Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

प्रेगनेंसी के अंतिम दिनों में कौन से काम करने से नार्मल डिलीवरी होती है?

0

क्या करें की नार्मल डिलीवरी हो, नार्मल डिलीवरी के लिए क्या काम करें, गर्भावस्था के अंतिम दिनों में क्या करें की नार्मल डिलीवरी हो, नार्मल डिलीवरी के उपाय, Tips for Normal Delivery

गर्भावस्था का समय शुरू होते ही हर महिला के मन में डिलीवरी को लेकर तरह तरह के सवाल उठने लगते है। गर्भवती महिलाओं यह डर लगा रहता है के उनकी डिलीवरी नार्मल होगी या सीजेरियन। उनके मन में डिलीवरी को लेकर चिंता बनी रहती है।

आज से कुछ साल पहले सीजेरियन डिलीवरी का ऑप्शन महिलाओं की मेडिकल कंडीशन देखकर चुना जाता था। परन्तु आजकल महिलाये नार्मल डिलीवरी के दर्द से बचने के लिए सी सेक्शन डिलीवरी का ऑप्शन चुन लेती है। पर यह पूरी तरह से सहीं नहीं है गर्भवती महिला की नार्मल डिलीवरी ना के सिर्फ महिला के लिए बल्कि बच्चे के लिए भी अच्छी होती है।

नार्मल डिलीवरी के उपाय

अगर आप भी चाहते है के आपकी भी नार्मल डिलीवरी हो तो यह उपाय जरूर पढ़े।

पौष्टिक और संतुलित भोजन:

  • गर्भवती महिला में खून या आयरन की कमी के कारण सी सेक्शन डिलीवरी होती है।
  • इसीलिए जरुरी है के नार्मल डिलीवरी के लिए आप पौष्टिक आहार ले।
  • गर्भवती महिला में खून और जरुरी पौषक तत्व की कमी नहीं होनी चाहिए।

पानी की मात्रा:

  • भोजन के साथ साथ पानी की मात्रा भी अच्छे से ले।
  • ताकि शरीर में वाटर लेवल सहीं रहे।
  • नार्मल डिलीवरी के लिए जरुरी है के गर्भवती महिला अच्छे से हाइड्रेट रहे।
  • पानी में सादे पानी के अलावा फलों का रस भी पी सकते है।
  • गर्भवती महिला का वाटर लेवल सहीं होने से नार्मल डिलीवरी का दर्द सहन करने की शक्ति मिलती है।

व्यायाम करें:

  • प्रेगनेंसी के हल्की फुलकी एक्सरसाइज जरूर करें।
  • इससे मासपेशियां नार्मल डिलीवरी के लिए तैयार होती है।
  • आजकल कई जगहों पर प्रेगनेंसी एक्सरसाइज सिखाई जाती है।
  • विशेषज्ञ के देखरेख में ही व्यायाम करें।
  • भारी वजन वाले एक्सरसाइज ना करें।
  • छोटी छोटी एक्सरसाइज करें, जिससे पेट के निचली हिस्से की मांसपेशियों को मजबूती मिलती है।
  • गलत एक्सरसाइज ना करें, इससे डिलीवरी में दिक्क्त भी आ सकती है।

ब्रीदिंग एक्सरसाइज:

  • साँस से रिलेटेड एक्सरसाइज गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत ही फायदेमंद है।
  • इस एक्सरसाइज से शिशु को ऑक्सीजन मिलती है।
  • इससे आपके शरीर को नार्मल डिलीवरी के समय दर्द ज्यादा समय तक सहने की सकती मिलती है।
  • इस एक्सरसाइज से आप तनाव मुक्त रहते हो।

स्ट्रेस या तनाव:

  • स्ट्रेस या तनाव जितना दूर रहें उतना ही नार्मल डिलीवरी के लिए फायदेमंद होता है।
  • किसी चीज के तनाव और परेशानियों से अपने आप को दूर रखें।

मसाज:

  • गर्भावस्था के आखिरी तीन महीनो में जरुरी है के आप मसाज करवाए।
  • इससे आपके शरीर को मजबूती मिलेगी।
  • नार्मल डिलीवरी के दौरान दर्द कम होगा।
  • आजकल एंटीनेटल क्लास में भी गर्भवती महिला और पार्टनर को यह शिक्षा दी जाती है के मालिश कैसे करनी है।

सहीं डॉक्टर:

  • इन सभी बातों के अतिरिक्त सबसे ज्यादा जरूरी है के आप अपनी डिलीवरी के लिए सहीं डॉक्टर चुने।
  • अपने आसपास के लोगों से डॉक्टर चुनने से पहले सलाह जरूर ले।
  • एक अच्छा डॉक्टर ही आपकी नार्मल डिलीवरी में पूरी मदद कर सकता है।

अगर आप कोई एक्सरसाइज नहीं भी कर पाती तो घर का काम भी करके अपने आप को नार्मल डिलीवरी के लिए तैयार कर सकती है।

Leave a comment