Ultimate magazine theme for WordPress.

बर्थिंग बॉल क्या होती है? प्रेगनेंसी के दौरान बर्थिंग बॉल कैसे इस्तेमाल की जाती है

बर्थिंग बॉल, प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला को बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। जैसे की कमर दर्द, पेट के निचले हिस्से में दर्द, डिलीवरी को लेकर तनाव, बॉडी में अकड़न, मांसपेशियों में खिंचाव होने के कारण बॉडी में दर्द, आदि। और इन परेशानियों से बचाव के लिए एंटीबायोटिक दवाइयों का सेवन प्रेगनेंसी के समय नुकसानदायक हो सकता है। तो इन परेशानियों से बचाव के लिए प्रेग्नेंट महिला कुछ अलग तरीको का इस्तेमाल कर सकती है। जैसे की मैडिटेशन, योगासन, सैर, मैटरनिटी बेल्ट का इस्तेमाल, प्रेगनेंसी पिल्लो का इस्तेमाल आदि। यह सभी प्रेगनेंसी के दौरान आने वाली परेशानियों को कम करने में मदद करते हैं। तो आज इस आर्टिकल में हम आपको एक और ऐसी चीज के बारे में बताने जा रहे हैं जो प्रेगनेंसी के दौरान फायदेमंद होती है और वो है बर्थिंग बॉल।

बर्थिंग बॉल क्या होती है?

यह एक ऐसी बॉल होती है जो प्रेगनेंसी के दौरान महिला के लिए बहुत फायदेमंद होती है। और इस बॉल का इस्तेमाल केवल प्रेगनेंसी के दौरान ही नहीं बल्कि शिशु के जन्म के बाद भी किया जा सकता है। आपने जिम में एक बड़ी से बॉल को देखा होगा, बर्थिंग बॉल भी कुछ ऐसी ही होती है। यह न फूटने वाले पदार्थ से बनी होती है। ऐसे में प्रेग्नेंट महिला को इस बॉल को लेकर मन में कोई डर नहीं रखना चाहिए। और यदि यह बॉल खाली होती भी है। तो धीरे धीरे इसमें से हवा निकलती है। यह एक दम से खाली नहीं हो जाती है। प्रेगनेंसी के दौरान इस्तेमाल की जाने वाली यह बॉल आरामदायक होने के साथ बहुत फायदेमंद भी होती है।

Birthing ball का इस्तेमाल करने के फायदे

  • यह बॉल बहुत ही आरामदायक होती है गर्भवती महिला कुर्सी या सोफे के मुकाबले इस बॉल पर आरामदायक तरीके से बैठ सकती है।
  • बर्थिंग बॉल का इस्तेमाल करने से प्रेग्नेंट महिला को पीठ में दर्द की समस्या से राहत पाने में मदद मिलती है।
  • गर्भाशय में ब्लड फ्लो को बेहतर तरीके से होने में मदद मिलती है।
  • रीढ़ की हड्डी पर पड़ने वाले दबाव के कारण हो रही परेशानी को कम करने के लिए इसका इस्तेमाल करना फायदेमंद होता है।
  • पेल्विक एरिया की मांसपेशियों को आराम पहुंचाने में मदद करती है जिससे डिलीवरी के दौरान अधिक दर्द की परेशानी से बचे रहने में मदद मिलती है।
  • गर्भ में पल रहे शिशु को सही पोजीशन में लाने के लिए इस बॉल का इस्तेमाल करना बहुत फायदेमंद होता है।
  • गर्भावस्था के दौरान बर्थिंग बॉल की मदद से प्रेग्नेंट महिला का व्यायाम आराम से हो जाता है।

किस तरह करें बर्थिंग बॉल का इस्तेमाल

  • बर्थिंग बॉल का इस्तेमाल बहुत तरीको से किया जा सकता है।
  • जैसे की आप इस पर बैठकर अपने हाथों से अपने पैरों को छूकर व्यायाम कर सकती है।
  • आप घुटने के बल बैठकर अपने दोनों हाथों के सहारे अपने मुँह इस बॉल पर रखकर व्यायाम कर सकती है, इससे कमर में दर्द से आराम मिलता है।
  • इसके अलावा और भी तरीको से आप इस बॉल का इस्तेमाल कर सकती है ऐसे में इसके लिए आपको एक बार डॉक्टर से बात करनी चाहिए।
  • ताकि कौन सी पोजीशन सही और प्रेगनेंसी के दौरान फायदेमंद है उसके बारे में आपको अच्छे से जानकारी मिल सके।

प्रेगनेंसी के दौरान Birthing ball का साइज क्या होना चाहिए

  • गर्भावस्था के दौरान आपकी हाइट के अनुसार बर्थिंग बॉल का साइज लिए जाता है।
  • जैसे की यदि आपकी लम्बाई यदि 5 फुट 4 इंच से कम है तो बॉल का साइज 55 सेंटी मीटर होना चाहिए।
  • यदि आपकी लम्बाई 5 फुट 4 इंच से 5 फुट 10 इंच तक है तो बॉल का साइज 65 सेंटी मीटर होना चाहिए।
  • इसके अलावा यदि आपकी लम्बाई 5 फुट 10 इंच से ज्यादा है तो 75 सेंटीमीटर की बॉल लेनी चाहिए।

बर्थिंग बॉल का इस्तेमाल करते समय बरतें यह सावधानियां

  • ज्यादा तापमान, आग के आस पास से इस बॉल को दूर रखें।
  • किसी भी नुकीली चीज को बॉल के आस पास न रखें।
  • खुरदरी जगह पर इस बॉल को रखने से बचें।
  • जब भी बॉल खरीदने जाएँ तो हवा भरने के लिए पंप जरूर खरीदें।
  • बॉल का कवर जरूर खरीदें ताकि बॉल को सेफ रखने में मदद मिल सके।

तो यह हैं प्रेगनेंसी के दौरान इस्तेमाल की जाने वाली बर्थिंग बॉल से जुडी कुछ जरुरी बातें, जो प्रेग्नेंट महिला के लिए बहुत फायदेमंद हो सकती है। ऐसे में यदि आप भी प्रेग्नेंट हैं तो आप भी प्रेगनेंसी के दौरान आने वाली परेशानियों को कम करने के लिए बर्थिंग बॉल को खरीद सकती है। ताकि गर्भावस्था में आपको रिलैक्स रहने में मदद मिल सके।