Ultimate magazine theme for WordPress.

प्रेगनेंसी के दौरान गर्मी में केसर दूध, अंडा, बादाम खाने के तरीके

0

गर्मी में गर्भावस्था के दौरान खान पान

गर्मी का मौसम गर्भवती महिला की परेशानियों को और भी बढ़ा देता है, एक तो प्रेगनेंसी में होने वाली समस्याएँ साथ ही गर्मी के कारण होने वाली परेशानी। साथ ही गर्मी के मौसम में तो कुछ खाने की इच्छा भी नहीं होती है, बस मन करता है की केवल ठन्डे आहार का सेवन ही किया जाए। लेकिन अधिक ठन्डे आहार का सेवन वजन बढ़ने, सूजन जैसी समस्या पैदा कर सकता है। इसके अलावा कुछ और चीजें भी है जो गर्भावस्था के दौरान फायदा करती है, लेकिन उनकी तासीर गर्म होने के कारण गर्मी में उनके खाने में थोड़ी सावधानी बरतनी चाहिए।

क्योंकि यदि गर्भवती महिला गर्मी में गर्म तासीर वाली चीजों का सेवन करती है तो इससे बॉडी में हीट बढ़ती है, जिससे ब्लीडिंग, मिसकैरिज जैसी समस्या होने का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में गर्भवती महिला को गर्मी के मौसम में किन बातों का ध्यान रखना चाहिए इसके लिए एक बार डॉक्टर से भी राय लेनी चाहिए। तो लीजिये आज हम कुछ चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं जो प्रेगनेंसी के दौरान फायदेमंद होती है, लेकिन गर्मियों में इनका सेवन कैसे करना चाहिए इस बात का ध्यान रखना भी जरुरी होता है। जैसे की केसर, बादाम, अंडा आदि। तो लीजिए अब जानते हैं की गर्मियों में गर्भवती महिला को इनका सेवन कैसे करना चाहिए।

प्रेगनेंसी में केसर दूध

प्रेगनेंसी के दौरान यदि सही मात्रा में केसर का सेवन किया जाए तो इससे गर्भवती महिला और गर्भ में पल रहे शिशु को बहुत फायदा मिलता है। लेकिन यदि गर्भवती महिला आवश्यकता से अधिक इसका सेवन करती है तो इसके कारण गर्भपात, उल्टियां, चक्कर, बेचैनी जैसी समस्या बढ़ा भी देता है। साथ ही इसकी तासीर गर्म होने के कारण गर्मियों में तो सोच समझकर इसका सेवन करना चाहिए। तो आइये अब जानते हैं की किस तरह से आप प्रेगनेंसी के दौरान गर्मियों में केसर का सेवन कर सकती है।

  • केसर के चार पांच रेशे लेकर एक गिलास दूध में डालकर अच्छे से उबाल लें, अब उस दूध को ठंडा होने के लिए रख दें, ध्यान रखें की केसर के रेशे ज्यादा न हो। साथ ही न तो दूध बहुत अधिक गर्म हो और न ही बहुत ज्यादा ठंडा हो, दूध का तापमान नोर्मल होने पर आप इसका सेवन कर सकती है।
  • यदि आप प्रेगनेंसी के दौरान खीर आदि बनाती है तो उसमे भी केसर को मिक्स कर सकती है, लेकिन खीर में भी ज्यादा केसर न ड़ालें।

बादाम

पोषक तत्वों से भरपूर बादाम न केवल प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला को स्वस्थ रखने में मदद करता है बल्कि इससे गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर विकास में भी मदद मिलती है। क्योंकि बादाम में पोषक तत्व भरपूर मात्रा में होते हैं, लेकिन गर्मियों में गर्भवती महिला को बादाम का सेवन किस तरह करना चाहिए आइये जानते हैं।

  • पांच छह बादाम को रात भर के लिए पानी में भिगोकर रख दें, उसके बाद सुबह उठकर उन बादाम का सेवन करें।
  • यदि आप प्रेगनेंसी के दौरान खीर, हलवा, आदि कुछ खाना चाहती है तो उसमे भी बादाम को छोटे छोटे टुकड़ों में काट कर मिक्स कर सकती है।
  • बादाम को पीसकर दूध में मिलाने के बाद इसे अच्छे से उबाल लें, उसके बाद जब दूध नोर्मल हो जाए तो इसका सेवन करें। ऐसा करने से बादाम दूध के साथ मिलकर गर्भवती महिला को दुगुना फायदा पहुंचाता है।

अंडा

अंडे की तासीर भी गर्म होती है, ऐसे में गर्मियों के दौरान अंडे का अधिक मात्रा में सेवन करना नुकसान भी पहुंचा सकता है, लेकिन अंडे में मौजूद पोषक तत्व गर्भवती महिला और गर्भ में पल रहे शिशु के लिए फायदेमंद भी होते हैं। इसीलिए गर्भवती महिला को पर्याप्त मात्रा में और सही समय पर अंडे का सेवन करना चाहिए। तो आइये अब जानते हैं की प्रेग्नेंट महिला को गर्मियों में अंडे का सेवन कैसे करना चाहिए।

  • अंडे का सेवन जितना हो सके सुबह नाश्ते के समय करना चाहिए, क्योंकि इसमें मौजूद कैलोरी गर्भवती महिला को पूरा दिन एनर्जी से भरपूर रखने में मदद करती है।
  • जितना हो सके उबले हुए अंडे का सेवन ही करना चाहिए, लेकिन कभी स्वाद के लिए आप चाहे तो अंडे की भुजी, ऑमलेट, अंडे का पराठा बनाकर भी इसका सेवन कर सकती है।
  • अंडे का सेवन करते हुए एक बात का खास ध्यान रखे की न तो न ही अंडा कच्चा हो, और न ही अधपका हो क्योंकि ऐसे अंडे का सेवन करने से गर्भवती महिला को पेट सम्बंधित समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

तो यह हैं कुछ तरीके जिनका इस्तेमाल करके गर्मियों में महिला केसर, अंडे, बादाम आदि का सेवन कर सकती है। साथ ही प्रेगनेंसी के दौरान हर एक चीज का पर्याप्त मात्रा में ही सेवन करना चाहिए, और सही तरीके ताकि गर्भवती महिला और गर्भ में पल रहे शिशु को किसी भी तरह की परेशानी न हो और दोनों को स्वस्थ रहने में मदद मिल सके।