Take a fresh look at your lifestyle.

प्रेगनेंसी के नौवें महीने में मिलते हैं यह संकेत की डिलीवरी अभी नहीं होगी

0

प्रेगनेंसी के नौवें महीने में डिलीवरी का समय पास आने पर शरीर में बहुत से संकेत महसूस हो सकते हैं। जैसे की पेट में दर्द, पीठ में दर्द, प्राइवेट पार्ट से चिपचिपा पदार्थ निकलना, पेट के निचले हिस्से पर दबाव पड़ना, दस्त लगना, शिशु को जन्म लेने की पोजीशन में आना आदि। लेकिन ऐसा जरुरी नहीं होता है की हर महिला को प्रेगनेंसी के नौवें महीने में यह लक्षण महसूस हो। यह हर महिला की शारीरिक बनावट, प्रेगनेंसी के दौरान महिला के स्वास्थ्य, गर्भ में शिशु के विकास आदि पर निर्भर करता है।

साथ ही पहली बार माँ बन रही महिलाओं को डिलीवरी का समय पास आने पर थोड़ा डर भी लगता है की उन्हें कैसे पता चलेगा की डिलीवरी होने वाली है या नहीं होने वाली है। तो आज इस आर्टिकल में आपको कुछ ऐसे लक्षणों के बारे में बताने जा रहे हैं जो यदि आपको अपने शरीर महसूस हो। तो इन लक्षणों का मतलब होता है की अभी डिलीवरी का समय पास नहीं आया है।

पेट के निचले हिस्से पर दबाव महसूस न होना

गर्भ में बच्चे के जन्म लेने की सही पोजीशन में आने पर और डिलीवरी का समय पास आने पर महिला के पेट के निचले हिस्से में दबाव अधिक महसूस होता है। साथ ही पेट में हल्कापन महसूस होता है लेकिन यदि आपको प्रेगनेंसी में नौवें महीने में ऐसा कुछ भी नहीं महसूस नहीं हो रहा है। तो इसका मतलब होता है की आपकी डिलीवरी होने में अभी समय है।

संकुचन न होना

जब डिलीवरी का समय पास आता है तो पहले धीरे धीरे और फिर तेजी से गर्भाशय में संकुचन बढ़ जाता है। क्योंकि गर्भाशय के आस पास की मांसपशियों में खिंचाव बढ़ता है और बच्चा भी जन्म के लिए अपनी सही पोजीशन में आने की कोशिश करता है। लेकिन यदि प्रेग्नेंट महिला को नौवें महीने में गर्भाशय में संकुचन महसूस नहीं होता है। तो इसका मतलब होता है की डिलीवरी में अभी थोड़ा समय और बचा हुआ है।

एमनियोटिक फ्लूड या खून के धब्बे महसूस न होना

जब शिशु जन्म के लिए तैयार होता है तो प्राइवेट पार्ट से एमनियोटिक फ्लूड या खून के धब्बे महसूस हो सकते हैं। लेकिन यदि आपको अपने प्राइवेट पार्ट से सफ़ेद चिपचिपा पदार्थ या खून के धब्बे या गुलाबी रंग का फ्लूड नज़र नहीं आता है। तो इसका मतलब होता है की बच्चा अभी जन्म के लिए तैयार नहीं है।

पेट में दर्द जैसा कुछ महसूस न होना

प्रेगनेंसी के नौवें महीने में यदि महिला को पेट में दर्द जैसा कुछ भी महसूस न हो, पीठ में दर्द महसूस न हो। तो यह भी इस बात की और इशारा करता है की अभी बच्चे के जन्म के लिए समय बाकी है और आपको थोड़ा इंतज़ार और करना है।

शिशु की मूवमेंट

जब शिशु जन्म लेने की सही पोजीशन में आता है तो पहले के मुकाबले शिशु की मूवमेंट में थोड़ी कमी आती है। लेकिन यदि आपको ऐसा महसूस हो रहा है की शिशु की मूवमेंट में ऐसा कोई बदलाव नहीं आया है। तो इसका मतलब होता है की डिलीवरी में अभी समय है।

बार बार यूरिन जैसी परेशानी न होना

प्रेगनेंसी के नौवें महीने में महिला को बार बार यूरिन आने की समस्या तो होती है। लेकिन शिशु के नीचे की तरफ आने के कारण यह दिक्कत बढ़ जाती है साथ ही महिला को दस्त जैसी परेशानी भी हो सकती है। लेकिन यदि आपको ऐसी कोई दिक्कत नहीं है तो इसका मतलब होता है। की अभी बच्चे के जन्म में थोड़ा समय और बाकी है।

तो यह हैं कुछ लक्षण जो यदि आपको प्रेगनेंसी के नौवें महीने में प्रेग्नेंट महिला को अपने शरीर में महसूस होते हैं। तो यह लक्षण इस बात की और इशारा करते हैं की डिलीवरी होने में अभी समय है। साथ ही नौवें महीने में अपना चेकअप रूटीन से डॉक्टर के पास करवाने जाएँ ताकि आपको बच्चे की सही स्थिति की जानकारी मिल सकें। इसके अलावा यदि नौ महीने पूरे महीने होने के बाद भी महिला को बॉडी में प्रसव का लक्षण नहीं महसूस होता है तो इसके लिए एक बार डॉक्टर से राय लें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.