Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

बच्चों की हमेशा नाक बहने के कारण व् उपाय

0

छोटे बच्चे बहुत ही नाजुक होते हैं ऐसे में यदि उनकी केयर में थोड़ी सी चूक हो जाये तो इसकी वजह से उन्हें कोई न कोई सेहत सम्बन्धी समस्या लगी ही रहती है। जैसे की कई बच्चों की हमेशा नाक बहती रहती है। और ऐसे में छोटे बच्चों को इस समस्या से निजात दिलाने के लिए आप मेडिकल स्टोर से लाकर यदि दवाई खिलाते हैं तो ऐसा करना बच्चों के लिए सही नहीं होता है।

क्योंकि बिना डॉक्टरी परामर्श के यदि आप बच्चों को दवाई खिलातें हैं तो कई बार इसकी वजह से बच्चों साइड इफ़ेक्ट होने का खतरा होता है। साथ ही हमेशा नाक बहने की समस्या के कारण बच्चों को सांस लेने, मुँह सूखने जैसी समस्या भी लगी रहती है। जिसकी वजह से बच्चा भी परेशानी अनुभव करता है। तो आइये आज इस आर्टिकल में हम आपको बच्चों की हमेशा नाक बहने के कारण व् उपाय क्या-क्या है उसके बारे में विस्तार से बताने जा रहे हैं।

बच्चों की नाक बहने के कारण

  • मौसम में आने वाले बदलाव के कारण बच्चों की सेहत पर असर पड़ सकता है जिसकी वजह से बच्चों को जुखाम हो सकता है और जुखाम के कारण नाक बहना बहुत ही आम बात होती है।
  • जो बच्चे धूल मिट्टी में अधिक खेलते हैं उन बच्चों को धूल के संपर्क में रहने के कारण भी यह दिक्कत हो सकती है जिसकी वजह से उनकी नका हमेशा बहती रहती है।
  • जिन छोटे बच्चों को नजले की समस्या होती है उन बच्चों की नाक भी हमेशा बहती रहती है।
  • ठंडी तासीर की चीजें अधिक खाने के कारण भी बच्चों का इस समस्या से परेशान रहना आम बात है।

नाक बहने की समस्या से निजात पाने के उपाय

यदि आपके बच्चे की नाक हमेशा बहती रहती है तो इस समस्या के कारण आपको व् आपके बच्चे दोनों को अधिक दिक्कत महसूस हो सकती है। लेकिन यह कोई ऐसी परेशानी नहीं है की जिसका कोई समाधान नहीं हो बल्कि कुछ आसान टिप्स को ट्राई करने से आप आसानी से इस परेशानी से निजात पा सकते हैं। तो आइये आगे जानते हैं की वो उपाय कौन-कौन से हैं।

अदरक और शहद

यदि आपके बच्चे की नाक हमेशा बहती रहती है तो आप एक अदरक के टुकड़े को घिसकर उसका रस निकाल लें। उसके बाद उस रस को आधा चम्मच शहद में मिलाएं और अपने बच्चे को दें। ऐसा दिन में दो से तीन बार तब तक करें जब तक की आपके बच्चे का जुखाम ठीक न हो जाये। ऐसा करने से आपके बच्चे को जल्द ही इस समस्या से राहत पाने में मदद मिलेगी।

सरसों का तेल

सरसों का तेल सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। लोग इसे खाने के साथ, सिर की मालिश करने, शरीर की मालिश करने आदि में भी इस्तेमाल करते हैं। वैसे की सरसों के तेल का इस्तेमाल करने से बच्चों को हमेशा नाक बहने की समस्या से निजात दिलाने में भी मदद मिलती है।

इसके लिए आप एक कटोरी में थोड़ा सरसों का तेल, लहसुन की एक या दो कली, थोड़ा सा अजवाइन, थोड़ी सी हींग, डालकर उसे गर्म कर लें। उसके बाद इस तेल के गुनगुना रहने पर इसे छान लें और इस तेल से बच्चे की पीठ व् छाती की तरफ से अच्छे से मालिश करें। ऐसा करने से बच्चे को नका बहने की समस्या से आराम दिलाने में मदद मिलती है।

जायफल

बहती नाक की समस्या से राहत पाने के लिए जायफल का घरेलू नुस्खा भी बहुत फायदेमंद होता है। इसके इस्तेमाल के लिए आध आधी से थोड़ी कम कटोरी में दूध लेकर इसमें चुटकी भर जायफल का चूर्ण मिलाएं। उसके बाद इसे गर्म कर लें और थोड़ा ठंडा होने के लिए छोड़ दें।

उसके बाद इस दूध को थोड़ा थोड़ा करके बच्चे को पिलाएं ऐसा करने से बच्चे की बंद नाक को खोलने और बहती नाक की समस्या दोनों को कम करने में मदद मिलती है। और कुछ दिनों तक रोजाना करने से आपको इस समस्या से राहत भी मिल जाती है।

कपूर और नारियल का तेल

नारियल तेल और कपूर का इस्तेमाल करने से भी इस समस्या से निजात पाने में मदद मिलती है। इसके इस्तेमाल के लिए आप नारियल तेल में कपूर डालकर उसे अच्छे से गर्म कर लें। उसके बाद इस मिश्रण के हल्का गुनगुना रहने पर इसे शिशु की छाती, पीठ व् गर्दन पर लगाएं। इससे शिशु को आराम मिलेगा जिससे शिशु को इस परेशानी से निजात पाने में मदद मिलेगी।

बच्चों को काढ़ा पिलाएं

बहती नाक की समस्या से निजात पाने के लिए आप बच्चों को काढ़ा पिलाएं। और काढ़ा बनाने के लिए आप पानी में लौंग, इलायची, अदरक, हल्दी, अजवाइन, तुलसी आदि डालकर अच्छे से उबाल लें। उसके बाद आप इसे गुनगुने रहने पर दो से तीन चम्मच बच्चे को पिलाएं और ऐसा दिन में दो से तीन बार करें। ऐसा करने से बच्चे को बहती नाक की समस्या से निजात दिलाने में मदद मिलेगी और साथ ही बच्चे का इम्यून सिस्टम भी मजबूत होगा।

तुलसी

सदियों पहले से ही तुलसी का इस्तेमाल औषधि के रूप में किया जाता है और इसके इस्तेमाल से शरीर को बहुत सी परेशानियों से बचे रहने में मदद मिलती है। ऐसे में बहती नाक की समस्या से निजात पाने के लिए भी आप इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए आप पांच छह तुलसी के पत्तों को पानी में उबाल लें और पानी के आधा रहने पर गैस बंद कर लें।

उसके बाद आप इस पानी में थोड़ा शहद मिलाकर बच्चे को पिलाएं और ऐसा दिन में कम से कम दो बार जरूर करें। ऐसा करने से बच्चे की बहती नाक की समस्या से निजात पाने में मदद मिलती है और साथ ही बच्चे की प्रतिरोधक क्षमता भी मजबूत होती है। आप चाहे तो तुलसी के पत्तों का रस निकालकर उसमे शहद मिलाकर भी बच्चे को दे सकते हैं।

हल्दी दूध

बहती नाक की समस्या से निजात पाने के लिए हल्दी दूध का सेवन करना भी बहुत फायदेमंद होता है। इसके लिए आप कच्ची हल्दी को अच्छे से पीसकर दूध में डालकर अच्छे से उबाल लें। उसके बाद आप इस दूध को बच्चे को पिलाएं और ऐसा दिन में दो से तीन बार करें। ऐसा करने से भी आपको बच्चों के नाक बहने की समस्या से राहत पाने में मदद मिलती है।।

तो यह हैं कुछ उपाय जिन्हे ट्राई करने से बच्चों को बहती नाक की समस्या से निजात पाने में मदद मिलती है। इसके अलावा बच्चों को संक्रमण से बचाने के लिए आपको उनके आस पास साफ़ सफाई का खास ध्यान रखना चाहिए ताकि बच्चों को सेहत सम्बन्धी परेशानियों से बचाएं रखने में मदद मिल सकें।

Causes and remedies of runny nose

Leave a comment
प्रेगनेंसी में चुकंदर जूस के अद्भुत फायदे कई महिलाओं का एक ब्रेस्ट बड़ा और एक छोटा क्यों होता है