Mom Pregnancy Health Lifestyle

गर्भावस्था में पालक खाने के फायदे

गर्भावस्था में पालक खाने के फायदे
0

गर्भावस्था में पालक खाने के फायदे, प्रेगनेंसी में पालक खाने के फायदे, पालक खाने के फायदे, इन फायदों के लिए गर्भावस्था में जरूर खाएं पालक, प्रेगनेंसी में पालक खाने से मिलते हैं यह फायदे

प्रेगनेंसी के दौरान महिला को अपना विशेष ख्याल रखने की सलाह दी जाती है। गर्भवती महिला को उठने, बैठने, आराम करने, खान पान आदि में बहुत सावधानी बरतनी पड़ती है। और महिला को ऐसा आहार लेने की सालाह दी जाती है जो न केवल पोषक तत्वों से भरपूर हो बल्कि जिससे शिशु के विकास और गर्भवती महिला को स्वस्थ रहने में मदद मिल सके। गर्भावस्था के समय महिला को हरी सब्जियों को भरपूर मात्रा में खाने की सलाह दी जाती है, तो आज हम आपको प्रेगनेंसी के दौरान पालक जो की हरी सब्जियों में से एक है उसे खाने से कौन कौन से फायदे मिलते हैं उस बारे में बताने जा रहे हैं। पालक में आयरन, फाइबर, पानी, फोलिक एसिड, फोलेट, व् अन्य पोषक तत्व भरपूर मात्रा में मौजूद होते है। तो लीजिये अब जानते हैं की पालक खाने से गर्भवती महिला और गर्भ में पल रहे शिशु को कौन कौन से फायदे मिलते हैं।

एनीमिया से बचाव होता है

आयरन की भरपूर मात्रा होने के कारण पालक का सेवन प्रेगनेंसी के दौरान करने से गर्भवती महिला और शिशु को खून की कमी की समस्या से परेशान नहीं होना पड़ता है। साथ ही शिशु और गर्भवती महिला दोनों को एनीमिया की समस्या से बचाव करने में मदद मिलती है। और यदि महिला के शरीर में खून की मात्रा पूरी होती है तो शिशु के वजन में कमी, डिलीवरी के समय होने वाली परेशानी, आदि समस्या से भी बचाव होता है।

कब्ज़ से राहत

प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिलाओं को कब्ज़ की समस्या होना आम बात होती है, ज्यादातर महिलाएं इस समस्या से परेशान हो सकती हैं। ऐसे में यदि गर्भवती महिला यदि पालक का सेवन करती है तो इससे गर्भवती महिला को कब्ज़ से राहत मिलती है और पाचन क्रिया भी बेहतर होती है। क्योंकि पालक में भरपूर मात्रा में फाइबर होता है।

समयपूर्व प्रसव से बचाता है

गर्भवती महिला के शरीर में यदि फोलिक एसिड की कमी होती है तो इसके कारण महिला को गर्भपात या समयपूर्व प्रसव जैसी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। और पालक में फोलिक एसिड भरपूर मात्रा में होता है, जो की गर्भवती महिला को इस समस्या से बचाने में मदद करता है, इसीलिए पालक का सेवन गर्भवती महिला को करने की सलाह दी जाती है।

ऊर्जा से रखता है भरपूर

प्रेगनेंसी के दौरान बॉडी में हो रहे हार्मोनल बदलाव के कारण महिला को कमजोरी, थकान की समस्या होना आम बात होती है। और पालक में मौजूद पोषक तत्व महिला के शरीर को एनर्जी से भरपूर रखने में मदद करते हैं, जिससे महिला को कमजोरी व् थकान की समस्या से निजात मिलता है। साथ ही बॉडी में होने वाले दर्द से भी निजात दिलाने में मदद करता है।

ब्लड प्रैशर कण्ट्रोल करता है

प्रेगनेंसी के समय हाई ब्लड प्रैशर होने के कारण गर्भवती महिला और गर्भ में पल रहे शिशु दोनों को परेशानी हो सकती है। लेकिन यदि आप पालक का सेवन करती है तो इसमें मौजूद तत्व आपके ब्लड प्रैशर को कण्ट्रोल में रखने में मदद करते हैं।

इम्यून सिस्टम को मजबूत बनता है

विटामिन सी से भरपूर पालक का सेवन करने से प्रेगनेंसी के दौरान महिला का इम्यून सिस्टम मजबूत रहता है। जिससे शिशु और गर्भवती महिला दोनों को हर तरह के इन्फेक्शन से बचाव करने में मदद मिलती है।

कैल्शियम मिलता है भरपूर

गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिला की हड्डियों पर बहुत जोर पड़ता है, जिसके कारण कमजोरी महसूस हो सकती है। साथ ही गर्भ में पल रहे शिशु की हड्डियों के विकास के लिए भी कैल्शियम का बॉडी में भरपूर होना बहुत जरुरी होता है। ऐसे में यदि गर्भवती महिला पालक का सेवन करती है तो इससे महिला की हड्डियों को मजबूती मिलने के साथ शिशु के हड्डियों के विकास में भी मदद मिलती है।

गर्भ में शिशु को मिलता है पोषण

गर्भ में शिशु के बेहतर शारीरिक विकास के लिए पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्वों का मिलना बहुत जरुरी होता है। और पालक का सेवन करने से महिला की बॉडी में पोषक तत्वों की मात्रा भरपूर होती है जो की शिशु को भी पर्याप्त मात्रा में मिलते हैं जिससे गर्भ में पल रहे शिशु को बेहतर पोषण पहुंचाने में मदद मिलती है।

गर्भ में शिशु के अंगो का होता है बेहतर विकास

पालक में मौजूद पौष्टिक तत्व गर्भ में पल रहे शिशु के अंगो के बेहतर विकास में भी मदद करते हैं। इसके सेवन से शिशु के दिमाग, फेफड़े, आदि अंगो का विकास अच्छे से होता है जिससे शिशु को हर प्रकार के बर्थ डिफेक्ट्स से बचाने में मदद मिलती है।

शिशु का मानसिक विकास होता है बेहतर

हर गर्भवती महिला चाहती है की उसके गर्भ में पल रहा शिशु हष्ट पुष्ट व् बुद्धिमान हो, ऐसे में पालक में मौजूद पौष्टिक तत्व शिशु के मानसिक विकास को बेहतर करने में मदद करते हैं, जिससे शिशु का दिमाग तेज होता है।

तो यह हैं कुछ फायदे जो प्रेगनेंसी के दौरान पालक का सेवन करने से गर्भवती महिला और गर्भ में पल रहे शिशु को मिलते हैं। इसीलिए इसका सेवन गर्भवती महिला को जरूर करना चाहिए आप इसे सूप, सब्ज़ी, या किसी अन्य रूप में भी ले सकती है, लेकिन इसे अच्छे से धोने के बाद इस्तेमाल करें और साथ ही ताज़ी पालक का ही सेवन करें।