बवासीर में खून रोकने के उपाय

0

बवासीर, खूनी बवासीर, पाइल्स, पाइल्स क्या होती है, बवासीर क्या होती है, बवासीर के कारण, बवासीर का इलाज, बवासीर के लक्षण, खूनी बवासीर का इलाज, खूनी बवासीर के घरेलू इलाज, Piles

बवासीर को पाइल्स और हेमोर्रोइड्स के नाम से भी जाना जाता है। यह एक बिमारी होती है जो की गुदा द्वार में होती है, जिसके होने के कारण मल पास करते समय दर्द के साथ खून आने की समस्या भी शुरू हो जाती है। पहले यह समस्या अधिक उम्र के लोगो को हुआ करती थी लेकिन आज कल बदलती जीवनशैली और गलत आदतों के कारण बच्चे और जवान सभी इससे परेशान हो जाते है। तो आइये अब जानते हैं की पाइल्स होने के क्या क्या कारण हो सकते हैं और खूनी बवासीर से बचने के लिए आप क्या कर सकते हैं।

बवासीर होने के कारण

  • यदि आपके घर में किसी को यह समस्या होती है तो आपको भी इससे परेशान होना पड़ सकता है।
  • खान पान में लापरवाही अधिक तेल मसाले वाला भोजन खाने के कारण भी आपको बवासीर जैसी बीमारी हो सकती है।
  • फिटनेस का ध्यान न रखना, मोटापा होना आदि भी इस बिमारी को बुलावा देता है।
  • जंक फ़ूड का सेवन अधिक करने पर भी बवासीर की समस्या हो सकती है।
  • जिन लोगो को कब्ज़ की समस्या अधिक रहती है उन्हें भी बवासीर होने की सम्भावना होती है।
  • जो लोग ज्यादा देर तक हमेशा एक ही स्थान पर बैठे रहते हैं उन्हें बवासीर की समस्या बहुत जल्दी होती है।
  • प्रेगनेंसी के दौरान गुदा द्वार के आस पास की नसों पर दबाव पड़ता हैं, जिसके कारण महिलाओं को यह समस्या हो सकती है।
  • धूम्रपान, शराब, तम्बाकू आदि का सेवन करने वाले लोगो को भी यह समस्या हो सकती है।
  • उम्र बढ़ने के साथ नसों में खिंचाव बढ़ने के कारण कई बाद आपको इस समस्या का सामना करना पड़ सकता है।
  • जो लोग अधिक देर तक मल को रोककर रखते हैं उन्हें भी यह परेशानी हो सकती है।

बवासीर के लक्षण क्या क्या होते हैं

  • मल पास करते समय गुदा द्वार में दर्द का होना और खून का आना
  • बार बार कब्ज़ की समस्या से परेशान रहना
  • भूख में कमी आना
  • शरीर में कमजोरी महसूस करना
  • खुजली की समस्या अधिक रहना खास कर गुदा द्वार में
  • एसिडिटी की समस्या अधिक रहना

खूनी बवासीर से बचने के उपाय

बवासीर में खून का आना बहुत परेशानी भरा हो सकता है। ऐसे में इस समस्या के ज्यादा होने पर आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए, और साथ ही आप चाहे तो कुछ उपाय घर पर भी करके इस समस्या से निजात पा सकते हैं। तो आइये अब जानते हैं की बवासीर में आने वाले खून की समस्या से बचने के लिए आप क्या क्या कर सकते हैं।

अंजीर

अंजीर का इस्तेमाल करने से आपको बवासीर में आने वाले खून की समस्या से राहत पाने में मदद मिलती है। इसके लिए आप दो सूखे अंजीर को रात भर के लिए पानी में भिगोकर रख दें, उसके बाद सुबह उठकर उन अंजीर का सेवन करें। साथ ही उसके बाद कम से कम एक घंटे तक कुछ भी न खाएं न पीएं ऐसा दो से तीन दिन तक करने पर ही इसका फायदा दिखाई देगा।

छाछ

खूनी बवासीर से बचने के लिए छाछ का सेवन भी बहुत फायदेमंद होता है, इसके लिए आप दोपहर के भोजन के साथ एक गिलास छाछ में थोड़ा सा सेंधा नमक और थोड़ी सी पीसी हुई अजवाइन मिलाएं। उसके बाद भोजन के साथ उसका सेवन करें ऐसा करने से आपको आराम मिलेगा, साथ ही इसका सेवन करने से जो बवासीर के मस्से खत्म हो जाते है वो दुबारा भी नहीं होते हैं।

नारियल की जटा

यह एक ऐसा उपाय है जो कितनी भी पुरानी पाइल्स की समस्या हो उसे एक से दो दिन में ही खत्म करने में मदद करता है। इस उपाय को करने के लिए आप नारियल की जटा को पूरी तरह से जला कर उसकी राख को इक्कट्ठा कर लीजिए, उसके बाद इसे एक शीशी में डालकर रखें। और एक दिन में तीन बार तीन ग्राम दही या छाछ में डालकर लें। आपको बहुत फायदा मिलेगा और किसी भी तरह का रक्तस्त्राव हो उसे ठीक करने के लिए यह उपाय बहुत उपयोगी है। साथ ही इस बात का ध्यान भी रखें की दही या छाछ ताज़ी होनी चाहिए खट्टी दही या छाछ का सेवन नहीं करना चाहिए।

कच्चा प्याज

कच्चा प्याज भी बवासीर की समस्या से बचने के लिए एक आसान उपाय होता है, यदि आप नियमित कच्चे प्याज के साथ छाछ का सेवन करते हैं तो आपको इस परेशानी से बचाव करने में मदद मिलती है।

काले तिल

खूनी बवासीर से बचने के लिए आप यदि काले तिल का सेवन ताजे मक्खन के साथ दिन में दो बार करते हैं तो आपको खूनी बवासीर की समस्या से निजात पाने में बहुत तेजी से मदद मिलती है।

मूली का रस

मूली का सेवन और मूली का रस पीने से भी आपको बवासीर की समस्या से बचने में मदद मिलती है। आप सलाद में मूली का सेवन करने के साथ दिन में दो बार मूली का रस पीते हैं तो आपको बहुत जल्दी इसका असर देखने को मिलता है।

इसबगोल

इसबगोल की भूसी भी बवासीर से बचने का एक आसान और सरल उपाय होता है, इसके लिए आप पानी या दूध में दो चम्मच इसबगोल की भूसी मिलाकर दिन में दो बार इसका सेवन करें आपको इसका फायदा जरूर मिलेगा।

निम्बू

निम्बू भी खूनी बवासीर से बचने में आपकी मदद करता है, इसके लिए आप एक निम्बू को दो हिस्सों में काट लें, उसके बाद उस पर चार से पांच ग्राम कत्था छिड़क दें। अब रात भर के लिए इन निम्बू के टुकड़ो को छत पर रख दें, और सुबह उठकर इन दोनों निम्बू के टुकड़ों को अच्छे से चूस लें, ऐसा कम से कम पांच से छह दिन तक करें। इस उपाय को करने से आपको खूनी बवासीर की समस्या से राहत मिलती है।

बवासीर से बचने के कुछ टिप्स

  • ज्यादा देर तक एक ही स्थान पर न बैठें।
  • फलों का भरपूर मात्रा में सेवन करें खासकर जिनमे फाइबर की मात्रा अधिक होती है, जैसर की पपीता, आम आदि।
  • नशे का सेवन न करें।
  • जिन चीजों को खाने से आपको कब्ज़ बनती है उनका सेवन नहीं करना चाहिए।
  • जंक फ़ूड, ज्यादा तेल मसालें वाले खाने से परहेज करें, क्योंकि इनका अधिक सेवन भी बवासीर का कारण बनता है।
  • यदि आपको मल में से खून आता है तो इसका इलाज तुरंत करना चाहिए।
  • व्यायाम व् योगासन करना चाहिए।
  • ताजा फलों का रस पीना चाहिए
  • पानी का सेवन भरपूर मात्रा में करना चाहिए।

तो यह हैं कुछ उपाय जिसके इस्तेमाल से आप खूनी बवासीर की समस्या से राहत पा सकते हैं। इसके अलावा इस समस्या से बचने के लिए आपको अपनी जीवनशैली को सही रखना चाहिए, जैसे व्यायाम आदि करने शरीर की फिटनेस का ध्यान रखना चाहिए, अपने खान पान में ज्यादा तेज मसालों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए, जंक फ़ूड का अधिक सेवन करने की बजाय संतुलित व् पौष्टिक आहार का सेवन करना चाहिए।