मासिक धर्म अनियमित क्यों हो जाता है ?

मासिक धर्म हर महिला को होने वाली एक समस्या है, जो की हर महीने अठाइस दिन का चक्र पूरा करने के बाद आती है, और ऐसा भी नहीं है की ये हमेशा समय पर ही हो, कई बार ये एक दो दिन पहले या बाद में भी हो सकती है, जो की बिलकुल सामान्य होता है, और समय से माहवारी का आना और नियमित रूप से आना महिला के सेहत के लिए बहुत अच्छा होता है, वही कई महिलाओ को मासिक धर्म को अनियमितता से भी गुजरना पड़ता है, यदि आपके पेरिड्स या तो समय से बहुत पहला आ जाते है या बहुत लेट हो जाते है, तो इसके कारण महिला की सेहत पर बुरा प्रभाव पड़ता है, और यदि ये समस्या आपको है, तो जरुरी है की आप इसके लिए सावधान हो जाएँ।

इन्हें भी पढ़ें:- पीरियड्स में साफ़ सफाई का ध्यान ऐसे रखें! और इन्फेक्शन से बचें

अनियमित माहवारी की समस्या होने पर महिला को पेट में दर्द का भी अधिक सामना भी करना पड़ता है, साथ ही गर्भाशय में भी दर्द का अनुभव होता है, भूख कम लगने लगती है, कमजोरी व् थकान का अनुभव होता है, और साथ ही महिला के शरीर में स्थित गर्भाशय में रक्त का थक्का बन जाता है, इसीलिए इसे अनदेखा नहीं करना चाहिए और इसके लिए आपको उपाय करना चाहिए या इस बारे में आपको डॉक्टर से बात करनी चाहिए, कई महिलायें या लडकियां इसके बारे में शेयर नहीं करती हैं, जो की बाद में उनके लिए परेशानी बन जाता है, तो आइये अब हम जानते है की आपको मासिक धर्म में अनियमितता होने के कौन कौन से कारण हो सकते है।

हार्मोनल असंतुलन के कारण:-

एंडोमीट्रीओसिस एक ऐसी स्थिति होती है, जहां गर्भाशय योनि की दीवारों और फैलोपियन ट्यूबों के अंदर एक ऊतक का विकास होता है, जिसके कारण आपको इस समस्या का असामना करना पड़ता है, साथ ही शरीर में विभिन्न हॉर्मोन होते है, जिसमे यदि असंतुलन होने लगता है, तो भी आपको इस परेशानी का सामना करना पद सकता है।

वजन बढ़ना या कम होना:-

जिन महिलाओ का वजन बहुत अधिक होता है या बहुत कम होता है, उन्हें भी इस परेशानी का सामना करना पड़ सकता है, क्योंकि वजन का कम या अधिक होना भी आपके हॉर्मोन को प्रभावित करता है।

इन्हें भी पढ़ें:- अगर पीरियड्स समय पर न आएं और आगे पीछे आएं तो ये करें

अधिक व्यायाम करने के कारण:-

जो महिलाएं अधिक व्यायाम करती हैं कई बार उनके शरीर में एस्ट्रोजन की वृद्धि हो जाती है, जिसके कारण उन्हें मासिक धरम बहुत जल्दी प्रभावित होते है, और उन्हें मासिक धरम में अनियमितता का सामना करना पड़ता है।

स्ट्रेस के कारण:-

महिलाओ के लिए मासिक धर्म में अनियमितता का एक कारण उनका मानसिक रूप से अधिक परेशान रहना भी है, यदि महिला तनाव लेती है तो इसके कारण एस्ट्रोजन, प्रोजेस्टेरोन हॉर्मोन पर असर पड़ता है, साथ ही मासिक धर्म से जुडी इस परेशानी का भी सामना आपको करना पड़ता है।

डिलीवरी के बाद:-

डिलीवरी के बाद काफी समय तक महिला को पीरियड्स नहीं होते है, और जब होते है तो हॉर्मोन में असंतुलन के कारण आपको इस समस्या का सामना करना पड़ता है, उसके बाद यह धीरे धीरे सही होने लग जाते है।

थायराइड होने पर:-

थायराइड होने पर आपके शरीर में हॉर्मोन का असंतुलन बहुत तेजी से होता है जिसके कारण आपके मासिक धर्म पर भी प्रभाव पड़ता है, हाइपरथायरॉडीज या हाइपोथायरायडिज्म दोनों में ही आपको इस समस्या का सामना करना पड़ता है, इसके अलावा यदि आप किसी और बिमारी से पीड़ित हैं तो भी आपको ये समस्या हो सकती है।

खान पान में असतुलन होने पर:-

शरीर में पोषक तत्वों की कमी और शरीर में कमजोरी जैसी समस्या होने पर भी मासिक धर्म से जुडी परेशानी का आपको सामना करना पड़ता है, इसके लिए आपको अपने खान पान को सही रखना चाहिए जिससे आपके शरीर में सभी मिनरल्स भरपूर मात्र में हो, और आपको इस परेशानी का सामना न करना पड़े।

अनियमित माहवारी से बचने के उपाय:-

  • आठ से दस ग्राम अजवाइन को अच्छे से चबाकर उसका सेवन करें और उसके बाद एक गिलास दूध पी लें, आपको फायदा मिलेगा।
  • दालचीनी का चार से पांच ग्राम पाउडर लेकर पानी में मिलाकर नियमित इसका सेवन करें, आपको अनियमित माहवारी की समस्या से राहत पाने में मदद मिलेगी, साथ ही आपको मासिक धर्म में होने वाले दर्द की समस्या से भी निजात मिलेगा।
  • राई यानी सरसों के कुछ दानो को पीस कर इसका चूर्ण बना लें, और उसके बाद अपने आहार में इसे शामिल करें, और नियमित रूप से अपने खाने के शुरुआत के कुछ नेवालों में डालकर इसका सेवन करें आपको फायदा मिलेगा।
  • दिन में कम से कम दो बार गाजर के रस में डालकर इसका सेवन करें आपको इससे निजात मिलेगा।
  • बीस ग्राम तिल को लेकर एक गिलास पानी में अच्छे से उबाल लें, उसके बाद पानी के आधा रहने पर इसमें गुड मिलाकर इसका सेवन करें इससे आपको मासिक धर्म के दौरान होने वाले दर्द और अनियमित माहवारी की समस्या से राहत पाने में मदद मिलेगी।
  • तुलसी के बीजो को अच्छे से पानी में उबाल लें, उसके बाद उस पानी को ठंडा करके नियमित उसका सेवन करें आपको अनियमित माहवारी की समस्या से राहत पाने में मदद मिलेगी।

तो ये हैं कुछ कारण जिनकी वजह से आपको मासिक धर्म अनियमित होते हैं साथ ही उनसे बचने के लिए कुछ उपाय दिए गए है, और आपको इस समस्या को अनदेखा नहीं करना चाहिए और इस बारे में एक बार किसी लेडी डॉक्टर से भी राय लें।

इन्हें भी पढ़ें:- लड़कियों को माहवारी कब शुरू होती है? और उन्हें किन बातों का ध्यान रखना चाहिए