Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

एबॉर्शन करवाने का सही समय कब तक होता है

0

प्रेगनेंसी जहां किसी भी महिला के लिए सुखद अहसास होता है, वहीँ गर्भपात किसी भी महिला के लिए दुखी होने की वजह भी बन सकता है, परन्तु कई बार ऐसा भी होता है, की महिला नहीं चाहती है, की वो प्रेग्नेंट हो, और उसका गर्भ ठहर जाएँ, परन्तु असुरक्षित यौन सम्बन्ध बनाने के कारण महिला को इस परेशानी का सामना करना पड़ सकता है, ऐसे में महिला का जब अनचाहा गर्भ ठहर जाता है, तो महिला उसे गिराने के लिए कोशिश करने लगती है।

लेकिन क्या आप जानते है की गर्भ गिराने का सही समय कब तक होता है, क्योंकि यदि आप दो से ज्यादा महीने का गर्भ गिराने की घर में ही कोशिश करती है, तो इसके कारण आपको परेशानी का अनुभव होता है, और ऐसा भी जरुरी नहीं होता है की घरेलू नुस्खों का इस्तेमाल करके आपका गर्भ गिर जाएँ, घरेलू तरीको से गर्भ गिराने पर हो सकता है शायद की आपको ब्लीडिंग हो जाएँ, लेकिन ऐसा होने पर भी आपको डॉक्टर को एक बार जरूर दिखाना चाहिए।

इन्हें भी पढ़ें:- एबॉर्शन (गर्भपात) के बाद होने वाली परेशानिया

क्योंकि कई बार आपके गर्भाशय में टिश्यू रह जाते है, जिसके कारण आपको बाद में परेशानी का अनुभव होता है, साथ ही इसके कारण आपको बाद में प्रेगनेंसी से जुडी परेशानी भी हो सकती है, कई महिलायें ऐसी भी होती है, जो एबॉर्शन के लिए या गर्भधारण से बचने के दवाइयों का इस्तेमाल करती है, परन्तु क्या आप जानती है, की यदि आप इसका सेवन अधिक करती हैं, तो इसके कारण आपको बाद में प्रेगनेंसी होने में समस्या होती है, साथ ही बार बार गर्भपात भी महिला को शारीरिक रूप से कमजोर कर देता है।

abortion

 

 

 

 

अनचाहे गर्भ का कारण:-

जो महिला और पुरुष बिना किसी सुरक्षा के सम्बन्ध बनाते है, और ऐसा करने पर यदि महिला के गर्भाशय में अंडा निषेचित हो जाता है, और ऐसे में महिला के गर्भ ठहरने के चांस बढ़ जाते है, जिसके कारण आपको प्रेगनेंसी हो सकती है।

गर्भपात का सही समय कब होता है:-

यदि महिला को एक से दो महीने तक की प्रेगनेंसी होती है, तो महिला घरेलू तरीको का इस्तेमाल करके जैसे की गरम चीजों का अधिक सेवन करके, भागदौड़ करके, विटामिन सी युक्त पदार्थो का अधिक मात्रा में सेवन करके, सीताफल के बीजो को पीसकर योनि में लगाकर, इलायची का सेवन करके आदि, इन तरीको का इस्तेमाल करके गर्भ को गिरा सकती है, इन तरीको का इस्तेमाल करने के बाद यदि आपको ऐसा लगता है की आपको ब्लीडिंग हो गई है, उसके बाद भी आपको डॉक्टर से जरूर चेक करवाना चाहिए।

इन्हें भी पढ़ें:- गर्भपात (अनचाहा गर्भ) बिना किसी डॉक्टर की सलाह के

उसके बाद यदि आपको दो से तीन महीने की प्रेगनेंसी है तो घरेलू तरीके तेजी से काम नहीं करते है, इसके लिए जितना जल्दी हो सकें आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए क्योंकि यदि आपको तीन से ज्यादा महीने की प्रेगनेंसी हो जाती है तो उसके बाद गर्भपात होना मुश्किल हो जाता है, साथ ही आपको अधिक शारीरिक समस्या का सामना करना पड़ता है, तो यदि आपका भी अनचाहा गर्भ ठहर गया है, तो आपको भी इन सब बातों का ध्यान रखना चाहिए, साथ ही सेक्स करते समय यदि आप सावधानी बरतेंगे तो आपको इस समस्या से बचाव करने में मदद मिलेगी।

इसके अलावा आपको यदि प्रेगनेंसी से बचना है तो आपको हमेशा सुरक्षा का इस्तेमाल करना चाहिए, यदि आपका पुरुष साथ सुरक्षा का इस्तेमाल नहीं करता है, तो आजकल महिलाओ के लिए भी बहुत से ऐसे तरीके जैसे की कंडोम, गर्भनिरोधक गोलियां आदि उपाय है, जिनसे आपको इस समस्या से राहत मिल सकती है।

इन्हें भी पढ़ें:- एक से तीन महीने की प्रेगनेंसी से ऐसे छुटकारा पा सकते है

Leave a comment