

कैल्शियम: काजू में कैल्शियम प्रचुर मात्रा में मौजूद होता है। जो की गर्भवती महिला की हड्डियों को मजबूत करने के साथ भ्रूण की हड्डियों व् दांतों के बेहतर विकास में भी मदद करता है।

प्रोटीन: काजू प्रोटीन का बेहतरीन स्त्रोत होता है जो गर्भ में बच्चे की कोशिकाओं के बेहतर विकास में मदद करता है। साथ ही इससे गर्भवती महिला को कोशिकाओं को भी मजबूती मिलती है।

फोलिक एसिड: शिशु के दिमागी विकास के लिए गर्भवती महिला को फोलिक एसिड युक्त आहार खाने की सलाह दी जाती है। और काजू में फोलिक एसिड मौजूद होता है जो गर्भ में शिशु के दिमागी विकास को बेहतर करने के साथ शिशु को जन्मदोष से सुरक्षित रखने में भी मदद करता है।

आयरन: काजू में आयरन भी मौजूद होता है जो गर्भवती महिला के शरीर में खून की कमी को पूरा करने में मदद करता है।

मैग्नीशियम: मैग्नीशियम से भरपूर काजू गर्भवती महिला को हाई ब्लड प्रैशर की समस्या, ब्लड शुगर जैसी समस्या से बचाव करने में मदद करती है।

प्रेगनेंसी में किशमिश खाने के फायदे

गर्भावस्था के दौरान यदि महिला किशमिश का सेवन करती है। तो किशमिश में मौजूद फाइबर, आयरन, जैसे पोषक तत्व गर्भवती महिला के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। तो आइये अब जानते हैं प्रेगनेंसी के दौरान किशमिश खाने से कौन से फायदे मिलते हैं।

फाइबर: किशमिश में फाइबर प्रचुर मात्रा में मौजूद होता है। जो गर्भवती महिला के पाचन तंत्र को दुरुस्त करने में मदद करता है जिससे कब्ज़, अपच जैसी परेशानी से प्रेग्नेंट महिला को बचे रहने में मदद मिलती है।

आयरन: किशमिश में आयरन भी मौजूद होता है जो गर्भवती महिला के शरीर में खून की कमी को पूरा करके महिला को एनीमिया से बचाव करने में मदद करता है।

कैल्शियम: काजू में कैल्शियम भी प्रचुर मात्रा में मौजूद होता है जो गर्भवती महिला की हड्डियों को मजबूत करने के साथ गर्भ में शिशु की हड्डियों को मजबूत करने में भी मदद करते हैं।

ऊर्जा बढ़ती है: प्रेगनेंसी के दौरान महिला को थकान व् कमजोरी की समस्या होना आम बात होती है। और किशमिश का सेवन करने से गर्भवती महिला को ऊर्जा से भरपूर रहने में मदद मिलती है।

काजू और किशमिश का एक साथ सेवन करने से क्या फायदे मिलते हैं?

काजू और किशमिश दोनों ही पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। ऐसे में यदि प्रेग्नेंट महिला काजू और किशमिश का एक साथ सेवन करती है तो इससे प्रेग्नेंट महिला को दुगुने फायदे मिलते हैं। जिससे प्रेगनेंसी के दौरान महिला को स्वस्थ रहने और गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर शारीरिक व् मानसिक विकास में मदद मिलती है।

तो यह हैं कुछ बेहतरीन फायदे जो गर्भवती महिला को काजू व् किशमिश का सेवन करने से मिलते हैं। लेकिन ध्यान रखें की यह तभी फायदेमंद होते हैं जब आप इनका सिमित मात्रा में सेवन करते हैं। यदि आप जरुरत से ज्यादा इनका सेवन करते हैं तो यह गर्भवती महिला को फायदे की जगह नुकसान भी पहुंचा सकते हैं।