गर्मियों में प्राइवेट पार्ट में जलन और संक्रमण के कारण और उनका समाधान

0

Private Part Infection

गर्मियों में महिलाओं में प्राइवेट पार्ट्स में जलन और संक्रमण होना आम बात है। गुप्तांगो में पसीना, दाद, दुर्गन्ध, छोटे छोटे लाल रंग के दाने निकल आना, खुजली होना, घमोरियां, बड़े बड़े चकत्ते हो जाना, मूत्र विसर्जन करने पर दर्द और जलन होना, सूजन आदि तरह की समस्याये होना संक्रमण की समस्या है।इसकी वजह है की स्त्रियाँ गुप्तांगो को अच्छी तरह से साफ़ नही करती है। उस तरफ कम ध्यान देती है। कई बार उनको ऐसा करने में शर्म और संकोच होता है जिसकी वजह से समस्या हो जाती है। आइये जानते है की इसके क्या कारण होते है। एक सर्वे के मुताबिक़ देश की 90 % महिलाये इस समस्या से जूझती है।

प्राइवेट पार्ट में जलन और संक्रमण के निम्न कारण हो सकते है

  • गुप्त रोगों के कारण
  • गंदी तौलिया या कपड़े को यूस करने से
  • रोज साफ़ सफाई न करने से
  • जादा चीनी खाने से योनी में खमीर की मात्रा बढ़ जाती है
  • कमजोर इम्यून सिस्टम होने से
  • एलर्जी के कारण खुजली कर देने से
  • गुप्तांगो पर कोई क्रीम न लगाने के कारण
  • यौन सम्बन्ध बनाने के बाद सफाई पर ध्यान न देना
  • सही समय पर माहवारी न होने से
  • योनी का PH लेवल असंतुलित होने से
  • अधिक मात्रा में एंटीबायोटिक लेने से
  • खमीर संक्रमण के कारण (Vaginal Yeast Infection)

प्राइवेट पार्ट में जलन और संक्रमण की समस्या के उपाय/ घरेलू नुस्खे-

साफ़ तौलिये का इस्तेमाल करे- प्राइवेट पार्ट्स को पोछने के लिए हमेशा धुली हुई साफ़ तौलिया का इस्तेमाल करना चाहिये। किसी दूसरे की तौलिया का इस्तेमाल नही करना चाहिये। साथ ही उसे धोकर प्रेस करना चाहिये। गंदी तौलिया इस्तेमाल करने से फंगल संक्रमण होने का खतरा रहता है।

हमेशा सूती (Cotton) अंडरवियर पहने- सूती अंडरवियर इस्तेमाल करना अच्छा रहेगा। सूती कपड़ा गुप्तांगो के लिए हमेशा ही अच्छा माना जाता है। इसमें हवा अच्छी तरह से पास हो जाती है। इसलिए आप सिर्फ हमेशा सूती अंडरवियर का इस्तेमाल करे। बार बार त्वचा से रगड़ होने पर भी कोई नुकसान नही होगा।

टॉयलेट और यौन सम्बन्ध बनाने के बाद हमेशा योनी को धोइये- ऐसा करने की सलाह डॉक्टर हमेशा देते है। मूत्र, वीर्य या कोई और चिपचिपा पदार्थ योनी पर लगा होने से योनी में संक्रमण का बहुत खतरा रहता है। सफाई आवश्यक है।

रोज सेनेटरी पैड बदले- माहवारी होने पर एक ही पैड को जादा समय तक इस्तेमाल नही करना चाहिये। 4 5 घंटों के बाद इसे आप बदल दे। इससे संक्रमण से बचाव होगा। खुजली की समस्या भी नही होगी।

नीम का प्रयोग-  आप नीभ के पत्तो को पानी में उबालकर अपनी योनी vagina को दिन में दो बार उस पानी से धोइये। आप इस पानी को दिन में 2 बार पी भी सकते है। इससे भी आपको लाभ होगा। आप नीम साबुन का भी इस्तेमाल कर सकते है।

नारियल तेल का इस्तेमाल करे- आप दिन में 2 से 3 बार नारियल तेल अपनी योनी में लगाये। इससे रूखापन खत्म होगा। इसको लगाने से जलन और संक्रमण कम होगा।

तुलसी की पत्तियां- आप प्राइवेट पार्ट में जलन, खुलजी होने की स्तिथि में कुछ तुलसी की पत्तियां धोकर साफ़ पानी में उबाले और ठंडा होने पर पी ले। इस नुस्खे से भी आपको फायदा होगा।

दही का इस्तेमाल करे- योनी में जलन होने पर आप दही का इस्तेमाल कर सकते है। इसमें गुड बैक्टीरिया होता है जो योनी में मौजूद बैड बैक्टीरिया और खमीर को मारता है। आप दिन में 2 बार योनी पर दही का लेप करे, फिर 1 घंटे बाद इसे अच्छे से धो दे। ऐसा करने पर बहुत लाभ होता है। याद रहे की मीठा दही आपको इस्तिमाल नही करना है। सिर्फ सादा इस्तेमाल करे। आप अपने भोजन में दही का इस्तेमाल करे। रोज 1 कप दही का सेवन करे। इससे बहुत फायदा होगा।

लहसुन  प्राइवेट अंगो में इसका इस्तेमाल भी किया जा सकता है। आप लहसुन की 2 3 कलियाँ रोज खाली पेट गर्म पानी के साथ खाये। इससे आपको लाभ होगा। लहुसन में एंटीबायोटिक और एंटीबैक्टीरियल गुण होते है। इससे योनी में संक्रमण खत्म होता है। आप 4 से 6 लहसुन की कलियों का छिलका उतार दे और उसको पीसकर पेस्ट बना ले। फिर उसे योनी पर लगा ले।

एंटी फंगल क्रीम- मेडिकल स्टोर में उपलब्ध किसी भी क्रीम को आप डॉक्टर की सलाह पर इस्तेमाल कर सकते है। इससे आपको काफी फायदा होगा।

सेब का सिरका- आपकी योनी के PH लेवल को संतुलित करता है। इसमें प्राकृतिक एंजाइम होता है जिसमे एंटीवायरल, एंटीफंगल और एंटीबैक्टीरियल गुण होते है। आप इसे दिन में दो बार एक चिम्मच सिरका और एक चिम्मच शहद गर्म पानी में मिलाकर पिये। इससे आपको योनी में जलन, खुजली और बर्निंग में आराम मिलेगा। आप 2 कप गर्म पानी में 2 बड़ा चम्मच सेब का सिरका मिलाकर योनी को धो भी सकते है। इससे भी आपको आराम होगा।

बर्फ का प्रयोग करे- बहुत अधिक परेशानी होने पर आप फ्रिज में मौजूद बर्फ के टुकड़ों को अपनी वैजाईना Vagina पर रखे। ऐसा करने से आपको तुरंत लाभ होगा। आपको ठंडक महूसस होगी और जलन में तुरंत फायदा मालुम पड़ेगा।

नमक के पानी से स्नान करे- जैसा आपको पता ही होगा की नमक सभी प्रकार के फंगस, कवक, बैड बैक्टीरिया को मारता है। आप नमक के पानी से स्नान करके अपनी योनी को अच्छे से धोये। एक बाल्टी गुनगुने पानी में आधा कप नमक मिला ले और अच्छी तरह से मिलाने के बाद आप स्नान करे। खुजली और जलन से तुरंत लाभ मिलेगा।

गंभीर समस्या होने पर डॉक्टर की सलाह ले- अगर उपर बताये उपाय करने के बाद भी आपकी समस्या हल नही होती है तो फौरन डॉक्टर से सम्पर्क करे। अपनी समस्या के बारे में खुलकर डॉक्टर/ चर्म रोग विशेषज्ञ को बताये। किसी तरह की कोई बात न छुपाये क्यूंकि कोई बात छुपाना आपके लिए ही नुकसानदायक हो सकता है। यहाँ सवाल है आपके अपने स्वास्थ्य का।

निष्कर्ष: आपके शरीर की रक्षा करना आपकी जिम्मेदारी है क्यूंकि अगर आपके शरीर में कोई समस्या या रोग होगा तो दिक्कत आपको ही होगी और झेलना आपको ही पड़ेगा। इसलिए प्राइवेट भागो में जलन और संक्रमण होने की स्तिथि में उपर बताये नुस्खो का इस्तेमाल करे।

आपको हमारा लेख कैसा लगा। अगर आपको हमारा लेख अच्छा लगा है तो आप इसे अपने दोस्तों को भी पढने को कहे और शेयर करे।

[Total: 3    Average: 3.7/5]