Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

बचना है रंगों के दुष्प्रभाव से तो ये अपनाएं!

0

होली के समय सभी यही सोचते है की काश! हम खुद को होली के रंगों के दुष्प्रभाव से बचा पाएं। लेकिन चाहते हुए भी हम इसे सम्भव नहीं कर पाते। इसीलिए आज हम आपको होली के रंगों के दुष्प्रभाव से बचने के कुछ खास उपाय बताने जा रहे है।

होली का त्यौहार आने में बहुत कम समय रह गया है। और इसी के साथ लोगों ने इस त्यौहार के लिए अपनी तैयारियां और शौपिंग करना भी शुरू कर दिया है। आजकल बाजारों में भी एक नइ रौनक देखने को मिलती है। वैसे तो ये त्यौहार खान पान और मौज मस्ती से भरपूर होता है लेकिन इसके खत्म होने के बाद होने वाली परेशानियाँ कोई नहीं भूलता। जिनमे सबसे पहला नाम रंगों के प्रभाव का आता है।

होली खेलने के दौरान हम बहुत से अच्छे और बुरे रंगों का इस्तेमाल करते है। लेकिन इन रंगों में मिले केमिकल आपकी त्वचा और आपके बालों को बहुत नुकसान पहुंचाते है। जिसे ठीक करने में हफ़्तों लग जाते है। त्वचा पर लगा ये कलर देखने में अच्छा नहीं लगता साथ-साथ आपकी त्वचा को भी खराब करता है। इसीलिए बेहतर होगा की होली से पहले खुद को अच्छे से तैयार कर लें।

क्योंकि होली खेलने का असली मजा पूरी मस्ती के साथ ही आता है। अब होली है तो रंग भी होंगे और रंग है तो त्वचा और बाल भी खराब होंगे। ऐसे में चिंता के साथ होली खेलना आपके मजे को खराब कर सकता है। तो बेहतर है की इसके लिए कुछ तैयारियां पहले ही कर लें। तो आइये जानते है होली के रंगों के हानिकारक प्रभावों से बचने के तरीके।

रंगों के हानिकारक प्रभावों से बचने के तरीके :- 

त्वचा के लिए आयल और मॉइस्चराइजर :

होली के समय रंगों का सबसे ज्यादा प्रभाव हमारी त्वचा पर भी पड़ता है। ऐसे में अपनी स्किन को रंगों से बचाने का सबसे असरदार और आसान तरीका है की आपकी बॉडी को मॉइस्चराइज करने से पहले थोडा ऑइलिंग कर लें। ये थोडा चिपचिपा हो सकता है लेकिन आपकी त्वचा को बचाने का सबसे बेहतरीन उपाय है। होली खेलने से पहले नहाना न भूलें।

और नहाने के तुरंत बाद गीले शरीर में ही सरसों का तेल या नारियल का तेल लगा लें। ऐसा करने से आयल पूरी तरह बॉडी में absorb हो जाएगा। और आपको चिपचिपेपन का एहसास भी नहीं होगा। तेल लगाने के बाद हमेशा की तरह मॉइस्चराइजर लगाना न भूलें। ये आपकी त्वचा को रंगों के हानिकारक प्रभाव से बचाने में मदद करेगा।

बालों में शैम्पू :

होली खेलने के दौरान आपके बालों में बहुत से रंग भर जाते है जिन्हें बाद में हटाना काफी मुश्किल हो जाता है। ऐसे में आपके लिए यही बेहतर होगा की होली के एक दिन पहले की शाम या होली खेलने के पहले अपने बालों की देखभाल करने के लिए कुछ करें। कुछ लोग सोचते है की जब बालों को गंदा होना ही है तो उनमे शैम्पू करने का कोई फायदा नहीं है। जबकि ऐसा बिलकुल भी नहीं है, क्योंकि बालों में पड़ी गंदगी और कलर मिलकर आपके बालों को कमजोर कर सकते है।

साथ ही कलर में मिले रासयन आपके बालाओं को डैमेज भी कर सकते है। इसके लिए सबसे पहले बालाओं को अच्छे से धो लें। बाल धोने के लिए शैम्पू की मदद जरुर लें। इसके बाद उन्होंने कंडीशनिंग भी करें। बालों के पूरी तरह सुख जाने के बाद उनमे ओलिव आयल या नारियल का तेल जरुर लगायें। इससे कलर आपके बालों की जड़ों तक नहीं पहुंचेगा और आपकी स्कैल्प को पूरा पोषण भी मिल जाएगा।

नाखूनों के लिए :

होली खेलने पर सबसे बुरा प्रभाव हमारे नाखूनों पर ही पड़ता है। क्योंकि होली खेलने पर हमारे नाखूनों पर रंग लग जाता है जो लाभ कोशिशों के बाद भी नहीं जाता। साथ ही ये रंग लगे नाख़ून दिखने में भी भद्दे लगते है। साथ ही हमारे हाथों की खूबसूरती में भी ग्रहण लगते है। इससे बचने के लिए बेहतर होगा की होली खेलने से पहले ही इनक सुरक्षा के लिए कुछ किया जाए।

इसके लिए ट्रांसपेरेंट नेल पेंट का सहारा ले सकते है। सबसे पहले अपने हाथ और पैर अच्छे से धो लें। उसके बाद हाथ और पैर के नाखूनों पर ट्रांसपेरेंट नेल पेंट लगायें। और आराम से होली खेले। होली खेलने के बाद जब आप नेल पेंट रिमोवर से नेल पेंट हटायेंगे तो आपके नाख़ून पहले की तरह सुन्दर और खुबसुरत बने रहेंगे।

अच्छे कपडे पहने :

खुद को रंगों से बचाने का सबसे अच्छा तरीका यही है अपने आप को पूरी तरह कवर करके ही होली खेलें। हमारे कहने के मतलब है की शार्ट ड्रेसेस के बजाय फूल स्लीव के कपडे पहने। ये आपकी त्वचा पर रंग नहीं लगने देंगे। इसके लिए आप फुल जीन्स, फुल स्लीव टी-शर्ट और बंद गले के कुर्तो का चयन कर सकते है।

लंबे बाल वाली लड़कियां इस बात का ध्यान रखे की उनके बालों में अधिक रंग न लगे। इसके लिए आप अपने बालों को गुंथकर रखे साथ ही उनमे deep ओइलिंग भी करें। छोटे बाल वाली लड़कियां कैप पहनकर होली खेल सकती है। अगर आपका जुड़ा बन सकता है तो वो और भी बेहतर होगा।

डैमेज कंट्रोल टिप्स :-

ये तो थी, होली से पहले करने वाली कुछ प्रीपरेशंस जिन्हें करके आप खुद को होली के रंगों के प्रभाव से बचा सकते है। लेकिन होली के बाद होने वाले बॉडी डैमेज से बच पाना थोडा मुश्किल है। इसीलिए नीचे हम आपको कुछ टिप्स देने जा रहे है, जिनकी मदद से होली के बाद होने वाली थकान और बॉडी डैमेज से बचा जा सकता है।

घरेलू उत्पाद :holi

त्वचा को बेहतर करने के लिए चने का आटा, शहद और दूध को मिलाकर एक स्क्रब तैयार कर लें और इससे अपनी बॉडी और फेस पर स्क्रब करें। ये आपके शरीर पर मौजूद कलर को आसानी से हटाने में मदद करेगा। साथ ही आपकी त्वचा मुलायम और चमकदार भी होगी। त्वचा को नमी देने के लिए मॉइस्चराइजिंग से पहले फ्रेश एलोवेरा जूस का इस्तेमाल करें।

बालों के लिए :

होली के तुरंत बाद ही अपने बालों में deep कंडीशनिंग कर लें। अगर आपके पास समय नहीं है तो आप इसे दुसरे दिन भी कर सकते है। लेकिन एक बार ऐसा जरुर करें। ये रंगों के द्वारा बालों को होने वाले नुकसान से बचाता है। इसके लिए दो बड़े चम्मच शहद में दो अंडे और एक बड़े चम्मच नारियल का तेल मिला लें। अच्छे से मिलाने के बाद बालों में लगा और कम से कम 1 घंटा लगे रहने दे। उसके बाद माइल्ड शैम्पू और एक अच्छे कंडीशनर से बाल धो लें। इससे आपके बाल खुबसुरत तो होंगे ही साथ-साथ उनको पोषण भी मिलेगा।

Leave a comment