Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

एबॉर्शन (गर्भपात) के बाद होने वाली परेशानिया

84

एबॉर्शन की परेशानिया : एबॉर्शन (गर्भपात) के बाद होने वाली परेशानिया:-

जब भी किसी महिला को पता चलता की वो माँ बनने वाली है तो वो बहुत खुश हो जाती हैं. उसका मन कई नए सपनो को बुनने लगता हैं. परंतु कई बार महिलाओ का गर्भपात यानि एबॉर्शन हो जाता हैं. ऐसे में महिलाओ का दिल टूट जाता हैं. उसके साथ उसके घर वाले भी उदास हो जाते हैं. ये उन औरतो के लिए सबसे कठिन समय होता हैं. ऐसे दौर के बाद महिला का खुद को संभल पाना मुश्किल होता हैं. और कई लोग गर्भधारण की समस्या से निजात पाने के लिए गर्भपात करवाते हैं. पर वो ये नहीं जानते की इससे बहुत सी समस्या शरीर में हो जाती हैं.

गर्भपात के बाद शरीर में बहुत सी समस्याए उत्तपन हो जाती हैं. जैसे उल्‍टी का आना, अचानक बुखार चढ़ना, ब्‍लीडिंग बहुत ज्यादा मात्रा में होना, पेट में दर्द, मासिक धर्म की समस्या से ज्यादा समय तक परेशान रहना आदि. लेकिन कई बार गर्भपात के बाद गंभीर समस्‍याएं भी पैदा हो जाती हैं. जैसे महिला का मानसिक तनाव में आ जाना , अपने आप को अकेले रखना, गुस्सा ज्यादा आना आदि. एबॉर्शन के बाद महिला को इन सब से बाहर निकलने में बहुत समय लग जाता हैं.एबॉर्शन की परेशानिया

जब एबॉर्शन होता हैं. अगर गर्भपात में ज्‍यादा दिक्‍कत नहीं हुई है. तो थोड़ी सी ब्‍लीडिंग के बाद महिला का शरीर वापिस से उसी तरह स्वस्थ हो जाता हैं जैसा की वो पहले था, मतलब सामान्‍य हो जाता है. लेकिन कई बार गर्भपात के बाद समस्‍याएं बढ़ती जाती है और अगली बार गर्भधारण करने में भी दिक्‍कत का सामना करना पड़ सकता हैं. तो आइये जानते हैं किस प्रकार की समस्याए उत्पन्न हो जाती हैं. एबॉर्शन के बाद.

एबॉर्शन के बाद होने वाली परेशानिया:-

मासिक धर्म का लंबे समय तक आना या ज्यादा ब्लीडिंग का होना :-

जैसे ही गर्भपात यानि एबॉर्शन होता हैं तो. गर्भपात के बाद सबसे बड़ी समस्‍या, ज्‍यादा ब्‍लीडिंग के होने की होती हैं. किसी – किसी महिला को गर्भपात के बाद इतना ज्‍यादा खून का फ्लो होता है. कि उसे हर दो से तीन घंटे में एक पैड बदलना पड़ता है. कई बार तो खून के छोटे छोटे ठोस टुकड़े आते हैं. जिनसे पेट के दर्द की समस्या भी बढ़ जाती हैं. और इसके बाद मासिक धर्म कई बार बहुत दिनों तक आता हैं. जिससे महिलाओ को और ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ता हैं.

योनि से गन्दी दुर्गन्ध का आना:-

गर्भपात के बाद दुर्गन्ध आना कई महिलाओं में देखा जाता है, ये दुर्गन्ध इन्फेक्शन की वजह से आती है, पर ये कुछ ही दिनों में ठीक हो जाता हैं, पर अगर दुर्गन्ध ज्यादा दिनों तक आ रहा हो तो आप तुरंत ही डॉक्टर से मिलें, हो सकता है आपके बच्चेदानी में इन्फेक्शन या कोई पिस रह गया हो, अगर इसका इलाज जल्दी नहीं किया गया तो हो सकता है आने वाले समय में गर्भधारण करने में समस्या आ सकती हो सकती है, इसलिए इसको कभी भी नजरअंदाज नहीं करें और अपने डॉक्टर से तुरंत मिलें

गर्भपात के बाद महिला के गर्भ में टुकड़ो (टिश्‍यू) का रह जाना:-

अगर गर्भपात यानि एबॉर्शन पूरी से नहीं हो पाता है. तो बच्‍चेदानी में कुछ टिश्‍यू रह जाते है. अगर बच्‍चेदानी में बच्‍चे के कुछ खराब टिश्‍यू रह जाते है. तो इससे अगली बार फिर से गर्भपात यानि बच्चे के गिरने का खतरा रहता है. इससे बच्‍चेदानी में इंफेक्‍शन होने का भी खतरा रहता है. यह गर्भपात के बाद की सबसे बड़ी समस्‍या होती है जो 10 में से 7 महिलाओं को होती है. इसलिए गर्भपात होने के बाद आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछे.

एबॉर्शन के बाद बार – बार गर्भपात का होने की समस्या हो जाती हैं:-

एबॉर्शन के बाद महिलाओं में एक जो अहम् समस्या है वो है फिर से गर्भधारण होने का, पर ऐसा भी होता है की कई बार अंडा सही तरीके से नहीं बन पाटा है या बच्चेदानी में प्रॉब्लम हो जाती है जहा बच्चा प्लांट होता है, इसलिए कभी भी अनुभवहीन डॉक्टर से एबॉर्शन नहीं करवाएं

गर्भपात के बाद संक्रमण का होना: –

गर्भपात के बाद संक्रमण की समस्या हो सकती है, इसलिए डॉक्टर से लिए गए मेडिसिन को टाइम पर खाएं, और एक सप्ताह के बाद फिर से डॉक्टर को दिखाएँ, ताकि बच्चेदानी आपका स्वस्थ रहे और आप फिर से माँ बनने में और स्वस्थ रहने में कोई परेशानी नहीं हो अगर गर्भपात होने के बाद ये लक्षण शरीर में दिखाई देते है तो तुंरत डॉक्‍टर से सम्‍पर्क करें. और डॉक्टर को दिखाए और पूरी तरह से इसका इलाज़ करवाये:-

१. उलटी ज्यादा दिन तक होना
२. अगर दो महीने के बाद भी माहवारी नियमति ना हो तो
३. बदबू का आना एक महीने के बाद भी
४. पीला, लाल, और हरे रंग का चिपचिपा निकले तो
५ . हमेशा बुखार हो तो
६. पेट में दर्द की शिकायत हो तो वो भी ज्यादा दिन तक

एबॉर्शन के बाद आप अपने खान पान पर विशेष ध्यान दें, और डॉक्टर द्वारा दी गई मेडिसिन को टाइम पर लें, कोई भी ऐसा चीज नहीं खाएं जिससे आपके शरीर को नुक्सान हो, हरी सब्जियां और दूध, दाल, ड्राई फ्रूट, घी, जरुर लें, और हो सके तो गर्भधारण के लिए जल्दीवाजी नहीं नहीं करें, अपने शरीर को आराम दें,

अगर आपको कोई समस्या हो तो आप हमें लिखें,

गर्भपात की परेशानिया, एबॉर्शन की समस्या, एबॉर्शन के बाद की परेशानिया, abortion problem, problems after abortion, problems of abortion, abortion ke bad ki pareshania,

Show Comments (84)