लीची खाने के 10 फायदे गर्भवती महिलाओं के लिए

लीची खाने के 10 फायदे गर्भवती महिलाओं के लिए
0

लीची खाने के 10 फायदे गर्भवती महिलाओं के लिए, लीची खाने के फायदे, गर्भवती महिला को लीची क्यों खाना चाहिए, प्रेगनेंसी में लीची खाने के फायदे, गर्भवस्था के दौरान लीची खाने के फायदे, Benefits of eating litchi during pregnancy

लीची गर्मियों में आने वाला फल है, और यह थोड़े समय के लिए ही आपको मार्किट में दिखाई देता है। मीठा व् रस से भरा यह फल पौष्टिक तत्वों से भी भरपूर होता है, इसमें विटामिन्स, फोलेट, कॉपर, मिनरल्स आदि भरपूर मात्रा में होते हैं जो गर्भवती महिला के साथ गर्भ में पल रहे शिशु के लिए फायदेमंद होते हैं। लेकिन इसका अधिक सेवन भी नहीं करना चाहिए, तो आइये अब विस्तार से जानते हैं की गर्भवती महिला को लीची का सेवन करने से कौन कौन से फायदे मिलते हैं।

विटामिन सी मिलता है

लीची का सेवन करने से इम्यून सिस्टम को मजबूत होने में मदद मिलती है, क्योंकि इसमें विटामिन सी भरपूर मात्रा में होता है जो की इम्यून सिस्टम को मजबूत रखने के लिए एक बेहतरीन एंटी ऑक्सीडेंट है। और इम्यून सिस्टम के मजबूत होने से प्रेगनेंसी के दौरान शरीर को संक्रमण से बचाव करने में मदद मिलती है और यह बीमारियों को होने से रोकता है। लीची में फ्लेवोनोइड्स भी होते हैं जो की पुरानी बीमारियों और कैंसर को रोकने में भूमिका निभाते हैं।

ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है

लीची ब्लड में हीमोग्लोबिन के स्तर को कण्ट्रोल करने में मदद करती है साथ ही लीची में मैग्नीशियम, आयरन, मैंगनीज, विटामिन सी और फोलेट भी भरपूर मात्रा में मौजूद होते है, जिससे यह सभी बॉडी में ब्लड फ्लो को बेहतर तरीके से होने में मदद करते हैं। साथ ही ब्लड प्रैशर को भी कम करते हैं और स्ट्रोक की संभावना कम करते हैं।

स्किन की ख़ूबसूरती को बरकरार रखता है

गर्भवती महिला के बॉडी में होने वाले हार्मोनल बदलाव के कारण स्किन का डल पड़ना, दाने की समस्या होना ,झुर्रिया दिखाई देना, आदि आम बात होती है। ऐसे में लीची का सेवन करने से प्रेगनेंसी के दौरान भी आपकी स्किन को पोषण देता है जिससे चेहरे की चमक को बरकरार रहने में मदद मिलती है। क्योंकि लीची एंटीऑक्सिडेंट मौजूद होते हैं जो त्वचा को पोषण देने और त्वचा की कोमलता को बढ़ने के साथ त्वचा की टोन को निखारने में मदद करते है।

कब्ज़ से राहत

कुछ गर्भवती महिलाएं प्रेगनेंसी के दौरान कब्ज़ की समस्या से बहुत अधिक परेशान रहती है। ऐसे में लीची का सेवन करने से पाचन क्रिया को बेहतर होने में सहायता मिलती है जिससे आपको कब्ज़ की समस्या से राहत मिलती है। और साथ ही लीची में पानी और फाइबर की मात्रा अधिक होने के कारण यह बवासीर और पेट के कैंसर के जोखिम को कम करते हैं।

पोटैशियम मिलता है

गर्भवती महिला को थकान की समस्या होना, कमजोरी महसूस होना, मांसपेशियों में ऐंठन आदि की समस्या प्रेगनेंसी के दौरान हो सकती है। ऐसे में लीची जो की पोटैशियम से भरपूर होती है उसका सेवन करने से प्रेग्नेंट महिला को इन सभी परेशानियों से बचाव करने में मदद मिलती है, साथ ही बॉडी में एनर्जी को भरपूर बनाये रखने में मदद मिलती है।

एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं

कुछ महिलाएं प्रेगनेंसी के दौरान पैरों में होने वाली सूजन की समस्या से भी परेशान रहते हैं। ऐसे में लीची में मौजूद एंटी इंफ्लेमेटरी गुण गर्भवती महिला को सूजन की समस्या से राहत दिलाने में मदद करते हैं।

कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित रखता है

ब्लड में यदि बेड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ जाती है तो इसके कारण गर्भवती महिला को स्वास्थ्य सम्बन्धी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में लीची का सेवन करने से बेड कोलेस्ट्रॉल को कम करके रक्त में गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने में मदद मिलती है।

इलेक्ट्रोलाइट संतुलन को नियंत्रित करता है

कई बार प्रेगनेंसी के दौरान डिहाइड्रेशन का होना एक आम समस्या है और ऐसे में यदि महिला लीची का सेवन करती है तो इससे शरीर में इलेक्ट्रोलाइट के असंतुलन को खत्म करती है। जिससे बॉडी में पानी की कमी को पूरा करने में मदद मिलती है और डिहाइड्रेशन की समस्या से आपको आराम मिलता है।

फोलेट लीची में होता है भरपूर

फोलिक एसिड और फोलेट से भरपूर लीची का सेवन करने से केवल गर्भवती महिला को ही नहीं बल्कि गर्भ में पल रहे शिशु को भी फायदा मिलता है। क्योंकि यह शिशु के शारीरिक विकास को बेहतर करने के साथ, तंत्रिका तंत्र और दिमाग के बेहतर विकास में भी मदद करती है।

मीठेपन का अहसास दिलाता है

कुछ महिलाएं प्रेगनेंसी में मीठा खाना पसंद करती है, लेकिन अधिक मात्रा में मिठाईया व् चॉकलेट आदि का सेवन करने से वजन बढ़ने जैसी समस्या हो सकती है, जिसके कारण गर्भवती महिला को प्रेगनेंसी के दौरान बहुत सी परेशनियों का का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में लीची का सेवन करने से महिला की मीठा खाने की इच्छा भी पूरी हो जाती है और वजन भी नियंत्रित रहता है।

तो यह हैं कुछ फायदे जो लीची का सेवन प्रेगनेंसी के दौरान करने से होते हैं और प्रेगनेंसी के आलावा भी इसका सेवन किया जाएँ तो यह आपको फिट रखने के साथ उम्र बढ़ने के लक्षणों को कम करने के साथ आपकी ख़ूबसूरती को भी बरकरार रखने में मदद करते हैं। इसीलिए गर्मियों में जब भी लीची आये तो इसका सेवन जरूर करना चाहिए। लेकिन पर्याप्त मात्रा में ही सिका सेवन करें क्योंकि अधिक मात्रा में इसका सेवन करने से गेस्टेशनल डाइबिटीज़, बॉडी का तापमान बढ़ना जैसी परेशानी प्रेगनेंसी के दौरान हो सकती है।