प्रेगनेंसी में कुछ महिलाओं का पेट क्यों नहीं दिखाई देता?

गर्भावस्था के दौरान तीन महीने के बाद थोड़ा थोड़ा महिला का पेट बाहर निकलना शुरू हो जाता है। और जिन लोगो को प्रेगनेंसी की शुरुआत में यह पता नहीं होता है की आप प्रेग्नेंट हैं या नहीं वो आपके पेट को देख कर अंदाजा लगाने लगते हैं। लेकिन कुछ केस में देखने को मिलता है की कुछ महिलाओं का पेट ज्यादा बाहर की तरफ दिखाई नहीं देता है और उन्हें दूसरी तिमाही में देखकर भी अंदाजा लगाना मुश्किल हो सकता की महिला गर्भवती है या नहीं। और महिला का पेट बाहर अधिक न दिखने पर कुछ महिलाएं परेशान भी हो सकती है। की आखिर उनका पेट क्यों दिखाई नहीं दे रहा है। क्योंकि प्रेगनेंसी के दौरान पेट बाहर निकलना स्वस्थ प्रेगनेंसी और गर्भ में शिशु के बेहतर विकास की निशानी होती है।

प्रेगनेंसी में पेट कम दिखने के कारण

गर्भावस्था के दौरान पेट के बाहर कम निकलने के कारण कुछ महिलाएं परेशान हो सकती है। लेकिन महिला के पेट के बाहर न निकलने का कोई एक कारण नहीं होता है और ऐसा भी जरुरी नहीं है की पेट का बाहर कम निकलना हमेशा किसी समस्या का संकेत हो। तो आइये अब विस्तार से जानते हैं की प्रेग्नेंट महिला के पेट के कम बाहर निकलने के क्या कारण होते हैं।

पहली प्रेगनेंसी

पहली प्रेगनेंसी के दौरान महिला की मांसपेशियां अच्छे से जुडी हुई होती है उनमे लचीलापन कम होता है, जबकि दूसरी प्रेगनेंसी में मांसपेशियों में लचीलापन अधिक होता है। इसीलिए पहली प्रेगनेंसी के दौरान महिला को पेट थोड़ा कम बाहर महसूस हो सकता है जबकि दूसरी प्रेगनेंसी में पेट बाहर की तरफ दिखाई देना जल्दी शुरू हो सकता है।

लम्बाई

गर्भवती महिला की लम्बाई यदि अधिक होती है तो इसके कारण गर्भ में शिशु को ज्यादा जगह मिलती है। और जब शिशु को घूमने के लिए जगह मिल जाती है तो इसके कारण भी महिला का पेट बाहर की तरफ कम दिखाई से सकता है। जबकि जिन महिलाओं की लम्बाई कम होती है उनका पेट बाहर की तरफ ज्यादा दिखाई दे सकता है।

एमनियोटिक फ्लूड

गर्भ में शिशु एमनियोटिक फ्लूड में होता है और यदि गर्भ में एमनियोटिक फ्लूड की कमी होती है। तो इसके कारण भी गर्भाशय का आकार कम बढ़ता है और इसके कारण गर्भ में शिशु को भी दिक्कत हो सकती है। ऐसे में गर्भ में एमनियोटिक फ्लूड की कमी होने के कारण भी महिला का पेट बाहर की और कम दिखाई दे सकता है।

शिशु के वजन में कमी

यदि गर्भ में पल रहे शिशु को भरपूर मात्रा में पोषक तत्व नहीं मिलते हैं जो उसके शारीरिक विकास के लिए जरुरी होते हैं। तो इसके कारण शिशु के विकास में कमी आ सकती है जिसके कारण शिशु का विकास अच्छे से न होने के कारण महिला का पेट बाहर की और कम दिखाई से सकता है। इसके बारे में डॉक्टर अल्ट्रासॉउन्ड या अन्य चेकअप के दौरान आपको बता सकते हैं, ऐसे में शिशु के विकास में किसी तरह की कमी न हो इसके लिए महिला को अपनी सेहत का अच्छे से ध्यान रखना चाहिए।

तो यह हैं कुछ कारण जिनकी वजह से गर्भवती महिला का पेट बाहर की तरफ कम महसूस हो सकता है। ऐसे में घबराने की कोई बात नहीं होती है। और इसे लेकर यदि आपके मन में कोई चिंता हो तो आप डॉक्टर से भी राय ले सकती है।