Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

मालपुआ बनाने की अलग अलग विधियां

0

मालपुआ एक राजस्थानी व्यंजन है, लेकिन पुरे भारत में इसे बहुत शौक खाया और बनाया जाता है। ख़ासकर पुरे भारत में होली के त्यौहार पर मालपुआ बनाया जाता है और सभी को खिलाया जाता है। विदेश से भी आने वाले लोगों को मालपुआ बहुत ही पसंद आता है।

मालपुए की यह विशेषता है के यह झटपट तैयार हो जाता है और किसी प्रकार से अपनी इच्छानुसार और स्वादानुसार खाया सकते है।

स्वादिष्ट मालपुए बाजार में भी आसानी से मिल जाते है और झटपट घर पर भी बनाये जा सकते है। अगर आपके घर कोई मेहमान आ जाये तो आप जल्द से मालपुए बनाकर उन्हें खिला सकते है। इन्हे बनाने की सामग्री भी आसानी से घर पर ही उपलब्ध होती है।

मालपुए को अलग अलग तरीकों से भी बनाया जा सकता है। यहां हम आपको मालपुए की 2-3 विधि बताएंगे।

गेहूँ के आटे वाले मालपुए

गेहूँ के आटे से बनने वाले मालपुए बहुत ही आसानी से बन जाते है। ख़ास बात यह है की इन्हें आप किसी भी मौसम में खा सकते है।

सामग्री :

  • 1 बड़ा कप गेहूँ का आटा
  • एक छोटी कटोरी दूध
  • 1 छोटी कटोरी चीनी
  • 2 चम्मच देसी घी

बनाने की विधि :

  • एक बाउल में चीनी और दूध अच्छे से मिला लें।
  • अब थोड़ा थोड़ा दूध और चीनी का घोल आटे में मिलाएं और फैंटते रहें।
  • ध्यान रखिये की कहीं आटे में गांठ ना बने।
  • धीरे धीरे सारा दूध आटे घोल तैयार कर ले।
  • घोल को तब तक फंटे जब तक घोल चिकना न हो जाये।
  • अब एक पैन या कड़ाई में घी गर्म कर लें।
  • बड़ी चम्मच से कड़ाई में घोल को डालकर डीप फ्राई कर लें।
  • पुए को दोनों और से अच्छे तरह पकाएं।
  • सारे मिश्रण के एक एक करकें मालपुए बना लीजिये।
  • अब इन मालपुओं को चटनी, निम्बू के आचार या खीर के साथ अपने स्वादानुसार खा सकते है।

इन मालपुओं को आप डीप फ्राई करने के बजाय पैन में शैलो फ्राई भी कर सकते है।

मैदे और मिल्क पाउडर से तैयार मालपुए

मैदे और मिल्क पाउडर से बने हुए मालपुए किसी भी त्यौहार के लिए ख़ास व्यंजन के रूप में आप परोस सकते है।

सामग्री :

  • मैदा 1/2 कप
  • मिल्क पाउडर 1/2 कप
  • चीनी 1 कप
  • दूध 1 कप
  • बादाम 5-6
  • पिस्ता 10-11
  • इलायची पाउडर 1/2 छोटा चम्मच
  • घी 2 बड़े चम्मच

बनाने की विधि :

  • एक बड़े बाउल में मैदा और मिल्क पाउडर डाल लें।
  • अब इस मिश्रण में थोड़ा थोड़ा दूध डालते हुए घोल तैयार करें।
  • घोल बनाते समय लगातार हाथ चलाते रहें जिससे की घोल में मैदे की गांठ ना बनें।
  • घोल को अच्छे से फैंट ले अगर घोल गाढ़ा लगे तो थोड़ा सा दूध और मिला ले।
  • इस मिश्रण को थोड़ी देर आराम करने दे।
  • अब एक बर्तन में चीनी और बराबर मात्रा में पानी डालें और गैस पर रखें।
  • इस पानी चाशनी बनने तक पकाएं।
  • चाशनी को बिच बिच में हिलाते रहें।
  • एक चम्मच में चाशनी को लेकर उंगलियों से चाशनी को छूकर अंगूठे और उंगलियों की बिच चिपकाकर देखें।
  • अगर शहद की तरह आपकी यह चिपक रही है तो आपकी चाशनी तैयार है।
  • अब इसे गैस से उतार कर इसमें इलायची पाउडर डाल दें।
  • अब पहले से तैयार बैटर को लीजिये और एक बार फिर से फैंटे।
  • एक पैन में घी गर्म करके उसमे छोटे छोटे मालपुए तल लीजिये।
  • धीमी आँच पर मालपुए को दोनों और से ब्राउन होने तक सेंके
  • मालपुए को चाशनी में डाल दीजिये।
  • 3-4 मिंट तक चाशनी से मालपुओं को निकाल कर प्लेट पर सजा लें।
  • अब मालपुओं पर बारीक़ कटे हुए बादाम और पिस्ता काट कर सज़ा लें और गर्म गर्म परोस दें।

इन गरमा गर्म मालपुओं को आप रबड़ी के साथ भी परोस सकते है।

खोया और मैदा से तैयार मालपुए

खोए और मैदे से बने मालपुए खाने में बहुत ही स्वादिष्ट और नरम होते है।

सामग्री :

  • मैदा 1 कप
  • खोया 1 कप
  • चीनी 2 कप
  • देसी घी 4 बड़े चम्मच
  • बादाम 8
  • पिस्ता 10
  • 1 चुटकी केसर

बनाने की विधि :

  • खोए को कदूकस करके मैदे के साथ मिला दीजिये।
  • अब इस मिश्रण में थोड़ा थोड़ा पानी मिलाते हुए एक बैटर तैयार करें।
  • लगातार बैटर को हिलाते रहें, बैटर बहुत ज्यादा पतला या बहुत ज्यादा गाढ़ा नहीं होना चाहिए।
  • एक गैस पर बराबर मात्रा में चीनी और पानी डालकर चाशनी तैयार कर लें।
  • दूसरी और गैस पर एक पैन रखकर घी गर्म करें।
  • एक चम्मच बैटर घी में डालें, हल्की आंच पर मालपुए को सेंके।
  • इस प्रकार बारी बारी करकें सारे बैटर के छोटे छोटे मालपुए तल लें।
  • दोनों तरफ से मालपुए को हल्का ब्राउन होने के बाद चाशनी में डाल दें।
  • 3-4 मिंट बाद चाशनी में से सभी मालपुओं को निकालकर प्लेट में लगाए।
  • ऊपर से बारीक़ कटे हुए बादाम, पिस्ता और केसर से मालपुओं को सजाये और सर्व करें।

इनमें से कोई भी मालपुए बनाने की विधि को चुनकर आप अपने आने वाले होली के त्यौहार को ख़ास बना सकते है।

Leave a comment