पैरो की फटी एड़ियों की देखभाल कैसे करें ?

अपने चहरे की सुंदरता का ख्याल हम सभी रखते है लेकिन अपने पैरो और एड़ियों का ध्यान रखना अक्सर भूल जाते है. ऐसे में अपनी पैरो की देखभाल न करे तो वे फैट जाते है और दुखने लगते है. नंगे पैर चलने व् खून की कमी के कारण भी अक्सर पैर फट जाते है. यदि आप अपने पैरो की सफाई पर ध्यान नहीं देंगे तो वो फट जायेंगे और उनमे दरारे आ जाएँगी. जिन्हे बिवाई भी कहा जाता है. हमारे चहरे की ही तरह एड़ियां भी सुंदरता का एक रूप होती हैं, यदि एड़ियां कोमल और आकर्षक हैं तो आप पैर बेहद अच्छे दिखाई देंगे लेकिन एड़ियां फटी हुई नजर आये तो ये अच्छी बात नहीं है। हम अपनी एड़ियों की सफाई की तरफ ध्यान नहीं देते हैं जिसकी वहज से एड़ियों की त्वचा मृत हो जाती है और उनमें दरारें आ जाती है जिसके कारण एड़ियों से खून निकलने लगता है और चलने फिरने में समस्या का सामना करना पड़ता है।

कई बार हमें अपनी फटी एड़ियों के कारण शर्मिंदा भी होना पड़ता है. लेकिन घबराइए नहीं, ऐसे कई उपचार है जिनकी सहायता से आपकी इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है. ये उपचार न केवल सस्ते है अपितु फायदेमंद और लाभदायक भी है. इनका प्रयोग करने से आपकी फटी एड़ियों की समस्या अवश्य समाप्त हो जाएगी. फटी एड़िया और होठ की समस्या ज्यादातर सर्दियों में देखने को मिलती है. परन्तु कई बार ये बहुत लम्बे समय के लिए हमारे शरीर में घर कर लेती है. ऐसे में इनसे छुटकारा पाना अति आवश्यक हो जाता है. इसलिए आज हम आपको फटी एड़ियों से छुटकारा पाने के कुछ घरेलु उपायों से अवगत करा रहे है. यदि आप इस समस्या से ग्रस्त है तो इन उपायों का प्रयोग अवश्य करें. यदि इनके प्रयोग के पश्चात भी आपको इससे निजात न मिले तो डॉक्टर से जा के मिलें. तो जानते है फटी एड़ियों से छुटकारा पाने के लिए कुछ घरेलु उपाय !

विधि : 1 फटी एड़ियों से छुटकारा पाने के घरेलु उपाय :

Heels 91. फटे पैरो के लिए वनस्पति तेल का प्रयोग करें :- बाजार और हमारी रसोई में उपलब्ध विभिन्न प्रकार के वनस्पति तेल जैसे जैतून का तेल,तिल का तेल,नारियल का तेल या अन्य कोई तेल का प्रयोग फटी एड़ियों कम करने व् ठीक करने के लिए किया जा सकता हैं। रात्रि में सोने के पूर्व इन्हें अपने पैरों पर मलें और बेहतर परिणामों के लिए मोज़े पहन कर रहें.

Heels 82. फटी एड़ियों के लिए चावल के आटे का प्रयोग करें :- चावल के आटे का प्रयोग फटी त्वचा से मृत कोशिकाएं निकालने के लिए एक्सफ़ोलिएटिंग स्क्रब के रूप में किया आज सकता है। इसका प्रयोग करने के लिए आपको ज्यादा कुछ करने की आवश्यकता नहीं है. इस स्क्रब को बनाना बहुत ही सरल है. एडी फटना जैसी समस्याओं से निजात पाने के लिए 1 मुट्ठी चावल, सेब का सिरका और जैतून का तेल लीजिए. और एक बर्तन में इन सभी को मिलाकर एक मिश्रण तैयार कर लीजिए. इस मिश्रण को लगाने से पूर्व पैरों को लगभग 10 मिनट तक गर्म पानी में डुबोकर रखें. 10 मिनट बाद पैरो को पाने से निकाल कर अच्छे से पोंछ ले और एड़ियों में चावल का पेस्ट लगा लें.

Heels 73. नीम की पत्तियों का प्रयोग करें :- फटी एड़ियों से निजात पाने के लिए नीम की पत्तियों का भी प्रयोग किया जा सकता है. क्योकि नीम की पत्तियों में फंगीसाइडल तत्व होते हैं जो कटी फटी एड़ियों के लिए लाभदायक होते हैं. इसके लिए नीम की पत्तियां और हल्दी ले उंन्हे पीसकर एक पेस्ट बना लें. इसके बाद इस पेस्ट को फटी एड़ियों पर लगाए और 1 घंटे तक लगे रहने दें. 1 घंटे बाद गर्म पानी लेकर उसमे पैरो को धो लें और साफ़ टॉवल से पोंछ लें. ऐसा करने से आपको जल्द ही इस समस्या से छुटकारा मिल जायेगा.

Heels 64. नींबू का प्रयोग करें :- नींबू का प्रयोग त्वचा को रूखेपन से बचाने के लिए किया जाता है. फटी एड़िया भी रूखेपन का एक स्वरुप है जिन्हे कोमल और मुलायम करने के लिए नींबू का प्रयोग किया जा सकता है. अपनी एड़ियों को फटने से बचाने के लिए नींबू के रस का प्रयोग किया जा सकते है. इसके लिए आप सीधे नींबू का रस लगा सकते है या गर्म पानी में नींबू का रस मिलाकर उसका प्रयोग कर सकते है. ऐसा करने के लिए सर्वप्रथम पानी गर्म कर लें और उसमे नींबू का रस मिला लें. इसके बाद 15 मिनट तक अपने पैरो को उसमे डुबोये रखे. और बाद में पुमिस स्टोन और साबुन की मदद से पैरो को साफ़ कर लें।

Heels 55. गुलाब जल और ग्लिसरीन का प्रयोग करें :- फटी एड़ियों से बचने के लिए इस विधि का भी प्रयोग किया जा सकता है. क्योकि ग्लिसरीन त्वचा को मुलायम बनती है जबकि गुलाब जल विभिन्न विटामिनों का मिश्रण है. इसके अलावा गुलाब जल एक एंटी बैक्टीरियल एवं एंटी सेप्टिक माध्यम का भी कार्य करता है. इस विधि के लिए इन दोनों को मिलाकर कर एक मिश्रण तैयार कर लें और रात्रि को सोने से पूर्व अपनी फटी एड़ियों पर लगाये. इसका लगातार प्रयोग करने से आपको फटी एड़ियों से रहत अवश्य मिलेगी. इस मिश्रण को आपने पैरो पर भी लगा सकते है, ऐसा करने से आपके पैर भी कोमल और मुलायम हो जायेंगे.

Heels 46. पैराफिन वैक्स का भी प्रयोग करें :- एड़िया फटने के बाद विभिन्न समस्याओं जैसे खून निकलना आदि का सामना करना पड़ता है जिसके कारण उनमे दर्द होने लगता है. इस तरह की समस्या से छुटकारा पाने के लिए पैराफिन वैक्स सबसे अचूक उपाय माना जाता है. पैराफिन वैक्स को सरसो के तेल या नारियल के तेल में मिलाकर एक मिश्रण तैयार आकर लें. मोम के पिघलने तक इस मिश्रण को गर्म कर लें और ठंडा होने की प्रतीक्षा करें. मिश्रण के ठंडा हो जाने के बाद इन्हे अपनी एड़ियों पर लगाए. ऐसा करने से आपकी एड़ियों की मृत त्वचा ठीक हो जाएगी.

Heels 37. एड़िया फटने के मुख्य कारण :-

पैरों की सही तरह से देखभाल ना करना
गलत जूते पहनना
पैरों को लम्बे समय तक गरम पानी में डुबाकर रखना
मधुमेह की समस्या
खानपान में अनियमितता
सर्दियों का मौसम
पैरों को पोषण ना मिलना
पैरों का सूखापन आदि

8. फटी एड़ियों के लक्षण :-

एड़ी पर से त्वचा का उतरना और कई बार काफी तेज़ खुजली होना
चलते समय दर्द होना और एड़ियों में नरम व् दरदरा पन महसूस होना
एड़ियों का कठोर होना (जब त्वचा अपनी नमी खो देती है तो उसमे कठोरपन आ जाता है)
एड़ियों में से खून निकलना

Heels 29. यदि आपकी एड़िया फटने लगी है तो तुरंत उनका इलाज करें नहीं तो ये समस्या गंभीर रूप भी लें सकती है. फटी एड़ियों को कोमल बनाने के लिए कैमोमाइल आयल पानी में मिला लें और उसमे अपने पैरो को डालें. इसे आपके पैरो को नमी मिलेगी और त्वचा कोमल होने लगेगी. इससे पूर्व अपने पैरो को पूर्णतः साफ़ करना होगा जिसके लिए सेब के सिरके का प्रयोग किया जा सकता है. फटी एड़ियों से बचने के लिए अपनी त्वचा को प्राकृतिक तेल न खोने से क्योकि हमारे शरीर पर प्राकृतिक तेल की परतें होती है जो अतयधिक गर्म पानी से नहाने से ख़त्म होने लगती है.

Heels 9810. कच्ची प्याज कसकर एड़ियों में बांधने से बिवाइयां ख़त्म हो जाती है. ठण्ड से त्वचा रूखी हो जाती है और अपनी नमी खो बैठती है जिससे त्वचा में रूखापन आने लगता है. अतः बाहर जाने से पूर्व पैरों को ढक लें और हमेशा क्रीम और मॉइस्चराइज़र लगाएं. रूखेपन और फटी एड़ियों से बचने के लिए सूरज की किरणों से खुद को बचाए रखें.

Title : Care and Remedies for Cracked Heels, Ways to Repair Cracked Heel, Fati ediyo ke ilaaj, fati ediyo se mukti paane ke gharelu upchaar, fati ediyo se chutkara paane ke prakritik tareeke,  kyu fatti hai ediya ? janiy ye tathy !

Leave a comment