Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

हेल्दी बेबी के लिए प्रेग्नेंट महिला रोजाना खाएं यह चीजें?

0

मां बनना हर महिला के लिए जीवन का सबसे सुखद और बहुत ही अनोखा एहसास होता है और महिला के साथ ही परिवार के अन्‍य लोगों को भी घर में आने वाले नन्हे मेहमान का बेसब्री से इंतज़ार होता है। इसलिए जैसे ही महिला को पता चलता है की वो गर्भवती है तो उसकी और परिवार की खुशी का ठिकाना नहीं रहता है। साथ ही महिला प्रेगनेंसी की खबर सुनने के बाद से ही अपने आने वाले मेहमान की हेल्‍थ को बनाए रखने, उसके बेहतर विकास के लिए के लिए हर संभव कोशिश करना शुरू कर देती है।

ताकि आने वाला नन्हा मेहमान हष्ट पुष्ट और दुरुस्त हो, ऐसे में महिलाओं को खाने पीने की चीजों को लेकर थोड़ी परेशानी हो सकती है। क्योंकि उन्हें यह समझ नहीं आता है की महिला को प्रेगनेंसी के दौरान क्या खाना चाहिए और क्या नहीं। तो आइये आज इस आर्टिकल में हम गर्भवती महिला को खान पान से जुडी कुछ चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनका सेवन प्रेगनेंसी के दौरान करने से गर्भ में पल रहे शिशु को हेल्दी रखने में मदद मिलती है।

सब्जियां व् फल

गर्भावस्था के दौरान महिला को उन सभी सब्जियों या फलों का सेवन करना चाहिए जो गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर विकास में मदद करते हैं। साथ ही महिला को रोजाना एक फल का सेवन जरूर करना चाहिए और फलों का सेवन बदल बदल कर करना चाहिए। क्योंकि एक ही फल रोजाना खाने से महिला को केवल एक ही तरह के पोषक तत्व मिलते हैं जबकि अलग अलग फलों का सेवन करने से महिला को अलग अलग पोषक तत्व मिलते हैं साथ ही शरीर में सभी पोषक तत्वों की मात्रा सही रहती है। ऐसे ही महिला को रोजाना सब्जियों को अलग अलग खाना चाहिए।

दालें

दालें पोषक तत्वों की खान होती है ऐसे में गर्भ में शिशु के बेहतर विकास के लिए महिला को रोजाना एक दाल का सेवन जरूर करना चाहिए। जैसे की महिला यदि दिन में सब्ज़ी खाती है तो रात के समय महिला को दाल खानी चाहिए। वैसे भी रात के समय दाल खाने से खाने को जल्दी हज़म होने में मदद मिलती है। ऐसे में महिला को रोजाना अलग अलग दालों का सेवन करना चाहिए।

अंडा व् नॉन वेज

गर्भावस्था की पहली तिमाही के बाद महिला को अंडे का सेवन नॉन वेज का सेवन जरूर करना चाहिए। जैसे की महिला हफ्ते में एक या दो दिन नॉन वेज खा सकती है और रोजाना या एक दिन छोड़कर अंडे का सेवन कर सकती है। अंडा व् नॉन वेज पोषक तत्वों से भरपूर होता है। जैसे की इनमे कैल्शियम, आयरन, फोलेट, आयरन, ओमेगा फैटी एसिड, ाडी भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं। और यह सभी पोषक तत्व गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर विकास में मदद करते हैं। और आपका होने वाला शिशु हेल्दी होता है।

ड्राई फ्रूट्स

बादाम, अखरोट जैसे ड्राई फ्रूट्स का सिमित मात्रा में महिला को रोजाना सेवन करना चाहिए। क्योंकि इनमे वो सभी पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो शिशु के शरीर के बेहतर विकास के साथ शिशु के मस्तिष्क के बेहतर विकास में भी मदद करते हैं।

केसर मिल्क

गर्भावस्था की पहली तिमाही के बाद महिला को केसर मिल्क का सेवन भी जरूर करना चाहिए। क्योंकि केसर और दूध दोनों मिलकर गर्भ में पल रहे शिशु को दुगुना फायदा पहुंचाते हैं जिससे शिशु का विकास अच्छे से होने के साथ शिशु को बिमारियों व् संक्रमण से बचे रहने में भी मदद मिलती है। साथ ही ऐसा भी माना जाता है की प्रेगनेंसी के दौरान केसर मिल्क पीने से आपका होने वाला बच्चा गोरा होता है। लेकिन ध्यान रखें की दूध में तीन से चार रेशे ही केसर के डालें क्योंकि इससे ज्यादा केसर का सेवन बच्चे के लिए नुकसानदायक हो सकता है।

आंवले का मुरब्बा

यदि आप आंवलें का मुरब्बा खा लेती है तो प्रेगनेंसी के दौरान आपको आंवले का मुरब्बा जरूर खाना चाहिए। क्योंकि आंवले का मुरब्बा विटामिन सी, आयरन, कैल्शियम, फाइबर जैसे पोषक तत्वों से भरपूर होता है। जो प्रेग्नेंट महिला की सेहत के लिए फायदेमंद होने के साथ गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर विकास में भी मदद करता है। ऐसे में प्रेगनेंसी के दौरान महिला को गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर विकास के लिए आंवलें का मुरब्बा जरूर खाना चाहिए।

डेयरी प्रोडक्ट्स

डेयरी प्रोडक्ट्स जैसे की दूध, दही, घी, पनीर, आदि कैल्शियम, प्रोटीन, ओमेगा फैटी एसिड का बेहतरीन स्त्रोत होते हैं। और यह सभी पोषक तत्व गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर विकास में मदद करते हैं। ऐसे में प्रेगनेंसी के दौरान महिला को डेयरी प्रोडक्ट्स का सेवन भरपूर मात्रा में करना चाहिए ताकि गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर विकास में मदद मिल सके।

शकरकंद

गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर शारीरिक व् मानसिक विकास के लिए गर्भवती महिला को शकरकंद भी जरूर खाना चाहिए। इसे खाने से गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर विकास में मदद मिलती है साथ ही शिशु एक्टिव व् तंदरुस्त रहता है।

तरल पदार्थ

पोषक तत्वों से भरपूर डाइट के साथ प्रेग्नेंट महिला को तरल पदार्थों का सेवन भी भरपूर मात्रा में करना चाहिए। क्योंकि तरल पदार्थ भरपूर मात्रा में लेने से प्रेग्नेंट महिला दुरुस्त रहती है साथ ही गर्भाशय में एमनियोटिक फ्लूड की मात्रा सही रहती है। जिससे गर्भ में शिशु के विकास में कोई कमी नहीं आती है। ऐसे में तरल पदार्थों के लिए प्रेग्नेंट महिला को पानी के साथ फलों का रस, निम्बू पानी, नारियल पानी आदि का सेवन भी जरूर करना चाहिए।

गर्भ में पल रहे शिशु को हेल्दी रखने के अन्य टिप्स

  • महिला पानी का भरपूर सेवन करें।
  • अपने आहार को सही समय से ले।
  • उन चीजों का सेवन नहीं करें जिसमे पोषक तत्वों की कमी हो साथ ही जिनका सेवन करने से महिला को कोई दिक्कत हो।
  • गर्भ में पल रहे शिशु से बातें करें।
  • ऐसी जगह पर जाने से बचे जहां पर ज्यादा भीड़भाड़ या शोर हो।
  • सही समय से अपना टीकाकरण व् जांच करवाएं।
  • खान पान के साथ भरपूर नींद लें।
  • अपने आप को खुश और एक्टिव रखें।
  • कोई भी दिक्कत होने पर तुरंत डॉक्टर से मिलें।

तो यह हैं कुछ टिप्स जिन्हे फॉलो करने से प्रेगनेंसी के दौरान गर्भ में पल रहे शिशु को बेहतर शारीरिक व् मानसिक विकास को बढ़ाने और परेशानियों से बचे रहने में मदद मिलती है। यदि आप भी माँ बनने वाली है तो अपने शिशु की बेहतरीन ग्रोथ और शिशु को किसी भी तरह की दिक्कत से बचाने के लिए इन टिप्स का ध्यान रखें।

Best foods to eat during pregnancy to get healthy baby

Leave a comment