Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

गर्भावस्था से जुडी झूठी बातें जिसे सब सच मानते हैं?

0

प्रेगनेंसी कन्फर्म होने के बाद से ही महिला को हर कोई राय देने लगता है सलाह देने लगता है और प्रेगनेंसी से जुडी बातें बताने लगता है। लेकिन इसमें से कुछ बातें ऐसी होती है जो बिल्कुल सही नहीं होती है, कुछ सलाह ऐसी होती है जो पूरी तरह सही नहीं होती है। आज इस आर्टिकल में हम आपको प्रेगनेंसी से जुडी इन्ही झूठी बातों के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपको भी प्रेगनेंसी के दौरान शायद किसी ने जरूर कहीं होंगी तो आइये अब जानते हैं की वो बातें कौन सी है।

गर्भावस्था के दौरान महिला को दो लोगो के लिए खाना चाहिए

अधिकतर गर्भवती महिलाओं को यह सलाह भी मिलती होगी की प्रेगनेंसी के दौरान महिला को दो लोगो के लिए खाना चाहिए। जबकि महिला को केवल उतना ही खाना चाहिए जितना महिला आराम से हज़म कर सके और यदि महिला जरुरत से ज्यादा खाती है तो इसकी वजह से महिला का जरुरत से ज्यादा वजन बढ़ जाता है। जिसके कारण माँ और बच्चे को दिक्कत होने का खतरा रहता है।

बिना अल्ट्रासॉउन्ड के बच्चा लड़का है या लड़की इसका पता चल जाता है

गर्भावस्था के दौरान महिला के शरीर में बहुत से अलग अलग लक्षण महसूस होते हैं। ऐसे में लोग ऐसा मानते हैं की बिना अल्ट्रासॉउन्ड के केवल उन्ही लक्षणों को देखने से वो यह बता सकते हैं की गर्भ में लड़का होगा या लड़की होगी। जैसे की महिला अगर मीठा अधिक खा रही है तो लड़की होगी और महिला यदि चटपटा अधिक खा रही है तो लड़का होगा जबकि यह केवल एक भ्रम है यह सच नहीं है।

प्रेग्नेंट महिला के कमरे में क्यूट बच्चे की फोटो लगाने से बच्चा क्यूट होता है

आपने देखा होगा की अधिकतर सभी गर्भवती महिलाएं अपने कमरे में क्यूट क्यूट बच्चों की फोटो लगा लेती है। और उसके पीछे का कारण यह होता है की ऐसा करने से उनका होने वाला बच्चा भी क्यूट और वैसा ही होता है जबकि सच यह हैं की बच्चा कैसा होगा यह उसके जीन्स पर निर्भर करता है। ऐसे में आप चाहे तो अपने कमरे में बच्चों की फोटो लगा सकती है ताकि आपका मन खुश रहे लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं सोचें की ऐसा करने से आपका होने वाला बच्चा वैसा ही होगा।

प्रेग्नेंट महिला को ट्रैवल नहीं करना चाहिए

यात्रा करने की जब भी बात आती है तो सभी यही कहते हैं की प्रेगनेंसी में ट्रैवल नहीं करना चाहिए हवाई यात्रा नहीं करनी चाहिए। जबकि यह भी गलत है क्योंकि ऐसा करने से भी माँ और बच्चे को कोई नुकसान नहीं होता है बस आपको एक बार डॉक्टर से सलाह ले लेनी चाहिए यदि आपने कहीं दूर जाना है।

गर्भवती महिला को सिर्फ आराम करना चाहिए

गर्भावस्था के दौरान महिला को आराम करना चाहिए यह बिल्कुल सही बात है लेकिन पूरा दिन आराम करना चाहिए यह बहुत गलत बात है। क्योंकि प्रेगनेंसी कोई बिमारी नहीं है जिसमे काम नहीं किया जाये ऐसे में गर्भवती महिला को फिट रहने के लिए घर का ऑफिस का काम जरूर करना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से माँ और बच्चे को कोई दिक्कत नहीं होती है।

गर्भवती महिला को सीढ़ियां नहीं चढ़नी चाहिए

प्रेग्नेंट महिला को सीढ़ियां नहीं चढ़नी चाहिए ऐसा भी आपको जरूर सुनने को मिला होगा लेकिन सच यह है की आराम से और सही चप्पल जूते पहनकर महिला सीढ़ियां चढ़ सकती है। और इसकी वजह से महिला को कोई दिक्कत नहीं होती है।

प्रेगनेंसी में एक्सरसाइज करने से गर्भपात हो जाता है

अधिकतर महिलाएं प्रेगनेंसी के दौरान एक्सरसाइज करना बंद कर देती है क्योंकि उन्हें ऐसा बताया जाता है की प्रेगनेंसी में एक्सरसाइज करने से गर्भपात हो जाता है। जबकि आपने देखा होगा की सभी हीरोइन प्रेगनेंसी के दौरान भी व्यायाम करती है तो उनका गर्भपात क्यों नहीं होता है। क्योंकि प्रेगनेंसी के दौरान केवल उन एक्सरसाइज को करने की मनाही होती है जिनसे पेट पर दबाव पड़ता है बाकी महिला आराम से बिना किसी डर के व्यायाम कर सकती है। और एक्सरसाइज करने से महिला और बच्चे दोनों को फायदा मिलता है इसके अलावा जिन गर्भवती महिलाओं को प्रेगनेंसी में कॉम्प्लीकेशन्स होते हैं उन्हें व्यायाम करने की मनाही होती है।

ज्यादा फ़ोन का इस्तेमाल करने से बच्चे को दिक्कत होती है

ज्यादा फ़ोन का इस्तेमाल करने से तनाव होना, आँखों से जुडी समस्या होना आम बात होती है। लेकिन यदि आपको किसी ने ऐसा कहा है की प्रेगनेंसी में फ़ोन देखने से बच्चे को नुकसान होता है तो यह बिल्कुल सही नहीं है।

प्रेग्नेंट महिला के सम्बन्ध बनाने से बच्चे को चोट लग जाती है

अधिकतर लोग आज भी प्रेगनेंसी के दौरान सम्बन्ध बनाने को सुरक्षित नहीं मानते हैं क्योंकि उन्हें ऐसा लगता है की प्रेगनेंसी में सम्बन्ध बनाने से बच्चे को चोट लग जाती है। जबकि सच यह हैं की स्वस्थ प्रेगनेंसी के दौरान डॉक्टर्स भी सम्बन्ध बनाने की सलाह देते हैं क्योंकि इससे महिला की परेशानियों को कम करने में मदद मिलती है। साथ ही गर्भ में बच्चा एमनियोटिक फ्लूड में होता है और यह फ्लूड बच्चे को सभी परेशानियों से बचे रहने में मदद करता है।

प्रेगनेंसी के समय चाय कॉफ़ी पीना खतरनाक होता है

गर्भावस्था के दौरान महिला को चाय कॉफ़ी बिल्कुल नहीं पीनी चाहिए क्योंकि इससे गर्भपात, बच्चे के विकास कमी होने खतरा होता है। जबकि सच यह हैं की महिला थोड़ा बहुत चाय कॉफ़ी का सेवन कर सकती है इससे माँ या बच्चे को कोई नुकसान नहीं होता है।

ज्यादा मसालेदार चीजें खाने से महिला का गर्भपात हो सकता है

प्रेग्नेंट महिला को अकसर यह भी कहा जाता है की ज्यादा मसालेदार चीजें खाने से महिला का गर्भपात हो सकता है। बल्कि सच यह हैं की ज्यासा मसालेदार चीजें खाने के कारण महिला को पेट में दर्द, गैस, सीने में जलन की समस्या अधिक होने का खतरा होता है।

मॉर्निंग सिकनेस केवल सुबह होती है

ऐसा भी महिला से कहा जाता है की मॉर्निंग सिकनेस यानी उल्टी, जी मिचलाना, थकावट, कमजोरी जैसी की समस्या महिला को सुबह अधिक होती है। जबकि ऐसा नहीं है प्रेगनेंसी के दौरान कुछ महिलाएं पूरा समय इस समस्या से परेशान रहती है।

एक बच्चा सिजेरियन होने के बाद दूसरा बच्चा नॉर्मल नहीं हो सकता

ऐसा बहुत सी गर्भवती महिलाएं आज तक भी सोचती है की यदि महिला का एक बच्चा सिजेरियन डिलीवरी से होता है तो दूसरा बच्चा नॉर्मल नहीं हो सकता है। जबकि ऐसा बिल्कुल नहीं है बल्कि यदि महिला की प्रेगनेंसी में किसी तरह की कॉम्प्लीकेशन्स नहीं है तो महिला की दूसरी डिलीवरी आराम से नॉर्मल हो जाती है। बस महिला को इस बात का ध्यान रखना जरुरी होता है की महिला प्रेगनेंसी के दौरान अपना अच्छे से ध्यान रखें।

तो यह हैं कुछ झूठ जो हो सकता है की आपको भी प्रेगनेंसी के दौरान किसी ने कहे हो, ऐसे में आपको भी प्रेगनेंसी के दौरान अपने ध्यान रखना चाहिए न की सभी की सलाह मानकर अलग अलग बातों को लेकर टेंशन लेनी चाहिए।

Pregnancy myths and facts

Leave a comment