Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

प्रेग्नेंट महिला के लिए बेस्ट फूड्स

0

प्रेग्नेंट होना महिला के लिए उसकी जिंदगी का सबसे खूबसूरत लम्हा होने के साथ साथ बहुत ही चुनौतियों से भरा समय भी होता है। क्योंकि इस दौरान महिला के शरीर में बहुत से हार्मोनल बदलाव होते है, शारीरिक बदलाव होते हैं, शारीरिक परेशानियां होती है, मानसिक रूप से दिक्कत होती है, आदि। और इन सभी परेशानियों के होने के बाद भी महिला को अपना अच्छे से ध्यान रखने की सलाह दी जाती है।

ऐसे में महिला को फिट रहने के लिए और बच्चे के बेहतर विकास के लिए सबसे ज्यादा ध्यान अपनी डाइट का रखना चाहिए। क्योंकि जितना महिला के शरीर में पोषक तत्व होंगे उतना ही महिला फिट रहेगी और जब महिला फिट रहेगी तो प्रेगनेंसी में आने वाली दिक्कतों को कम करने में भी मदद मिलेगी। तो आइये आज इस आर्टिकल में हम आपको प्रेग्नेंट महिला को प्रेगनेंसी की तीनों तिमाही में क्या क्या खाना चाहिए जो महिला के लिए बेस्ट फ़ूड होते हैं उस बारे में बताने जा रहे हैं।

प्रेगनेंसी की पहली तिमाही में क्या खाएं

केला: गर्भावस्था की पहली तिमाही में जी मिचलाना, उल्टी जैसी समस्या से निजात पाने के लिए केला खाएं।

पालक व् अन्य हरी सब्जियां: शरीर में खून की कमी को पूरा करने व् गर्भ में शिशु को जन्म दोष से बचाने के लिए पालक व् अन्य हरी सब्जियों का भरपूर सेवन करें।

दालें व् फलियां: प्रोटीन, कैल्शियम व् अन्य मिनरल्स के स्त्रोत दालें व् फलियों का सेवन भी जरूर करें क्योंकि यह शिशु के शुरूआती विकास को बेहतर करने में मदद करती है।

डेयरी उत्पाद: दूध व् दूध से बनी चीजों का भरपूर सेवन करें। क्योंकि कैल्शियम, प्रोटीन, फैट से भरपूर डेयरी प्रोडक्ट्स माँ व् बच्चे दोनों के लिए फायदेमंद होते है।

फल: प्रेगनेंसी की पहली तिमाही में फलों का भरपूर सेवन करें खासकर सेब, अनार, अमरुद आदि का क्योंकि यह सभी पोषक तत्वों से भरौर होते हैं। जो शिशु के शुरूआती विकास को बेहतर करने और महिला को फिट रखने में मदद करते हैं।

दूसरी तिमाही में प्रेग्नेंट महिला क्या खाएं

अंडे: दूसरी तिमाही में महिला को अण्डों का सेवन जरूर करना चाहिए क्योंकि इसमें choline मौजूद होता है। जो गर्भ में पल रशे शिशु के दिमागी विकास को बढ़ाने में मदद करता है।

नॉन वेज: यदि प्रेग्नेंट महिला चाहे तो प्रेगनेंसी की दूसरी तिमाही में नॉन वेज जैसे की फिश जिसमे मर्करी न हो, चिकन आदि का सेवन कर सकती है। क्योंकि यह माँ व् बच्चे दोनों के लिए फायदेमंद होता है।

दही व् दूध: दही और दूध का सेवन भी प्रेगनेंसी की दूसरी तिमाहीं में भरपूर करना चाहिए। क्योंकि यह शिशु की हड्ड़ियों के विकास को बेहतर करने में मदद करते हैं।

सब्जियां व् फल: प्रेगनेंसी की दूसरी तिमाही में सब्जियों व् फलों का भरपूर सेवन करना चाहिए। क्योंकि यह पोषक तत्वों खान होते हैं जो प्रेगनेंसी के दौरान महिला को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।

प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में महिला क्या खाएं

फिश: यदि प्रेग्नेंट महिला फिश खाती है तो प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में महिला को फैटी फिश का सेवन जरूर करना चाहिए। क्योंकि फिश में ओमेगा 3 फैटी एसिड भरपूर मात्रा में मौजूद होता है जो गर्भस्थ शिशु के दिल और दिमाग के बेहतर विकास के लिए फायदेमंद होता है।

ड्राई फ्रूट्स: ड्राई फ्रूट्स का सेवन भी प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में गर्भवती महिला को भरपूर करना चाहिए। क्योंकि ड्राई फ्रूट्स में मौजूद पोषक तत्व होने वाले शिशु के विकास को तेजी से बढ़ाने में मदद करते हैं।

देसी घी: प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में महिला को थोड़ा बहुत देसी घी भी जरूर खाना चाहिए। क्योंकि देसी घी बच्चे के विकास को तेजी से करने के साथ महिला के शरीर को डिलीवरी के लिए तैयार करने में भी मदद करते हैं।

दालें: दालों का सेवन भी प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में महिला को जरूर करना चाहिए। क्योंकि दालें प्रोटीन और फाइबर का बेहतरीन स्त्रोत होती है। जो महिला को पेट सम्बन्धी परेशानी से बचाने के साथ माँ और बच्चे को फिट रखने में भी मदद करती है।

तो यह हैं बेस्ट फ़ूड, जिनका सेवन प्रेगनेंसी की तीनों तिमाही में महिला को करना चाहिए। इसके अलावा महिला को अच्छे से धोने के बाद सब्जियों फलों का इस्तेमाल करना चाहिए, ताज़ी चीजों का सेवन करना चाहिए, ज्यादा मसालेदार चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए, समय पर खाना चाहिए, आदि।

Leave a comment