Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

प्रेगनेंसी नहीं होने के क्या क्या कारण हो सकते हैं

0

महिला शादी के एक वर्ष के बीच यदि गर्भवती नहीं होती है तो लोगो का ऐसा मानना होता है की जरूर कोई समस्या हो गई है। लेकिन आज कल लोग शादी के कम से कम दो साल तक अपनी शादीशुदा लाइफ को एन्जॉय करना चाहते है और उसके बाद फैमिली प्लानिंग के बारे में सोचते हैं। लेकिन कुछ जोड़े ऐसे भी होते है जो शादी के बाद जल्दी ही माँ बाप बनने का सुख लेते है। ऐसे में परिवार वाले लोगो के ताने सुनने के डर से अपने बच्चों पर जोर डालने लगते हैं की उन्हें भी जल्दी से जल्दी अपने परिवार को आगे बढ़ाना चाहिए। लेकिन यदि वो माँ बाप बनने का फैसला लेने में देरी कर देते हैं तो बढ़ती उम्र के कारण कई बार महिला को प्रेग्नेंट न होने की समस्या से परेशान होना पड़ सकता है।

इसके अलावा बदलते लाइफस्टाइल का असर भी आज कल फर्टिलिटी की समस्या पर बहुत अधिक देखा जाता है। लोगो की गलत दिनचर्या, गलत आदतें और खराब जीवनशैली के कारण कई बार उन्हें माँ बाप बनने के सुख से वंचित रहना पड़ सकता है। कुछ लोग इन विट्रो फर्टिलाइजेशन का सहारा भी माँ बाप बनने के लिए लेते है। लेकिन फिर भी प्राकृतिक तरीको से प्रेगनेंसी न होने के कई कारण हो सकते है। तो आज हम ऐसे ही कुछ कारणों को आपको बताने जा रहे हैं जिनकी वजह से हो सकता है महिला को प्रेगनेंसी से जुडी समस्या का सामना करना पड़ रहा हो।

प्रेगनेंसी नहीं होने के क्या क्या कारण हो सकते हैं:– प्रेगनेंसी न होने के कई कारण हो सकते हैं ऐसे में आप चाहे तो इसका कारण पता करके इस समस्या का समाधान भी कर सकती है। तो आइये अब हम विस्तार से जानते हैं की प्रेगनेंसी न होने के क्या क्या कारण हो सकते हैं।

शुक्राणु से जुडी हो समस्या होने के कारण नहीं होता गर्भधारण:- गर्भधारण के लिए जरुरी होता है की महिला के अंडाणुओं तक पुरुष के शुक्राणु पर्याप्त मात्रा में पहुंचें जिससे की गर्भधारण हो सके। लेकिन कई बार ऐसा होता है की पुरुष के शुक्राणु का निर्माण कम होता है जिसके कारण यह समस्या हो सकती है। इसके अलावा ऐसा भी हो सकता है की पुरुष के शुक्राणु तो पर्याप्त होते है लेकिन वो महिला के अंडाणुओं तक पहुँच कर निषेचन नहीं कर पाते हैं जिसके कारण महिला का गर्भधारण नहीं होता है।

फैलोपियन ट्यूब या गर्भाशय से जुडी समस्या होने के कारण:- यदि महिला को गर्भाशय या फैलोपियन ट्यूब से जुडी कोई समस्या होती है। तो इसके कारण भी महिला को प्रेग्नेंट होने में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। और इसका कारण कई बार महिला का अधिक मात्रा में गर्भपात के लिए दवाइयों का सेवन करना, अधिक नशा करना आदि हो सकता है। जिसके कारण महिला की गर्भाशय की झिल्ली कमजोर होने लगती है या फिर फैलोपियन ट्यूब से जुडी परेशानी महिला को हो सकती है।

गलत खान पान के कारण भी नहीं होता है है गर्भधारण:- महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान कुछ ऐसे आहार बताए जाते हैं जिनका सेवन उनके लिए वर्जित होता है। ऐसे में यदि महिला उन आहार का अधिक मात्रा में सेवन करती है तो इसके कारण भी महिला का गर्भ नहीं ठहरता है, जैसे की कच्चा पपीता आदि। ऐसे में यदि महिला गर्भधारण करना चाहती है तो उसे उन चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए जो उनकी प्रेगनेंसी के दौरान दखल दे सकती है।

अच्छे सम्बन्ध बनाना भी होता है जरुरी:- प्रेगनेंसी के लिए महिला और पुरुष के सम्बन्धों का बेहतर तरीके से बनना भी जरुरी होता है। ऐसा नहीं होता है की आपने एक बार सम्बन्ध बना लिए हैं तो आप प्रेग्नेंट हो जाएंगी। इसके लिए अच्छे सम्बन्ध या फिर महिला को उस दौरान सम्बन्ध बनाने चाहिए जब उसका ओवुलेशन पीरियड (पीरियड के बाद ग्यारह से सत्रह दिन तक का समय ) चल रहा होता है। इस दौरान यदि महिला और पुरुष सम्बन्ध बनाते हैं तो महिला के गर्भ ठहरने के चांस बहुत ज्यादा होते हैं। और यदि महिला और पुरुष के सम्बन्ध बेहतर तरीके से नहीं बनते हैं तो भी महिला के गर्भ ठहरने में परेशानी हो सकती है।

तनाव भी है महिला को प्रेगनेंसी न होने के कारण:- महिला के गर्भपात का सबसे बड़ा कारण तनाव माना जाता है। ऐसे में यदि आप तनाव के लिए दवाइयों का सेवन करते हैं तो इसकी वजह से भी आपको प्रेगनेंसी नहीं होती है। और यदि आप प्रेग्नेंट होने चाहते हैं तो इसके लिए आपको अपनी डॉक्टर से बात करनी चाहिए।

उम्र भी है प्रेग्नेंट न होने का एक कारण:- आज कल बदलते लाइफस्टाइल के कारण शादी लोग लेट ही करते हैं ऐसे में प्रेगनेंसी को भी तीस की उम्र के बाद ही सही मानते हैं। लेकिन महिला की अधिक उम्र उसके प्रेग्नेंट न होने के कारण होती है। क्योंकि यदि आपकी उम्र तीस से अधिक होती है तो उसके बाद महिला के गर्भाशय में अंडे बनने कम होने लगते हैं। ऐसे में आज कल कई लोग प्राकृतिक रूप से माँ बाप बनने की बजाय मेडिकल द्वारा दी गई सुविधा इन विट्रो फर्टिलाइजेशन का इस्तेमाल करते हैं। इसीलिए यदि आप प्रेग्नेंट होना चाहती है तो पच्चीस की उम्र में भी आप यह निर्णय ले सकते है।

अंडाशय में अंडे न बनने के कारण:- कुछ महिलाएं होती है जो किसी शारीरिक बिमारी जैसे की थायरॉइड आदि से ग्रसित होती है, जिसके कारण महिला के गर्भ में आवश्यक अंडो का निर्माण नहीं हो पाता है। और महिला को प्रेगनेंसी से जुडी परेशानी का सामना करना पड़ता है। अधिक मात्रा में गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन करने से भी महिला को इस समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

अनियमित माहवारी का होना:- जो महिलाएं अनियमित माहवारी की समस्या से जूझ रही होती है, तो इसका असर उनके ओवुलेशन चक्र पर भी पड़ता है। जिसके कारण अंडा अच्छी तरह से विकसित नहीं हो पाता है। और अंडे के अच्छे से विकास न होने के कारण निषेचन क्रिया भी नहीं हो पाती है, जिसके कारण महिला को गर्भधारण से जुडी समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

बदलती जीवनशैली भी है महिला के प्रेग्नेंट न होने का कारण:- आज कल लोगो की बदलती जीवनशैली जैसे की खान पान में लापरवाही, आराम में लापरवाही, फिटनेस में लापरवाही, गलत आदतें आदि के कारण भी महिला का शरीर प्रभावित होता है जिसके कारण भी महिला को इस परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

तो यह हैं कुछ कारण जिसकी वजह से महिला गर्भवती नहीं हो पाती है। ऐसे में यदि आपको भी प्रेगनेंसी से जुडी कोई समस्या होती है, तो इसके लिए सबसे पहले आपको अपने डॉक्टर से राय लेनी चाहिए। और प्रेगनेंसी के न होने के कारण का पता करना चाहिए। ताकि आपको पता चल सके की आपके प्रेग्नेंट न होने का क्या कारण है। और यदि उसका इलाज संभव है तो आप उसका इलाज करके माँ बनने का सुख प्राप्त कर सकें।

Leave a comment