Ultimate magazine theme for WordPress.

चेहरे के काले दाग़ धब्बे ऐसे हो सकते हैं दूर!! 

0

स्वस्थ, सुंदर और बेदाग़ त्वचा की चाहत किसे नहीं होती!! त्वचा पर अगर काले दाग़ धब्बे हों तो गोरी त्वचा भी काली नज़र आने लगती है। और भारत जैसे देश में तो गोरे रंग को ही सुंदरता का पैमाना माना जाता रहा है। लड़के की शादी करनी हो तो दुल्हन ढूँढते वक़्त लड़के वालों की पहली माँग यही हुआ करती थी कि लड़की गोरी होनी चाहिए। हालाँकि की समय के साथ साथ लोगों की सोच में बदलाव होने लगा है, अब लोग गोरे रंग की अपेक्षा गुणों को महत्व देने लगे हैं, फिर भी दिल में कहीं ना कहीं ये चाहत अवश्य होती है कि गुणों के साथ साथ गोरा रंग भी हो तो सोने पे सुहागा। लड़कियों में गोरे रंग के प्रति काफ़ी रुझान देखा गया है, बाज़ार में उपलब्ध तरह तरह के क्रीम पाउडर का इस्तेमाल करके वो बेदाग़ त्वचा और गोरी रंगत पाना चाहती हैं। लड़कियाँ ही नहीं अब तो लड़के भी अपने रूप रंग के प्रति काफ़ी सजग हो गए हैं। बाज़ार में मौजूद महँगे क्रीम पाउडर का इस्तेमाल कर सब गोरा होना चाहते हैं। परंतु इन सब कृत्रिम उत्पादों के कुछ ना कुछ प्रतिकूल प्रभाव भी होते हैं, जो हमें समय रहते पता नहीं चलते और ये सब कृत्रिम उत्पाद कुछ समय बाद असर दिखाना भी बंद कर देते हैं। इसलिए बेहतर है कि हम घरेलू उपाय अपनाएँ और अपनी त्वचा को केमिकल के नुक़सान से बचाएँ। घरेलू उपचार सस्ते व आसान भी होते हैं और इनका कोई प्रतिकूल प्रभाव भी नहीं होता।

सुंदर, स्वस्थ, गोरी और बेदाग़ त्वचा पाने के लिए सिर्फ़ बाहरी उपचार ही काफ़ी नहीं होते, और भी कई चीज़ें हैं जो त्वचा के स्वास्थ्य पर असर डालती हैं। जैसे कि –

पानी – 

दिन में कम से कम आठ से दस गिलास पानी ज़रूर पीना चाहिए। पानी अधिक पीने से त्वचा में नमी बनी रहती है और शरीर में मौजूद हानिकारक और विषैले तत्व बाहर निकलते रहते हैं। इससे हमें सुंदर, सुडौल और बेदाग़ त्वचा मिलती है, मुहाँसे नहीं होते और मुँहासों के निशान नहीं पड़ने से त्वचा का रंग हल्का बना रहता है और कालापन नहीं आता।

नारियल पानी

नारियल पानी में भी कई सारे पोषक तत्व जैसे ऐंटीआक्सिडंटस, अमीनो ऐसिडस और सॉल्ट्स होते हैं, जो त्वचा को सुंदर और स्वस्थ रखने में सहायक होते हैं। इसलिए दिन में एक बार नारियल पानी ज़रूर पिएँ।

तली हुई चीज़ों से दूर रहें – 

त्वचा को क़ुदरती तौर पर सुंदर, स्वस्थ और बेदाग़ रखने के लिए सबसे पहले तले हुए और मसालेदार भोजन से दूरी बना लें। ऐसे भोजन से त्वचा पर मुँहासों में वृद्धि होती है और ठीक होने पर भी ये मुँहासे अपने निशान छोड़ ही जाते हैं, जिससे त्वचा पर काले दाग़ बन जाते हैं।

संतुलित आहार लें

अपने भोजन में दालें, अनाज, दूध, दही, अंडे, ताज़े फल व रेशेदार सब्ज़ियों को शामिल करें। ऐसे फल अधिक खाएँ जिनमे विटामिन सी अधिक होता है, जैसे आँवला, संतरा, मोसंबी, निम्बू, अमरूद इत्यादि। विटामिन सी चेहरे के दाग़ धब्बों को दूर करता है और त्वचा की रंगत को हल्का करता है।

पर्याप्त नींद लें – 

नींद पूरी न होने से आपकी त्वचा कांतिहीन नज़र आती है व आँखों के नीचे काले घेरे बन जाते हैं। इससे त्वचा कुरूप व काली नज़र आने लगती है। इसका उपाय है कि आप रोज़ाना आठ घंटे की नींद ज़रूर लें।

व्यायाम – 

व्यायाम करने से हमारे शरीर से पसीना निकलता है और पसीने के साथ ही शरीर से विषैले पदार्थ भी निकल जाते हैं। इससे क़ुदरती रूप से त्वचा में निखार आता है।

अधिक धूप से बचें – 

दोपहर के समय बाहर धूप में ना निकलें और अगर जाना बहुत ही ज़्यादा ज़रूरी हो तो सनस्क्रीन का प्रयोग अवश्य करें। क्यूँकि सूर्य की रोशनी में विद्यमान अल्ट्रा वॉइलेट किरणों के सम्पर्क में आते ही त्वचा में मेलेनोजीनीसिस हो जाता है, जिसका मतलब है त्वचा की टैनिंग। टैनिंग से त्वचा का रंग काला नज़र आने लगता है, त्वचा पर काले रंग के पैचेज़ बन जाते हैं।

प्रदूषण से बचें – 

सड़क पर गाड़ियों के धुएँ से होने वाला प्रदूषण या किसी फ़ैक्टरी/कारख़ाने से निकलने वाले धुएँ के सम्पर्क में आने से बचें। धुएँ में निकलने वाली कार्बन हमारी त्वचा पर हानिकारक प्रभाव डालती है व त्वचा को काला बनाती है।

इन काले दाग़ धब्बों से निजात पाने के लिए अनेक प्रकार के कॉस्मेटिक ट्रीटमेंट (cosmetic treatment) हैं, लेकिन कुछ घरेलू उपायों के द्वारा भी आप अपनी सुंदरता को निखार सकते हैं – 

निम्बू – 

नींबू सबसे अच्छा ब्लीचिंग एजेंट होता है, जो चेहरे में निखार लाने में बहुत मदद करता है। नींबू में जो एसकॉर्बिक एसिड (ascorbic acid) या विटामिन सी होता है, वह एन्टी-ऑक्सिडेंट्स के रूप में काम करता है और त्वचा के दाग-धब्बों को दूर करके रौनक लाने में मदद करता है। निम्बू के रस को सीधा चेहरे पर अन्य कुछ चीज़ों के साथ मिला कर इस्तेमाल किया जा सकता है। जैसे –

  • एक कटोरी में आधा निम्बू का रस निचोड़कर, उसमें रूई भिगोकर दाग वाली जगह पर लगाएँ। या आप सीधे निम्बू को काटकर दाग पर रगड़ सकती हैं। एक घंटे तक रस को सूखने के लिए छोड़ दें और उसके बाद पानी से धो लें। याद रहे कि निम्बू का रस लगाने के बाद धूप में न जाएँ।
  • एक कटोरी में तीन छोटा चम्मच निम्बू का रस लेकर, उसमें एक छोटा चम्मच हल्दी का पाउडर मिक्स करके एक पैक बना सकते हैं। इस पैक को चेहरे पर लगाएँ और सूखने दें। फिर चेहरा साफ़ पानी से धो दें।
  • दो चम्मच आलू का रस लें, इसमें दो चमच्च निम्बू का रस मिला लें। अब इस मिश्रण को चेहरे व गर्दन पर अच्छे से मलें। कम से कम पाँच मिनट तक मसाज करें और फिर आधे घंटे के लिए लगा रहने दें। आधे घंटे बाद साफ़ पानी से चेहरा धो लें। नियमित रूप से निम्बू और आलू के मिश्रण को लगाने से टैनिंग की असर कम हो जाता है, सनबर्न ठीक होता है, चेहरे के दाग़ धब्बे ग़ायब हो जाते हैं व रंग गोरा होता है।
  • एक टमाटर लें, उसका गूदा निकालें व उसमें एक चम्मच निम्बू का रस मिला लें। अब इस मिश्रण को चेहरे व गर्दन पर अच्छे से मलें। आधा घंटा इसे लगा रहने दें, फिर चेहरा धो लें। इस पैक से टैनिंग, सनबर्न ठीक होते हैं, चेहरे की रंगत हल्की होती है।
  • खीरे और नींबू का रस निकालकर उसे भी चेहरे पर लगा सकते हैं। इस विधि से आप त्वचा के दाग़ धब्बे, मुँहासे तथा सनबर्न को दूर कर सकते हैं।

संतरा – 

निम्बू की तरह ही संतरे के रस में भी ब्लीचिंग के गुण होते हैं, जो दाग-धब्बों को दूर करने में मदद करते हैं। संतरे को भी अलग अलग तरीक़े से इस्तेमाल करके चेहरे की रौनक़ बढ़ाई जा सकती है। जैसे –

  • एक कटोरी में दो बड़े चम्मच संतरे का रस लें और उसमें एक चुटकी हल्दी पाउडर डालकर अच्छी तरह से मिला लें। इस पेस्ट को रात को सोने से पहले चेहरे पर अच्छी तरह से लगा लें और अगली सुबह गुनगुने पानी से धो लें।
  • दो चमच्च चंदन पाउडर लें, उसमें संतरे का रस मिला कर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को चेहरे व गर्दन पर अच्छे से लगाएँ। सूख जाने पर साफ़ पानी से धो दें। इस पैक को लगाने से मुँहासों से मुक्ति मिलती है, दाग़ धब्बे दूर होते हैं व रंगत निखरती है।

शहद – 

शहद बहुत ही गुणकारी होता है। इसमें ऐंटीआक्सिडंटस, अमीनो ऐसिड, मिनरल और विटामिन पाए जाते हैं। इसमें ज़ख़्मों, फोड़े फुंसियों, जली हुई त्वचा इत्यादि को ठीक करने के गुण होते हैं। अमीनो ऐसिड और विटामिन C मिलकर त्वचा में स्वस्थ टिशू के निर्माण को बढ़ावा देते हैं। शहद को यूँ ही लगाएँ या दूसरी किसी चीज के साथ पेस्ट बनाकर लगाएँ, ये त्वचा की मृत कोशिकाओं (dead cells) को निकालकर रौनक लाने में मदद करता है। जैसे –

  • एक चम्मच शहद में कुछ बूंदें नींबू का रस मिलाकर चेहरे पर लगाएँ व 15 मिनट बाद गुनगुने पानी से चेहरा धो दें। निम्बू में प्राकृतिक रूप से ब्लीचिंग के गुण होते हैं, ये चेहरे के दाग़ों को हल्का करता है तथा शहद से त्वचा साफ़ और कोमल हो जाती है।
  • पपीते को अच्छे से मसलें व उसमें थोड़ा सा शहद मिलाकर पेस्ट बना लें व चेहरे पर लगाएँ। सूख जाने पर चेहरा धो लें। नियमित रूप से ये उपाय करने पर आप ख़ुद फ़र्क़ महसूस करेंगे।
  • शहद और कच्चा दूध एक समान मात्रा में मिलाकर चेहरे पर लगाएं व तीस मिनट बाद गुनगुने पानी से चेहरा धो दें| यह प्रक्रिया सप्ताह में 3 बार अवश्य दोहराएँ।

आलू – 

आलू में विटामिन C, पोटेशियम , विटामिन B6 प्रचुर मात्रा में होते हैं। इसके अलावा आलू में मैग्नेशियम , फास्फोरस , आयरन और ज़िंक भी होता है। आलू से हमें कार्बोहाईड्रेट स्टार्च के रूप में मिलता है जिसका कुछ हिस्सा फाइबर की तरह काम करता है। आलू में कई प्रकार के ऐंटीआक्सिडंटस भी पाए जाते हैं, जो की फ्री रेडिकल से होने वाले नुकसान से बचाते हैं।

  • एक आलू लेकर उसे बीच से काट दें और उसे पूरे चेहरे पर रगड़ें। आधे घंटे बाद चेहरा धो दें। हफ़्ते में एक दो बार ये उपाय ज़रूर करें, इससे आपके चेहरे के दाग़ धब्बे हल्के होंगे और आपका चेहरा निखर उठेगा।
  • आलू का गूदा रोज़ाना दाग़ धब्बों पर लगाने से वह धीरे धीरे कम हो जाते हैं। ये प्रक्रिया 1 महीने तक रोज़ करें, दाग़ धब्बे मिट जाएंगे और आपकी त्वचा बेदाग़ और गोरी हो जाएगी।
  • दो चम्मच आलू का रस लें, इसमें दो चमच्च निम्बू का रस मिला लें। अब इस मिश्रण को चेहरे व गर्दन पर अच्छे से मलें। कम से कम पाँच मिनट तक मसाज करें और फिर आधे घंटे के लिए लगा रहने दें। आधे घंटे बाद साफ़ पानी से चेहरा धो लें।
  • एक चम्मच आलू का रस, दो चम्मच निम्बू का रस और दो चम्मच मुल्तानी मिट्टी लेकर इनका पेस्ट बनाएँ। अब ये पेस्ट अपने चेहरे पर लगा लीजिए और पूरा सूखने पर ठंडे पानी से चेहरा धो लीजिए। ये मास्क चेहरे के दाग़ धब्बे और निशानों को दूर करने में मदद करता है।

इन सब घरेलू नुस्ख़ों के साथ आप अपनी स्वस्थ, सुंदर और बेदाग़ त्वचा की चाहत को पूरा कर सकते हैं। साथ ही साथ सही खान पान से आप अपनी ख़ूबसूरती प्राकृतिक रूप से बढ़ा सकते हैं व अच्छी सेहत पा सकते हैं।