Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

प्रेगनेंसी में यह लक्षण दिखें तो तुरंत डॉक्टर से मिलें

0

प्रेगनेंसी में यह लक्षण दिखें तो तुरंत डॉक्टर से मिलें, प्रेगनेंसी के दौरान डॉक्टर से कब मिलें, प्रेगनेंसी के इन लक्षण को न करें अनदेखा, If you see this symptoms in pregnancy contact the doctor

प्रेगनेंसी के दौरान डॉक्टर से मिलने का सिलसिला चलता रहता है, क्योंकि इस दौरान समय समय पर जांच और गर्भ में पल रहे शिशु का परिक्षण करवाना जरुरी होता है। इसके अलावा प्रेगनेंसी के दौरान महिला को बहुत सी परेशानियां होती हैं, लेकिन कई बार कुछ ऐसी चीजें भी होती है जिसके कारण महिला को ज्यादा दिक्कत का अनुभव होता है। ऐसे में इन बातों को बिल्कुल भी नज़रअंदाज़ नहीं करना चाहिए और जितना जल्दी हो सके डॉक्टर से मिलना चाहिए। क्योंकि हो सकता है यदि आप देरी करें या इसे नज़रअंदाज़ करें तो इससे आपकी समस्या बढ़ सकती है। जैसे की प्रेगनेंसी में ब्लीडिंग का होना, तेजी से पेट में दर्द होना, ज्यादा उल्टियां आना, प्राइवेट पार्ट से पानी निकलना, आदि। तो आइये अब विस्तार से जानते हैं की प्रेगनेंसी में किन किन लक्षणों के होने पर तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए।

स्पॉटिंग होने पर

कई बार प्रेगनेंसी के दौरान थोड़ा बहुत खून के धब्बे लगना आम बात होती है। लेकिन यदि प्रेगनेंसी की शुरुआत में ऐसा होता है और ब्लड अधिक निकलता है तो यह गर्भपात का लक्षण होता है। और तीन महीने के बाद यदि ऐसा होता है और कभी कभी होता हो तो भी इसे इग्नोर नहीं करना चाहिए। और इसके लिए डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। क्योंकि प्रेगनेंसी के दौरान ब्लीडिंग भी खतरे का संकेत होती है।

प्राइवेट पार्ट से अधिक पानी निकलने पर

सफ़ेद पानी की समस्या का होना प्रेगनेंसी के दौरान आम बात होती है और यह प्रेगनेंसी के दौरान आपको इन्फेक्शन से बचाने में भी मदद करती है। लेकिन यदि कभी आपको ऐसा लगे की वजाइना से पानी बहुत ज्यादा निकल रहा है तो ऐसा बेबी बैग के फटने के कारण हो सकता है। ऐसे में पानी का ज्यादा बाहर निकलने के कारण बाद में शिशु को परेशानी हो सकती है इसके लिए आपको इस लक्षण को इग्नोर न करते हुए जितना जल्दी हो सके डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

पेट में तेजी से दर्द का अनुभव होने पर

पेट में हल्का फुल्का दर्द रहना प्रेगनेंसी के दौरान आम बात होती है लेकिन यदि कभी आपको पेट में तेजी से दर्द हो और असहनीय हो। तो इसे नज़रअंदाज़ नहीं करना चाहिए, और जितना जल्दी हो सके डॉक्टर से मिलना चाहिए। यदि प्रेगनेंसी के आखिरी दिनों में आपको इस दर्द का अनुभव होता है तो यह लेबर पेन भी हो सकता है।

गर्भ में शिशु का मूवमेंट न होने पर

प्रेगनेंसी के चौथे महीने के बाद गर्भ में शिशु का मूवमेंट शुरू हो जाता है। शुरुआत में गर्भ में शिशु कम समय के लिए मूवमेंट करता है, लेकिन धीरे धीरे यह बढ़ने लगती है। और कभी यदि मूवमेंट शुरू होने के बाद आपको ऐसा महसूस हो की आपके शिशु ने लम्बे समय तक कोई हलचल नहीं की है तो इस बात को जरा भी अनदेखा न करते हुए तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए। क्योंकि यदि आप थोड़ी भी देरी करते हैं तो शायद इसका परिणाम अच्छा नहीं होता है।

उल्टी, सिर दर्द, आदि परेशानी के ज्यादा होने पर

प्रेगनेंसी के दौरान बहुत सी जटिलताओं का सामना महिला को करना पड़ता है, ऐसे में यदि आपको उल्टी, सिर दर्द, कमजोरी, थकान, या ने कोई भी समस्या बहुत ज्यादा होने लगती है। तो ऐसे में इसके इलाज के लिए आपको घर पर अपने आप किसी भी दवाई आदि का सेवन नहीं करना चाहिए बल्कि जितना जल्दी हो सके आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए। क्योंकि यदि आप कमजोर रहती है या किसी परेशानी में रहती है तो गर्भ में पल रहे शिशु पर भी इसका असर पड़ता है।

तो यह हैं कुछ लक्षण जिन्हे महिलाओं को बिल्कुल भी प्रेगनेंसी के दौरान नज़रअंदाज़ नहीं करना चाहिए। और जितना जल्दी हो सके डॉक्टर से मिलना चाहिए, ताकि यदि कोई दिक्कत है तो उसका समाधान करके आपको इस परेशानी से निजात दिलाने में मदद मिल सके।

विडिओ प्रेग्नेंसी के ये लक्षण दिखें तो तुरंत डॉक्टर से मिलें

Leave a comment