बेबी को सुलाने में यह गलतियां न करें

0

डॉक्टर्स के अनुसार बच्चा जितना ज्यादा सोता है, जितनी अच्छी नींद लेता है। उतना ही ज्यादा बच्चे की ग्रोथ अच्छे से होती है। लेकिन यदि आप बच्चे को अच्छे से सुलाते नहीं हो या किसी कारण यदि बच्चा अच्छे से नींद नहीं लेता है। तो इसकी वजह से बच्चे का स्वास्थ्य बुरी तरह से प्रभावित होता है। ऐसे में आपको बच्चे को सुलाते समय व् बच्चे के सोते हुए कुछ बातों का अच्छे से ध्यान रखना चाहिए। ताकि बच्चा अच्छी और गहरी नींद ले सके जिससे बच्चे की ग्रोथ अच्छे से हो। तो आइये अब जानते हैं वो टिप्स कौन से हैं।

बच्चे को दूध पिलाते समय इस बात का ध्यान रखें

यदि आपका बच्चा अभी दूध पीता है या दूध पीकर सोता है। तो इस बात का ध्यान रखें की आप अपनी मर्ज़ी से बच्चे से बच्चे के मुँह से स्तन या दूध की बोतल न छुड़वाएं। क्योंकि ऐसा करने से बच्चा भूखा रह सकता है। जिसकी वजह से बच्चे को अच्छी नींद नहीं आती है।

और यदि बच्चा सो भी जाता है तो भूख खत्म न होने की वजह से जल्दी उठकर रोने भी लगता है। इसके अलावा ऐसा नहीं है की बच्चे ने आंख बंद कर ली तो इसका मतलब वह सो गया है। बल्कि आपको बच्चे के पास खड़े होकर कम से कम दस मिनट के लिए इंतज़ार करना चाहिए। और जब बच्चा अच्छे से सो जाये तभी वहां से जाना चाहिए।

शोर और रौशनी न हो

बच्चे को ऐसी जगह पर सुलाएं जहां पर रौशनी व् लाइट कम हो। क्योंकि यदि बच्चा सो रहा होता है तो लाइट और शोर की वजह से कच्ची नींद में उठ जाता है। और यदि आप बच्चे को सुला रही होती हैं तो तो शोर व् लाइट की वजह से बच्चा सो नहीं पाता है। और इन दोनों की वजह से बच्चे की नींद पूरी नहीं हो पाती है। ऐसे में नींद न पूरी होने के कारण बच्चा चिड़चिड़ा हो जाता है।

बच्चे के डाइपर का ध्यान रखें

यदि आपने बच्चे को डाइपर पहनाया हुआ है तो सुलाने से पहले या तो बच्चे का डाइपर उतार दें। या फिर डाइपर को चेक करें की कहीं डाइपर गीला तो नहीं है। क्योंकि यदि डाइपर खराब है और आपने उसी में बच्चे को सुला दिया है। तो डाइपर के कारण बच्चे को सोने में परेशानी हो सकती है।

बच्चे के सोने की जगह का ध्यान रखें

जहां पर बच्चे ने सोना है वो जगह आरामदायक होनी चाहिए। क्योंकि यदि बच्चे के सोने की जगह आरामदायक नहीं होती है। तो इसकी वजह से भी शिशु परेशानी का अनुभव करता है। और बच्चे को अच्छी नींद लेने में दिक्कत होती है। साथ ही बच्चा जब सो जाता है तो उसके चरों तरफ पिल्लो रख देने चाहिए ताकि बच्चे के सोने के बाद नीचे गिरने का डर न रहे।

सोते समय बच्चे को न छेड़े

जब बच्चा सो जाता है तो ऐसा लगता की घर की रौनक कहीं चली गई है। ऐसे में कई बार आप सोते हुए बच्चे से छेड़खानी करना शुरू कर देते हैं। जो की गलत बात होती है। ऐसा करने से बच्चा आधी नींद में उठ जाता है जिससे बच्चा चिड़चिड़ा हो जाता है। और कुछ बच्चे तो बहुत ज्यादा रोने भी लग जाते हैं।

तो यह हैं कुछ टिप्स जिनका ध्यान बच्चे को सुलाते समय रखने से बच्चे को अच्छी नींद लेने में मदद मिलती है। और सोकर उठने के बाद बच्चा रिलैक्स व् एक्टिव महसूस करता है।