ये है प्रेगनेंसी में सोने का सही तरीका और यह है सही सोने के फायदे

गर्भावस्था के दौरान महिला को खान पान का अच्छे से ध्यान रखना होता है, डॉक्टर से अपनी जांच का ध्यान रखना होता है, क्या करना चाहिए क्या नहीं करना चाहिए इस बात का ध्यान रखना होता है, क्योंकि ऐसी बातों का ध्यान रखने से ही प्रेगनेंसी के दौरान माँ और बच्चे को स्वस्थ रहने में मदद मिलती है। इसके अलावा गर्भावस्था के दौरान महिला को अपने सोने का भी ध्यान रखना चाहिए जैसे की महिला को कितनी देर सोना चाहिए, कौन सी पोजीशन में सोना चाहिए, कौन सी पोजीशन में नहीं सोना चाहिए, सही तरीके से सोने और भरपूर नींद लेने के क्या फायदे होते हैं, आदि। तो आइये अब इस आर्टिकल में हम आपको प्रेगनेंसी में सोने का सही तरीका और यह है सही सोने के फायदे होते हैं उसके बारे में बताने जा रहे हैं।

गर्भवती महिला को कितनी देर सोना चाहिए?

प्रेगनेंसी के दौरान अच्छी और गहरी नींद लेने से महिला को फ्रैश महसूस होता है साथ ही महिला एनर्जी से भरपूर महसूस करती है। ऐसे में गर्भवती महिला को दिन भर में आठ से दस घंटे जरूर सोना चाहिए और इसके लिए महिला आठ से नौ घंटे रात के समय और एक घंटा दिन के समय आराम कर सकती है। यदि महिला अपने सही समय पर सोती है और पर्याप्त नींद लेती है तो इससे प्रेगनेंसी के दौरान माँ और बच्चे दोनों को सेहत सम्बन्धी फायदे भी मिलते हैं।

प्रेग्नेंट महिला के सोने के लिए सही पोजीशन?

गर्भावस्था के दौरान महिला का सोते समय सही पोजीशन का ध्यान रखना बहुत जरुरी होता है क्योंकि यदि गर्भवती महिला गलत पोजीशन में सोती है तो इसके कारण गर्भवती महिला को और आपके होने वाले बच्चे को दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में महिला के सोने के सही पोजीशन के बारे में यदि बात की जाये तो बाईं और करवट लेकर सोना महिला के लिए सबसे सही होता है। क्योंकि इससे माँ और बच्चे दोनों पर कोई बुरा असर नहीं पड़ता है। अच्छी और बेहतर नींद के लिए महिला प्रेगनेंसी पिल्लो का इस्तेमाल कर सकती है।

कौन सी पोजीशन में गर्भवती महिला को नहीं सोना चाहिए?

गर्भावस्था के दौरान महिला को सीधे होकर नहीं सोना चाहिए क्योंकि इससे बच्चे का पूरा भार रीढ़ की हड्डी पर आ जाता है जिसके कारण महिला को पीठ दर्द की समस्या अधिक होती है। गर्भवती महिला को पेट के भार भी नहीं सोना चाहिए क्योंकि इसके कारण गर्भवती महिला को पेट दर्द की समस्या होती है साथ ही शिशु गर्भ में असहज महसूस करता है। इसके अलावा महिला को दाईं और करवट लेकर भी ज्यादा नहीं सोना चाहिए क्योंकि इसकी वजह से गर्भनाल पर दबाव पड़ता है जिसके कारण शिशु तक पोषक तत्व व् अन्य चीजें अच्छे से नहीं पहुँच पाती है। ऐसे में महिला को इन पोजीशन में नहीं सोना चाहिए।

प्रेगनेंसी में सही पोजीशन में सोने के फायदे

गर्भवती महिला यादो सोते समय सोने की सही पोजीशन का ध्यान रखती है तो इससे प्रेग्नेंट महिला और शिशु को बहुत से फायदे मिलते हैं। जैसे की:

बेहतर नींद

सही पोजीशन में सोने से गर्भवती महिला को सोने में किसी तरह की दिक्कत नहीं होती है महिला को अच्छी और गहरी नींद लेने में मदद मिलती है। जिससे गर्भवती महिला रिलैक्स और एक्टिव रहती है।

शिशु का विकास

सही पोजीशन में सोने से गर्भनाल भी अच्छे से काम करती है जिससे गर्भ में पल रहे शिशु तक ब्लड, ऑक्सीजन, पोषक तत्व सभी अच्छे से पहुँचते हैं और शिशु के बेहतर विकास में मदद मिलती है।

प्रेगनेंसी में आने वाली परेशानियां होती है कम

सही पोजीशन में सोने से महिला को नींद अच्छे से आती है जिससे महिला को रिलैक्स और एक्टिव रहने में मदद मिलती है। और जब महिला एक्टिव और फ्रैश रहती है तो इससे प्रेगनेंसी में आने वाली परेशानियों को कम करने में मदद मिलती है।

तो यह हैं प्रेगनेंसी में सही पोजीशन में सोने के फायदे व् सोने की सही पोजीशन कौन सी होती है उससे जुड़े टिप्स, यदि आप भी प्रेग्नेंट हैं तो आपको भी इन बातों का ध्यान रखना चाहिए ताकि आपके और आपके होने वाले शिशु को प्रेगनेंसी में आने वाली दिक्कतों को कम करने और बेहतर नींद लेने में मदद मिल सके।

Correct sleeping position during pregnancy

Leave a comment