Lifestyle Blog India
प्रेगनेंसी

प्रेगनेंसी में कैल्शियम और आयरन नहीं लेने पर क्या- क्या दिक्कत होती है

प्रेगनेंसी में कैल्शियम और आयरन की कमी के नुकसान, प्रेगनेंसी में आयरन की कमी के कारण आने वाली परेशानियां, गर्भवती महिला को कैल्शियम की कमी के कारण आने वाली समस्याएं

गर्भवती महिला को प्रेगनेंसी के दौरान भरपूर मात्रा में पोषक तत्व लेने की सलाह दी जाती है, ताकि इससे गर्भवती महिला को स्वस्थ रहने के साथ गर्भ में पल रहे शिशु को भी स्वस्थ रहने में मदद मिल सके। और यदि गर्भवती महिला के शरीर में यदि पोषक तत्वों की कमी होती है तो इसके कारण प्रेगनेंसी के दौरान महिला को बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ता है साथ ही शिशु के विकास में भी कमी आ सकती है। इसीलिए प्रेगनेंसी के दौरान डॉक्टर द्वारा भी गर्भवती महिला को फोलिक एसिड, आयरन, कैल्शियम की गोलियां खाने की सलाह दी जाती है। लेकिन यदि गर्भवती महिला इनका सेवन सही तरीके से नहीं करती है तो प्रेगनेंसी के दौरान महिला की परेशानियां बढ़ सकती है। तो आइये अब विस्तार से जानते हैं की प्रेगनेंसी के दौरान कैल्शियम व् आयरन की कमी के कारण होने वाली समस्याएं कौन सी है।

एनीमिया

एनीमिया की समस्या का कारण बॉडी में खून की कमी होता है, और इसके कारण शिशु के विकास में कमी आने के साथ, कमजोरी, थकान, डिलीवरी के दौरान परेशानी, चक्कर, आदि की समस्या का सामना गर्भवती महिला को भी करना पड़ सकता है। इसीलिए प्रेगनेंसी के दौरान शिशु के बेहतर विकास और गर्भवती महिला को स्वास्थ्य को फिट रखने के लिए आयरन की कमी को शरीर में नहीं होने देना चाहिए।

READ  गर्भ में नन्ही जान ऐसे होता है नाराज़

हड्डियों में कमजोरी

शिशु के बेहतर शारीरिक विकास और गर्भवती महिला को प्रेगनेंसी के दौरान स्वस्थ रखने के लिए बहुत जरुरी होता है की शरीर में कैल्शियम की मात्रा भरपूर हो। क्योंकि शरीर में कैल्शियम की कमी होने के कारण शरीर अपनी जरुरत को पूरा करने के लिए कैल्शियम हड्डियों से लेने लगता है जिसके कारण हड्डियों में कमजोरी आ जाती है। इसीलिए प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला और गर्भ में पल रहे शिशु की हड्डियों की मजबूती के लिए कैल्शियम व् आयरन की मात्रा भरपूर लेनी चाहिए।

शिशु के विकास में कमी

गर्भ में पल रहे शिशु का विकास पूरी तरह से गर्भवती महिला पर निर्भर करता है। लेकिन यदि गर्भवती महिला के शरीर में पोषक तत्व जैसे कैल्शियम, आयरन की कमी होती है तो इसके कारण शिशु को गर्भ में पोषक तत्व भरपूर नहीं मिल पाते हैं। और पोषक तत्वों की कमी होने के कारण शिशु के शारीरिक विकास में कमी आ सकती है।

शरीर में दर्द व् कमजोरी

प्रेगनेंसी के दौरान खून की कमी होने के साथ हड्डियों में कमजोरी आने का कारण बॉडी में आयरन व् कैल्शियम की कमी के कारण हो सकता है। और इनकी कमी होने के कारण महिला को पीठ में दर्द, सिर दर्द, जोड़ो में दर्द, जल्दी थकान, कमजोरी का अनुभव होने की समस्या होने लगती है, जिसके कारण प्रेगनेंसी के दौरान महिला को बहुत ज्यादा परेशानी का अनुभव करना पड़ सकता है।

ऑक्सीजन बेहतर तरीके से नहीं मिलती है

लाल रक्त कोशिकाओं के माध्यम से ही बॉडी में सभी अंगो और उत्तकों तक पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन का प्रवाह होता है, और गर्भ में पल रहे शिशु को भी रक्त के माध्यम से ही ऑक्सीजन पहुंचाई जाती है। ऐसे में प्रेगनेंसी के दौरान आयरन की कमी होने के कारण बॉडी में पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं पहुँच पाती है जो की गर्भवती महिला और गर्भ में पल रहे शिशु दोनों के स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक होता है।

READ  प्रेग्नेंट महिला को सर्दियों में चुकंदर खाने के फायदे

तो यह हैं कुछ नुकसान जो गर्भवती महिला को कैल्शियम व् आयरन की कमी के कारण हो सकते है, इसके अलावा प्रेगनेंसी के दौरान कैल्शियम व् आयरन की दवाई का सेवन कभी भी आपको खाली पेट नहीं करना चाहिए। खाने के आधे घंटे बाद ही इनका सेवन करें क्योंकि खाली पेट सेवन करने से आपको मुंह सूखना, बार- बार पेशाब जाने की इच्छा होना, मुंह का स्वाद बिगड़ना, उल्टियां होना, कब्ज, पेट में गैस, भूख न लगना, पेट में दर्द, आदि जैसी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

Related posts

प्रेगनेंसी में पेट साफ़ करने के तरीके प्रेगनेंसी में

Suruchi Chawla

अगर गर्भवती महिला रोजाना शहद का सेवन करती है तो क्या-क्या फायदे हो सकते हैं?

Indian

स्ट्रेचमार्क्स से कैसे बचें? डिलीवरी से पहले और बाद में क्या करें

Indian

Leave a Comment