गर्मियों में गर्भ को ठंडक पहुंचाने के लिए यह करें

गर्मियों में गर्भ को ठंडक पहुंचाने के लिए यह करें
0

गर्भ में शिशु

प्रेगनेंसी के दौरान गर्मियों का मौसम आने पर गर्भवती महिला को बहुत ज्यादा परेशानी का अनुभव होता है। लेकिन क्या आपने सोचा है की जिस तरह गर्भवती महिला को गर्मी के कारण परेशानी होती है क्या उसी तरह गर्भ में शिशु भी गर्मी को महसूस करता है? ऐसा हो सकता है क्योंकि जब गर्भवती महिला द्वारा की गई हर गतिविधि से गर्भ में पल रहा शिशु प्रभावित होता है, वैसे ही हो सकता है अधिक गर्मी के कारण शिशु को भी परेशानी अनुभव करे। इसीलिए गर्भ को गर्मी में ठंडक का अहसास देने के लिए गर्भवती महिला को कुछ न कुछ जरूर करना चाहिए।

गर्मियों में गर्भ को ठंडक पहुंचाने के लिए अपनाएँ यह टिप्स

गर्भवती महिला जिस तरह गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर शारीरिक और मानसिक विकास के लिए अपने खान पान से लेकर अपने उठने, बैठने तक का ध्यान रखती है। उसी तरह गर्भ को ठंडक पहुंचाने के लिए महिला क्या क्या टिप्स इस्तेमाल कर सकती है आइये जानते हैं।

तरल पदार्थो का सेवन

डिहाइड्रेशन की समस्या गर्भवती महिला और गर्भ में पल रहे शिशु दोनों के लिए ही परेशानी का कारण बन सकती है। साथ ही पानी की कमी के कारण गर्मी का अहसास भी अधिक हो सकता है। ऐसे में प्रेगनेंसी के दौरान गर्भ को ठंडा रखने के लिए पानी का भरपूर सेवन करना चाहिए, इसके अलावा आप जूस, नारियल पानी, निम्बू पानी, आदि का सेवन भी कर सकती है। ऐसा करने से डिहाइड्रेशन की समस्या से बचने के साथ गर्भ को ठंडक पहुंचाने में भी मदद मिलती है।

घर को रखे ठंडा

घर में अधिक गर्मी का होना भी गर्मियों में परेशानी को बढ़ा सकता है, ऐसे में घर को ठंडा रखने की कोशिश करनी चाहिए। और घर को ठंडा रखने के लिए धूप के समय घर के सभी खिड़कियाँ दरवाज़े बंद रखने चाहिए, परदे लगाने चाहिए, ताकि धूप के कारण गर्मी न बढे। साथ ही ए सी या कूलर को थोड़ी थोड़ी देर बाद चलाते रहना चाहिए ताकि घर की दीवारों और छत को ठंडा रहने में मदद मिल सके। इससे प्रेग्नेंट महिला को ठंडक का अहसास मिलेगा जिससे गर्भ को ठंडक पहुंचाने में भी मदद मिलती है।

पैरों को दे आराम

गर्भ को ठंडा रखने के लिए गर्भवती महिला को दिन में एक बार एक बाल्टी या टब में ठंडा पानी डालें। उसमे थोड़ी सेर अपने पैरों को रखें, इससे बॉडी को ठंडक का अहसास मिलेगा।

नहाएं

गर्भवती महिला को दिन में दो बार जरूर नहाना चाहिए और हो सके तो तो हर दूसरे ये तीसरे दिन बालों को भी धोना चाहिए। ऐसा करने से गर्मी में भी ठंडक के अहसास को बरकरार रखने में मदद मिलती है।

लौकी

लौकी की स्लाइसेस को काटकर पैरों के तलवे पर रगड़ें, इससे भी गर्भवती महिला को गर्मी से निजात पाने में मदद मिलती है। और बॉडी को ठंडक पहुंचाने में मदद मिलती है जिससे गर्भ में भी ठंडक का अहसास पहुँचता है।

हिना

हिना भी गर्मी से राहत पाने का एक आसान उपाय है, इसके लिए आप हिना का लेप बनाकर अपने बालों में लगाएं और थोड़ी देर बाद बालों को धो दें। ऐसा करने से सर को ठंडक मिलती है जो पूरे शरीर को ठंडक पहुंचाने में मदद करती है।

गुलाब जल

दो हिस्से गुलाबजल और एक हिस्सा पानी का मिलाकर एक स्प्रे बॉटल में डालकर फ्रिज में रख दें, और गर्मी के महसूस होने पर इस मिश्रण को अपने मुँह पर अपने हाथों आदि पर छिड़कें। इसकी खुशबू और ठंडक से गर्भ को भी ठंडक का अहसास करवाने में मदद मिलती है।

फल खाएं

गर्मी में हमेशा ठंडा खाने की इच्छा होती है, लेकिन हमेशा ठंडी चीजों का सेवन करने से गर्भवती महिला को सूजन जैसी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में गर्मी में ठंडक का अहसास करने के लिए फलों, खीरा, ककड़ी, गाजर आदि को थोड़ी देर फ्रिज में रखने के बाद उसका सेवन करें। ऐसा करने से गर्भवती महिला को गर्मी से राहत पाने के साथ गर्भ को ठंडक पहुंचाने में भी मदद मिलती है।

सैर करें

सुबह के ठन्डे मौसम और ठंडी हवा में सैर करने से भी गर्मी में बॉडी को ठंडक पहुंचाने में मदद मिल सकती है। इसीलिए गर्भवती महिला चाहे तो सुबह या शाम को ठन्डे समय पार्क में प्रकृति के अनुभव को लेते हुए भी गर्मी से राहत पा सकती है, जिससे गर्भ में पल रहे शिशु को भी फायदा पहुंचाने में मदद मिलती है।

तो यह हैं कुछ खास टिप्स जिनका इस्तेमाल करने से गर्मियों के मौसन में गर्भवती महिला को गर्भ को ठंडक पहुंचाने में मदद मिलती है। तो यदि आप भी गर्भवती है तो गर्मी से होने वाली परेशानी से बचने के लिए इन आसान टिप्स का इस्तेमाल कर सकती है।