आपका होने वाला बच्चा चिड़चिड़ा होगा अगर प्रेगनेंसी में करेंगी यह गलतियां

0

प्रेगनेंसी के दौरान महिला हर वो काम करती है जिससे उसके गर्भ में पल रहे बच्चे को फायदा मिलें। क्योंकि बच्चा गर्भ में अपने विकास के लिए पूरी तरह अपनी माँ पर निर्भर करता है। ऐसे में महिला यदि अपने खान पान का अच्छे से ध्यान रखती है तो बच्चे का शारीरिक विकास अच्छे से होता है, महिला यदि स्ट्रेस फ्री रहती है तो इससे बच्चे का विकास और बेहतर तरीके से होता है, आदि।

लेकिन यदि महिला कोई गलती करती है तो इसका नकारात्मक असर भी बच्चे पर पड़ता है। आज इस आर्टिकल में हम आपको कुछ ऐसी गलतियों के बारे में बताने जा रहे हैं जो यदि महिला करती है तो इससे होने वाला बच्चा खुशमिज़ाज़ पैदा होने के बजाय चिड़चिड़ा पैदा होता है। क्या आप भी प्रेग्नेंट है? तो यह आर्टिकल आपके लिए है आइये अब जानते हैं की वो गलतियां कौन सी हैं।

प्रेगनेंसी के दौरान महिला का गुस्सा अधिक करना और चिड़चिड़ा रहना

गर्भावस्था के दौरान बॉडी में होने वाले हार्मोनल बदलाव के कारण महिला के स्वाभाव व् व्यवहार में भी परिवर्तन देखने को मिल सकता है। जैसे की महिला को छोटी छोटी बातों पर गुस्सा आता है, महिला चिड़चिड़ी हो जाती है, आदि। ऐसे में यदि महिला इन लक्षणों को कण्ट्रोल करने की बजाय इन्हे अपने ऊपर हावी होने देती है तो इसके कारण बच्चे पर भी इसका असर पड़ता है जिसके कारण बच्चा जन्म के बाद गुस्से वाला व् चिड़चिड़ा पैदा होता है।

तनाव

गर्भावस्था के दौरान बहुत सी महिलाएं शरीर में होने वाले बदलाव, शारीरिक परेशानियों, बच्चे के विकास को लेकर चिंतित होने की वजह से तनाव में आ जाती है। और यदि गर्भावस्था के दौरान महिला बहुत अधिक तनाव में रहती है तो इसके कारण होने वाले बच्चे के मानसिक विकास में कमी आने के साथ होने वाला बच्चा चिड़चिड़ा भी पैदा होता है। क्योंकि तनाव का नकारात्मक असर शिशु को बहुत ज्यादा प्रभावित करता है।

READ  प्रेगनेंसी के दौरान बार बार पेशाब आने के क्या कारण है?

महिला के खुश नहीं रहने के कारण

यह तो आप जानते ही हैं की यदि प्रेगनेंसी के दौरान महिला खुश रहती है तो इससे होने वाला बच्चा भी खुश रहता है। ऐसे ही यदि प्रेगनेंसी के दौरान महिला बहुत ज्यादा चिड़चिड़ी रहती है। तो इसके कारण होने वाला बच्चा भी चिड़चिड़ा ही पैदा होता है।

प्रेगनेंसी के दौरान महिला के भरपूर आराम नहीं करने के कारण

प्रेग्नेंट महिला जितनी जरुरत है यदि उतना ही प्रेगनेंसी के दौरान आराम करती है उतना ही महिला को प्रेगनेंसी के दौरान स्वस्थ रहने में मदद मिलती है और गर्भ में शिशु भी स्वस्थ रहता है। लेकिन यदि महिला आराम नहीं करती है तो इसके कारण महिला की शारीरिक परेशानियां बढ़ जाती है जिसकी वजह से महिला चिड़चिड़ी हो जाती है और उसका असर बच्चे पर भी पड़ता है।

महिला का एक्टिव नहीं रहना

गर्भवती महिला जितना एक्टिव रहती है उतना ही महिला को फिट रहने में मदद मिलती है साथ ही बच्चा भी एक्टिव व् स्वस्थ होता है। लेकिन यदि प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला ही एक्टिव नहीं रहती है सुस्त रहती है तो होने वाला बच्चा ही सुस्त और चिड़चिड़ा होता है।

तो यदि आप भी प्रेग्नेंट हैं और चाहती हैं की आपका होने वाला बच्चा चिड़चिड़ा नहीं हो तो प्रेगनेंसी के दौरान इन बातों का ध्यान रखें। साथ ही प्रेगनेंसी के दौरान अपने आप को फिट रखें और खुश रहें क्योंकि जितना आप खुश रहेंगी स्वस्थ रहेंगी उतना ही आपका बच्चे भी हष्ट पुष्ट और खुशमिजाज पैदा होगा।

READ  प्रेगनेंसी में पीठ के दर्द की समस्या से राहत पाने के टिप्स

Your child will be irritable if they make mistakes during pregnancy

Leave A Reply

Your email address will not be published.