Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

जुड़वां बच्चे होने के लक्षण

0

एक नन्ही जान को इस दुनिया में लाना महिला के लिए उसकी जिंदगी का सबसे बेहतरीन पल होता है। और यदि महिला को यह पता चल जाये की उसके गर्भ में एक नहीं बल्कि दो शिशु हैं तो यह ख़ुशी दुगुनी हो जाती है। गर्भावस्था के दौरान महिला बहुत से शारीरिक व् मानसिक बदलाव होते हैं जिनके कारण महिला की सेहत पर असर पड़ता है।

साथ ही बॉडी में बहुत से अलग अलग लक्षण भी महसूस होते हैं जिन्हे देखकर बहुत सी चीजों का अंदाज़ा लगाया जाता है। जैसे की गर्भ में बेटा है या बेटी है, गर्भ में जुड़वां शिशु हैं या नहीं, आदि। तो आज इस आर्टिकल में हम आपको कुछ ऐसे लक्षणों के बारे में बताने जा रहे हैं जो यह बताने में मदद करते हैं की जुड़वां शिशु हैं।

वजन

यदि गर्भ में जुड़वां बच्चे होते हैं तो महिला का वजन प्रेगनेंसी की शुरुआत में ही तेजी से बढ़ने लगता है। जबकि गर्भ में एक शिशु के होने पर महिला का वजन तीसरे महीने से बढ़ना शुरू होता है।

भूख ज्यादा लगना

यदि गर्भ में जुड़वां शिशु होते हैं जो महिला को बहुत ज्यादा भूख लगती है। और ऐसा प्रेगनेंसी के शुरूआती दिनों से ही शुरू हो जाता है।

ब्रेस्ट में नाजुकता

ब्रेस्ट का संवेदनशील होना प्रेगनेंसी का एक आम लक्षण होता है लेकिन यदि प्रेगनेंसी कन्फर्म होने के बाद महिला के ब्रेस्ट में संवेदनशीलता अधिक होती है। तो यह भी गर्भ में जुड़वां शिशु होने लक्षण होता है।

उल्टी की समस्या का अधिक होना

प्रेगनेंसी के शुरूआती दिनों में यदि महिला को उल्टी, जी मिचलाना जैसी परेशानी अधिक होती है तो यह भी गर्भ में एक नहीं बल्कि दो शिशु होने के लक्षण होते हैं।

थकान की समस्या

यदि प्रेगनेंसी कन्फर्म होने के बाद से ही महिला को बहुत अधिक कमजोरी या थकान जैसी परेशानी होती है तो यह भी गर्भ में जुड़वां शिशु के होने की तरफ संकेत करता है।

पहले भी जुड़वां बच्चे हो

यदि आपको पहले भी जुड़वां बच्चे हुए हैं तो यह भी महिला के दोबारा गर्भधारण होने पर जुड़वां बच्चे के होने का लक्षण होता है।

तो यह हैं कुछ लक्षण जो प्रेगनेंसी के शुरूआती दिनों में ही गर्भ में जुड़वां बच्चे होने की और संकेत करते हैं। साथ ही महिला जब पहले अल्ट्रासॉउन्ड में जब शिशु की धड़कन की जांच करवाती है तो उसमे भी यह बताया जाता है की महिला के गर्भ में एक शिशु है या जुड़वां। गर्भ में जुड़वां बच्चे होने पर महिला का समय से पहले प्रसव होने का खतरा अधिक होता है। ऐसे में प्रेगनेंसी की शुरुआत से ही महिला को अपना अच्छे से ध्यान रखना चाहिए ताकि माँ व् बच्चे दोनों को कोई दिक्कत न हो।

Signs of having twins Baby

Leave a comment