Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

आँखों में जलन और पानी आने के कारण

आँख में जलन क्यों होती है, आँख से पानी गिरना, aankh me jalan, aankh me paani kyu aata hai, aankh me pani aana, aankh me khujli ka ilaj, आँखों में जलन और पानी आने के कारण, आँखों में पानी आने के कारण, आंख में जलन, कंजंक्टिवाइटिस, आँखों में जलन होने के कारण, आँख में पानी आने के कारण

0

आँखों को मनुष्य के शरीर का सबसे संवेदनशील हिस्सा माना जाता है जिसकी देखभाल में की गई जरा-सी चूक आपके लिए समस्या का कारण बन सकती है। इसलिए सभी आँखों की देखभाल में कोई कमी नहीं छोड़ते। परंतु कई बार देखभाल करने के बावजूद भी आँखों में समस्याएं उत्पन्न होने लगती है। इसके अलावा कुछ प्राकृतिक कारणों की वजह से भी आँखों में विभिन्न तरह की परेशानियां होने लगती है।

आँखों में जलन होना और आँखों से पानी आना भी उन्ही समस्यायों में से एक है। जिन्हें बर्निंग आईज या आँखों में जलन होना कहा जाता है। इस समस्या के होने पर आँखों में जलन, खुजली, आँख से आंसू आना या अन्य तरह के डिस्चार्ज बहने की स्थिति होने लगती है। वैसे तो यह एक आम समस्या है जिससे कोई भी पीढित हो सकता है परंतु अधिकतर स्थितियों में यह हानिकारक होती है। यूँ तो इस समस्या से आसानी से छुटकारा पाया जाता है परंतु कुछ केसेस में स्थितियां गंभीर भी हो जाती है।आँखों पानी आने के कारण

कुछ लोगों को यह समस्या सिर्फ आँखों में जलन के रूप में होती है, जबकि अन्य लोगों को काफी सारे लक्षण महसूस होते है – जैसे आँखों से पानी बहना, आँखों में दर्द होना, आँखों में खुजली आदि। आँखों में होने वाली जलन और आँखों से बहने वाला पानी अधिकतर पर्यावरणीय (प्राकृतिक) कारणों की वजह से ही होता है। परंतु इसके अतिरित्क भी कुछ कारण होते है जिनके बारे में सभी को पता नहीं होता। यहाँ हम आपको आँखों में जलन और आँखों से पानी बहने के कारणों के बारे में बता रहे है।

आँखों में जलन और पानी आने के लक्षण :-

आँखों में जलन होना और जलन के बाद पानी आना खुद एक समस्या का लक्षण है जो किसी अन्य बिमारी के कारण हो सकता है। परन्तु अधिकतर मामलों में यह अकेला ही होता है जिसके साथ निम्न लक्षण भी दिखाई पड़ते है।

  • जलन होने के साथ आँखों में दर्द होना।
  • आँखों में परेशानी होना व् देखने में दिक्कत होना।
  • आँखों का लाल होना।
  • ध्यान लगाने में परेशानी होना।
  • सूखी आँखे या गीली आँखे।
  • धुंधला या डबल दिखना।
  • रौशनी को देखते ही आँखों का अचानक बंद हो जाना।
  • आँखों में खुजली होना।
  • बहती नाक के लिक्विड का गले में जमा होना।
  • नाक बहना।
  • छींक आना।
  • नाक बंद होना।
  • आँखों से खूब निकलना (रेयर केसेस में)।
  • दृष्टि में कमी आना।
  • चमकती रौशनी दिखाई पड़ना।
  • आँखों से बिना किसी करना के आंसू निकलना।
  • रौशनी को देखते ही आंसू निकलना।
  • पानी निकलने के बाद आँख में जलन होना।
  • आँखों से पानी निकलने के बाद आँखों का चिपकना।
  • सुबह जागने पर आँखों का चिपकना। आदि।

यह कुछ सामान्य लक्षण है जो आँखों से जुडी परेशानियों को ओर इशारा करते है। अगर आप देर रात तक जागकर काम करते है तो समस्या और बढ़ सकती है। इसके अलावा नींद की कमी होने की वजह से भी आँखों से संबंधित समस्याएं होने लगती है।

डॉक्टर से सलाह :-

यदि आँखों में जलन और पानी आने के साथ-साथ रौशनी के प्रति सेंसिटिवनेस बढ़ रही है, धुंधला दिखाई देता है या आँखों में ज्यादा दर्द होने लगा है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। इसके अलावा यदि ऊपर बताये गए लक्षणों में से कुछ महसूस नहीं हो रहा है और फिर भी आँखों में जलन महसूस हो रही है तो डॉक्टर से कंसल्ट कर लेना चाहिए।

आँखों में जलन और पानी आने के क्या कारण है?

यह समस्या एक लक्षण है जो अधिकतर निम्न स्थितियों में होती है –

आँखों पर जोर देना :

इसे आँखों में जलन उत्पन्न करने वाला सबसे सामान्य कारण माना जाता है। क्योंकि किसी न किसी कार्य के लिए लगभग हर व्यक्ति को अपनी आँखों पर जोर देना पड़ता है। जिसके कारण आँखों पर तनाव पड़ता है और आँखों में जलन होने लगती है और साथ ही पानी निकलने लगता है। तनाव के मुख्य कारण – पढ़ना, टीवी देखना, कंप्यूटर या मोबाइल फ़ोन की स्क्रीन को घंटों देखते रहना, बारीक काम करना, अँधेरे में कोई काम करना आदि।

चोट लगना :

यहाँ चोट का अर्थ आँख पर सीधे चोट या किसी घाव का होना नहीं है। इस चोट का अर्थ है धूप, धुल, मिट्टी, गंदगी, हवा, गर्मी और प्रदुषण के कारण आँखों को होने वाले नुकसान। इसके अलावा किसी केमिकल के संपर्क में आने के कारण भी आँखों में समस्या हो सकती है। इनमे – साबुन, शैम्पू, सेंट, कीटनाशक, क्लोरीन युक्त पूल का पानी और वायु प्रदुषण (धुंआ) आदि सम्मिलित है।

एलर्जी के कारण :

आँखों में खुजली सामान्य रूप से आँखों में एलर्जी होने का एक लक्षण होता है। जिसके कारण खुजली – नाक, गले, फेफड़े और त्वचा में भी होती है। छींक आना और आँखों में जलन होना अधिकतर एक ही साथ होते है। आँखों में एलर्जी होना और एलर्जी के साथ जलन होने को कंजंक्टिवाइटिस कहा जाता है।

आँखों में संक्रमण और आँखों के रोग :

आंख में किसी प्रकार की तकलीफ होने के कारण बेचैनी होने लगती है जो आँखों या शरीर में संक्रमण का एक लक्षण होता है। जब आँखों का बैक्टीरिया या वायरस के साथ सीधा संपर्क होता है तो उसके कारण आँखों में तकलीफ होने लगती है। परन्तु हर बार यह आँखों के रोगों का लक्षण नहीं होता। कई बार यह शरीर के किसी अन्य हिस्से में होने वाले संक्रमण के लक्षण के रूप में भी दिखाई दे सकता है।

आँखों से पानी आने के कारण :

आँख में जलन होने के बाद पानी आना कोई बड़ी समस्या नहीं है। परंतु अगर यह एक सीमा से अधिक हो जाए तो उस स्थिति में डॉक्टर से संपर्क कर लेना चाहिए। सामान्य तौर पर आँखों से पानी आने के निम्न कारण होते है –

  • एलर्जी, धूल, मिट्टी।
  • पलक के किनारे पर सूजन आना।
  • आंख आना।
  • धुंध या हवा में मौजूद रसायन।
  • उज्जवल प्रकाश।
  • आँख में कुछ गिर जाना।
  • आँख में कचरा।
  • संक्रमण के कारण।
  • अंदर की तरफ बढती हुई पलकें।
  • आँखों में जलन आदि।
इसके अतिरिक्त कुछ अन्य कारण भी जिनकी वजह से आँख में जलन और पानी आता है।
  • उम्र के कारण आंसू उत्पादन में कमी होना।
  • बहुत सी दवाएं भी साइड इफ़ेक्ट करती है जिनकी वजह से लगातार तकलीफ होती है।
  • बहुत तेज रौशनी को कई देर तक लगातार देखना भी आँखों को रुखा बना देता है।
  • आँखों की ठीक तरह से सफाई नहीं करना और लम्बे समय तक कांटेक्ट लेंस पहनने से आँखों में समस्याएं होने लगती है।

तो ये थे कुछ कारण जिनकी वजह से आँखों में जलन और पानी आने की समस्या होती है। अगर आपको अपनी आँखों में इनमे से कोई भी लक्षण दिखाई दे तो तुरन्त डॉक्टर से जाँच करवाएं।

Leave a comment