Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

लॉक डाउन से गर्भवती महिला को क्या फायदे हुए हैं और क्या नुकसान हुए हैं?

0

कोरोना वायरस का डर आजकल हर जगह देखने को मिल रहा है। क्योंकि यह एक ऐसा वायरस है जो की सम्पर्क में आने से बहुत तेजी से फ़ैल रहा है। और इस वायरस का खतरा सबसे ज्यादा बुर्जुग, बच्चों, किसी बिमारी से जूझ रहे लोगो को, गर्भवती महिला को सबसे अधिक है। क्योंकि इन सभी का इम्युनिटी लेवल बहुत कमजोर होता है। और इम्युनिटी कमजोर होने के कारण वायरस के कारण संक्रमण बहुत जल्दी होता है। लेकिन लॉक डाउन के दौरान गर्भवती महिला को इसके बहुत से फायदे भी हुए हैं और फायदों के साथ कुछ नुकसान भी हुए हैं। तो आइये इस आर्टिकल में हम आपको इस बारे में विस्तार से बताने जा रहे हैं।

लॉक डाउन के फायदे गर्भवती महिला के लिए

प्रेग्नेंट महिला को लॉक डाउन से एक नहीं बल्कि बहुत से फायदे हुए हैं यदि आप भी माँ बनने वाली हैं, तो आपको भी इस बारे में पता होना चाहिए, तो आइये अब जानते हैं की वो फायदे कौन से हैं।

प्रदूषण का नहीं है खतरा

लॉक डाउन के चलते वाहन, फैक्टरियां, कंस्ट्रक्शन आदि सभी का काम बंद हो गया है। जिससे पर्यावरण में बहुत सुधार आया है क्योंकि प्रदूषण कम हो गया है। और गर्भवती महिला को इससे बहुत फायदा मिला है क्योंकि प्रदूषण के कारण गर्भवती महिला व् शिशु दोनों को खतरा होता है, लेकिन अब जब प्रदूषण में कमी आई है तो माँ और बच्चे दोनों को स्वस्थ रहने में मदद मिल रही है।

जंक फ़ूड से मिला छुटकारा

प्रेग्नेंट महिला को जंक फ़ूड की मनाही होती है लेकिन फिर भी कई बार मुँह के स्वाद को बढ़ाने के लिए महिला जंक फ़ूड का सेवन कर लेती है। ऐसे में प्रेग्नेंट महिला को जंक फ़ूड के कारण होने वाली परेशानी से भी निजात मिल रहा है क्योंकि अब बाहर न तो किसी तरह की जंक फ़ूड की शॉप खुली हैं और न ही डर के कारण महिला का इसे खाने का मन कर रहा है। और यदि महिला तेलीय, मसालेदार, जंक फ़ूड का सेवन नहीं कर रही है तो इससे महिला व् बच्चे को फायदा ही रहा है।

आना जाना हुआ कम

गर्भवती महिला यदि ट्रैवेलिंग करती है, घर के काम के लिए बाहर जाती है, किसी की शादी या फैमिली में गेस्ट के आने पर बिज़ी रहती है, आदि तो इन सभी कामों से गर्भवती महिला को परेशानी हो सकती है लेकिन लॉक डाउन के चलते अब प्रेग्नेंट महिला को इन सब से निजात मिल गया है। क्योंकि इस समय न तो प्रेग्नेंट महिला कहीं बाहर जा सकती है और न ही कोई उनके घर में आ सकता है।

साफ़ सफाई का रखा जा रहा है ध्यान

प्रेगनेंसी के दौरान संक्रमण से बचाव के लिए साफ़ सफाई का ध्यान रखना बहुत जरुरी होता है लेकिन फिर भी कई बार महिला लापरवाही कर जाती है। ऐसे में कोरोना वायरस के चलते महिला बिल्कुल भी लापरवाही नहीं कर रही है और पहले से भी ज्यादा साफ़ सफाई का ध्यान रख रही है जिससे कोरोना वायरस के साथ महिला को हर तरह के संक्रमण से बचे रहने में मदद मिल रही है।

परिवार का मिल रहा है साथ

प्रेगनेंसी के दौरान परिवार का साथ बहुत जरुरी होता है। लेकिन चाहते हुए भी कई बार घर के सदस्य उतना समय नहीं दे पाते हैं। ऐसे में लॉक डाउन के चलते घर के सभी सदस्य घर में ही है और प्रेग्नेंट महिला परिवार के साथ अच्छा समय बिता रही है जिससे प्रेग्नेंट महिला खुश भी होगी, जिससे बच्चे को भी खुश रहने में मदद मिलती है। साथ ही घर में प्रेग्नेंट महिला की केयर भी अच्छे से हो रही है।

लॉक डाउन के कारण प्रेग्नेंट महिला को होने वाले नुकसान

यदि लॉक डाउन के चलते गर्भवती महिला को फायदे हुए हैं तो इसके कारण गर्भवती महिला को बहुत से नुकसान भी हो रहे हैं। तो आइये अब जानते हैं की लोक डाउन के कारण गर्भवती महिला को कौन से नुकसान हो रहे हैं।

डॉक्टर से मिलने में हो रही है मुश्किल

लॉक डाउन के चलते गर्भवती महिला का हॉस्पिटल में जाना मुश्किल हो गया है और महिला डॉक्टर से नहीं मिल पा रही है, और कुछ महिलाएं जिनको दिक्कत है वो भी डॉक्टर से नहीं मिल पा रही हैं। जिसके कारण डॉक्टर से मिलने में महिला को परेशानी हो रही है।

जिन महिलाओं की डिलीवरी होने वाली है उन्हें हो रही है दिक्कत

यदि कोई गर्भवती महिला है जिसकी डिलीवरी की डेट आने वाली है, तो उन महिलाओं को भी इस दौरान परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। क्योंकि हॉस्पिटल में जाने के लिए घर से बाहर निकलने पर दिक्कत हो रही है ऐसे में महिला को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। साथ ही महिला की जहां डिलीवरी होनी थी जिस डॉक्टर के पास महिला का इलाज चल रहा था वहां महिला की डिलीवरी नहीं हो रही है।

डर का माहौल है

इस दौरान हर छोटी सी छोटी बात को लेकर प्रेग्नेंट महिला को डर लग रहा है क्योंकि प्रेगनेंसी के दौरान महिला को कोई भी दिक्कत होती है तो उसका असर बच्चे पर भी पड़ता है। ऐसे में यदि महिला को गलती से खांसी भी आ रही है महिला बहुत ज्यादा परेशानी, तनाव का सामना कर रही है।

चीजों के इस्तेमाल से लग रहा है डर

खाने की चीजें, सब्जियां, राशन आदि सभी चीजें घर के बाहर से आ रहा है ऐसे में प्रेग्नेंट महिला को किसी भी चीज का इस्तेमाल करने से पहले डर लग रहा है। की कहीं किसी चीज को छूने के कारण महिला को इन्फेक्शन न हो जाये।

एक्सरसाइज करने में हो रही है दिक्कत

लॉक डाउन के चलते गर्भवती महिला न तो पार्क में सैर करने जा सकती है, सीढ़ियां अधिक चढ़ने के कारण महिला को दिक्कत हो सकती है इसीलिए महिला छत पर चढ़कर भी व्यायाम नहीं कर सकती है और गर्मी का मौसम भी चल रहा है, ऐसे में महिला को घर में वजन बढ़ने जैसी समस्या हो सकती है क्योंकि किसी भी तरह का व्यायाम महिला नहीं कर पा रही है।

खाने पीने के कारण हो रही है परेशानी

घर में जब सब इक्कठे बैठते हैं तो कुछ न कुछ अलग बनता रहता है, स्वादिष्ट, चटपटा, मसालेदार आदि, ऐसे में प्रेग्नेंट महिला भी घर में है तो उन चीजों का सेवन कर सकती है। जिसके कारण गर्भवती महिला को पाचन से जुडी परेशानियों का सामना अधिक करना पड़ सकता है।

तो यह हैं कुछ फायदे और नुकसान जो गर्भवती महिला को लॉक डाउन में गर्भवती महिला को हो रहे हैं, तो यदि आप भी प्रेग्नेंट हैं तो आप एक बात का ध्यान रखें की घर में रहें, सुरक्षित रहें, सेहत के प्रति कोई लापरवाही न बरतें, ताकि आपको और आपके बच्चे दोनों को स्वस्थ रहने में मदद मिल सके।

Leave a comment