Take a fresh look at your lifestyle.

ये लक्षण बताएंगे की आप प्रेग्नेंट हैं या नहीं

0

ये लक्षण बताएंगे की आप प्रेग्नेंट हैं या नहीं, प्रेगनेंसी के लक्षण, गर्भावस्था के लक्षण, ये हैं प्रेग्नेंट होने के लक्षण, अगर आप गर्भवती हैं तो बॉडी में दिखाई देते हैं यह लक्षण, Pregnancy Symptoms

प्रेगनेंसी होने पर बॉडी में बहुत से हार्मोनल बदलाव होते हैं, जिसके कारण बॉडी शारीरिक रूप से बहुत जल्दी प्रभावित होती है, साथ ही इसका असर आपके स्वाद, व्यवहार, मूड आदि पर भी दिखाई देता है। जैसे की हो सकता है की आप खाने में जिस चीज को पसंद नहीं करती हैं, आपको वही चीज खाने की इच्छा होती है, किसी चीज के प्रति आकर्षण बढ़ जाता है, आदि। गर्भवस्था के लक्षण हर महिला में एक ही जैसे दिखाई दे ऐसा भी कोई जरुरी नहीं होता है। क्योंकि यह हर महिला के शरीर में होने वाले हार्मोनल बदलाव पर निर्भर करता है। साथ ही यदि आप गर्भवती है तो इसका कोई एक लक्षण शरीर में नहीं दिखाई देता है बल्कि ऐसे बहुत से लक्षण हैं जो बताते हैं आप गर्भवती हैं या नहीं। तो आइये अब विस्तार से जानते हैं की यदि आप गर्भवती हैं तो आपकी बॉडी कौन कौन से संकेत देती है।

मासिक धर्म हो जाता है बंद

गर्भावस्था का मुख्य लक्षण होता है, की महिला के पीरियड्स का मिस होना। ऐसे में यदि महिला का पीरियड्स मिस हुए एक हफ्ता हो जाता है तो महिला को प्रेगनेंसी किट की मदद से चेक करना चाहिए की कहीं महिला गर्भवती तो नहीं है। और यदि टेस्ट करने पर रिपोर्ट नेगेटिव आती है तो इस टेस्ट को दो दिन रूककर करना चाहिए, यदि फिर भी रिपोर्ट पॉजिटिव नहीं आती है तो आपको डॉक्टर से आपको बात करनी चाहिए, और पीरियड्स न आने का कारण पता करना चाहिए। और यदि आपकी रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो भी आपको तुरंत डॉक्टर से बात करनी चाहिए।

मॉर्निंग सिकनेस

ज्यादातर महिलाओं को प्रेगनेंसी होने पर उनकी बॉडी में मॉर्निंग सिकनेस का लक्षण दिखाई दे सकता है। और इसके कारण सुबह उठने में दिक्कत, थकान का अनुभव, मुँह के स्वाद का अजीब सा महसूस होना आदि हो सकता है।

पाचन सम्बन्धी परेशानी

कब्ज़, भूख न लगना, गैस, एसिडिटी आदि की समस्या होना भी प्रेगनेंसी की शुरुआत होने का एक आम लक्षण होता है। और इन पाचन सम्बन्धी समस्या का कारण भी बॉडी में तेजी से हो रहे हार्मोनल बदलाव होते हैं।

ब्रेस्ट में परिवर्तन

ब्रेस्ट में कड़ापन महसूस होना, निप्पल के रंग में बदलाव आना, सूजन व् दर्द महसूस होना भी प्रेगनेंसी के शुरुआत में होना आम बात होती है। और यदि आप गर्भवती है तो दुग्ध ग्रंथियों के उत्तको का फैलाव होने के कारण भी आपको ब्रेस्ट में भारीपन आदि महसूस हो सकता है।

उल्टी व् जी मिचलाना

ज्यादातर महिलाओं को प्रेगनेंसी की शुरुआत में उल्टी व् जी मिचलाने जैसी समस्या हो सकती है। और कुछ महिलाओं को यह समस्या प्रेगनेंसी के तीन महीने तक रहती है तो कुछ महिलाएं प्रेगनेंसी के पुरे नौ महीने इस समस्या से परेशान रहती है।

सिर में दर्द व् चक्कर

बॉडी में होने वाले हार्मोनल बदलाव, बॉडी में प्रोजेस्ट्रोन हॉर्मोन का स्तर बढ़ने के कारण महिला को सिर में दर्द, चक्कर जैसी समस्या भी हो सकती है, और यदि आपको भी ऐसा महसूस हो रहा है तो हो सकता है की आप प्रेग्नेंट हो। सिर में दर्द और चक्कर आने का एक कारण बॉडी में ब्लड फ्लो का तेजी से होना भी हो सकता है।

पसंद में बदलाव

मूड स्विंग्स होना, खाने की पसंद नापसंद में बदलाव आना, किसी चीज की महक के प्रति आकर्षण बढ़ना, जो चीज आप पसंद नहीं करते थे अचानक से उस चीज के प्रति आकर्षण होना, आदि भी प्रेगनेंसी के शुरूआती दिनों के लक्षण होते हैं।

बार बार यूरिन पास करने की इच्छा होना

बॉडी में हो रहे हार्मोनल बदलाव के कारण किडनी अधिक सक्रिय हो जाती है, जिसके कारण महिला की बार बार यूरिन पास करने की इच्छा होती है। ऐसे में यदि आपको भी ऐसी कोई समस्या हो तो पीरियड्स मिस होने के बाद आपको जरूर प्रेगनेंसी टेस्ट करके देखना चाहिए।

थकान व् कमजोरी

बहुत जल्दी थकान होना, कमजोरी का अनुभव होना, या बिना किसी काम को किये भी थका हुआ सा महसूस करना भी प्रेगनेंसी का एक आम लक्षण होता है। ऐसे में यदि आपको भी ऐसा महसूस हो तो हो सकता है की आपक गर्भ ठहर गया है।

पेट में हल्का दर्द

गर्भाशय में भ्रूण के बनने के कारण पेट के आस पास की मांसपेशियों पर उसका असर पड़ सकता है, जिसके कारण पीठ में हल्का दर्द, पेट में हल्का दर्द, पेट के निचले हिस्से में दर्द का अनुभव होना आम बात होती है।

स्पॉटिंग होना

स्पॉटिंग का मतलब होता है की महिला को पीरियड्स न आये लेकिन फिर भी खून के धब्बे लगे तो यह भी महिला के प्रेग्नैंक्ट होने का एक लक्षण होता है। क्योंकि इसका कारण जब भ्रूण गर्भाशय में प्रत्यारोपित होता है तो कई बार महिला को हल्की ब्लीडिंग की समस्या हो सकती है।

बॉडी के तापमान में बदलाव

शरीर के तापमान का बढ़ना, बुखार सा महसूस होना, घबराहट महसूस होना, नींद न आना आदि भी प्रेगनेंसी का ही एक लक्षण हो सकता है। लेकिन यदि तापमान ज्यादा हो तो एक बार डॉक्टर से जरूर बात करनी चाहिए।

तो यह हैं कुछ लक्षण जो आपकी बॉडी प्रेगनेंसी होने पर देती है, ऐसे में यदि आपके शरीर में भी इनमे से कोई लक्षण दिखाई दे तो हो सकता है की आपका गर्भ ठहर गया है। इसके अलावा आपको पीरियड्स मिस होने के बाद कन्फर्म करने के लिए की आप गर्भवती हैं या नहीं इसके लिए एक बार प्रेगनेंसी किट से टेस्ट जरूर करना चाहिए। ताकि आपको सही परिणाम मिल सके, यदि आपका परिणाम पॉजिटिव अत है तो आपको डॉक्टर से जरूर मिलना चाहिए। और यदि नेगेटिव आता है तो भी डॉक्टर से मिलना चाहिए ताकि आपको पीरियड्स मिस होने के कारण का पता चल सके।

Leave A Reply

Your email address will not be published.