Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

प्रसव पीड़ा को सहने के उपाय और टिप्स

2

प्रसव पीड़ा को सहने के उपाय और टिप्स:-

प्रसव पीड़ा को सहने के उपाय: गर्भावस्था का समय किसी भी महिला के लिए बहुत खास और अनोखा समय होता हैं| गर्भावस्था के समय हर महिला बहुत खुश होती हैं| क्योंकि कुछ ही दिनों के बाद उसके घर एक नन्हा मेहमान आने वाला होता हैं| इसी समय उसके मन में कई सवाल भी आते हैं| क्योकि महिला जब गर्भावस्था का समय काट रही होती हैं| तो उसके शरीर में बहुत से बदलाव आते हैं जिनके कारण वो बहुत परेशान रहती हैं| और सबसे ज्यादा परेशान तो वो प्रसव यानि जब बच्चा पैदा होने वाला होता हैं| वो तब होती हैं|

बच्चा पैदा करना किसी जंग से काम नहीं होता किसी महिला के लिए| सिजेरियन में महिला को प्रसव पीड़ा नहीं होती हैं| क्योंकि उसमे तो शरीर को सुन कर दिया जाता हैं| उन्हें पता ही नहीं चलता हैं की कब बच्चा हो गया हैं| परंतु नार्मल डिलीवरी वाली महिला को बहुत दर्द का सामना करना पड़ता हैं| क्योकि ये दर्द असहनीय होता हैं| औरत को लगता हैं की जैसे वो मौत के मुह से बाहर आई हैं| तभी तो कहा जाता हैं| की बच्चा होने के बाद औरत का दूसरा जन्म होता हैं| परंतु माँ बनने का एक नया अनुभव भी होता हैं|

आज के समय में लोग सिजेरियन करवाने को ही प्राथमिकता देते हैं| क्योंकि वो नार्मल डिलीवरी में क्या होता हैं| इसे सुन कर ही डर जाते हैं| नार्मल डिलीवरी में महिलाओ को कई बार बहुत दर्द के बाद भी जब बच्चा नहीं होता हैं तो वो और भी परेशान हो जाता हैं| क्योंकि उससे वो दर्द सहन नहीं होता हैं| और इस दर्द को कम भी नहीं किया जा सकता हैं| क्योंकि कम कर दिया गया तो फिर सिजेरियन ही करना पड़ता हैं| परंतु कई महिलाये आज भी नार्मल डिलीवरी को ही प्राथमिकता देती हैं|

प्रसव पीड़ा के समय महिला का अपने ऊपर बिलकुल भी जोर नहीं चलता हैं| उस समय उसके मन में बस यही चल रहा होता हैं| की बच्चा कब जन्म लेगा और उसे इस दर्द से मुक्ति मिलेगी| पहले के समय में तो लोगो को सिजेरियन के बारे में कुछ पता ही नहीं था| क्योंकि सिजेरियन होती ही नहीं थी| बस जैसे ही औरत को प्रसव पीड़ा होती थी| तो महिलाये खुद घर में ही बच्चा पैदा कर लेती थी| परंतुइ आज का युग ऐसा नहीं हैं| क्योंकि आज के समय में ऐसा करने पर बच्चे को इन्फेक्शन का खतरा बहुत ज्यादा होता हैं|

तो आइये जानते हैं किस प्रकार आप प्रसव पीड़ा को सहन कर सकती हैं| महिलाये नौ महीने तक इस कीमती पल का इंतज़ार करती हैं| और जैसे ही आपकी निर्धारित तारीख आने वाली है तो आप और भी अधिक अधीर हो जाते हालाँकि इस स्थिति से आप आसानी से और धैर्य से निपट सकते हैं| कभी कभी गर्भवती महिला अस्पताल पहुँचने से पहले प्रसव पीड़ा प्रेरित करने के लिए कुछ न कुछ उपाय करती रहती हैं| जिससे आपको प्रसव पीड़ा को सहन करने में आसानी हो| तो ये हैं कुछ उपाय जिन्हें आप प्रसव पीड़ा को सहन करने के लिए अपना सकती हैं|

प्रसव पीड़ा को सहन करने के उपाय और टिप्स:-

गर्भावस्था के समय से ही करती रहे व्यायाम:-

माना जाता हैं की गर्भावस्था के समय से ही जो महिलाये व्यायाम करती हैं| उन्हें प्रसव पीड़ा कम होती हैं| प्रसव पीड़ा धीरे-धीरे शुरू होती हैं| प्रसव पीड़ा से बचने के लिए आपको गर्भावस्था के समय से ही हल्का फुल्का व्यायाम करना चाहिए| परंतु व्ययन ऐसा करे की जिससे बच्चे को कोई नुक्सान न हो| आप यदि गर्भावस्था के समय में योगा या फिर मैडिटेशन करती हैं तो उससे भी आपको आराम मिलेगा| यदि गर्भावस्था के समय से ही इन टिप्स को अपनाते हैं| तो आपको प्रसव के समय कम पीड़ा का सामना करना पड़ता हैं|

अपनी सासों की गति को करे धीमा;-

जैसे ही महिला को प्रसव पीड़ा होने लगती हैं| तो उसके पेट में काफी दर्द हो जाता हैं| जो कई बार असहनीय होता हैं| जिसके कारण आप कई बार बहुत तंग हो जाती हैं| ऐसे में हमारी सांसो की रफ़्तार भी तेज हो जाती हैं| यदि आप चाहती हैं की आपको प्रसव पीड़ा का अहसास कम हो तो आपको अपनी सांसो की गति पर रोक लगानी चाहिए| जिससे की आपको आराम मिल सके| और अपनी सांसो को धीमा करके उन्हें आराम और लंबे लेने से आपको कम दर्द का अहसास होता हैं| इससे भी आप प्रसव पीड़ा से थोड़ा आराम पा सकते हैं|

बार बार अपनी पोजीशन बदले:-

जैसे ही महिला को प्रसव पीड़ा शुरू होती हैं| तो वो अपने पेट को पकड़कर लेट जाती हैं| ऐसा नहीं करना चाहिए जैसे ही महिला को हल्का फुल्का दर्द हो तो उसे अपनी पोजीशन बदलते रहना चाहिए| इससे दर्द सामान्य रहता हैं| और आपको भी आराम मिलता हैं| प्रसव के दौरान आपको अपनी पोजीशन को बार-बार बदलना चाहिए| परंतु पेट के भर नहीं लेटना चाहिए| नहीं तो ज्यादा दर्द हो जाता हैं| कॉरपेट पर जोर पड़ने की वजह से ज्यादा समस्या उत्तपन हो सकती हैं|

ज्यादा पानी पीये:-

कई महिलाओ को प्रसव पीड़ा के दौरान पानी पीने से भी दर्द का अहसास कम होता हैं| यह एक घरेलू नुस्खा हैं| जिसका इस्तेमाल करके आप प्रसव में होने वाली पीड़ा से निजात पा सकते हैं| क्योकि कई बार आपका पीड़ा के दौरान कुछ खाने का मन नहीं करता हैं| इससे आपके पेट में गैस बनने लगती हैं| जिससे ज्यादा दर्द होता हैं| इसीलिए आपको प्रसव पीड़ा के दौरान यदि कुछ खाना नहीं हैं तो पानी का सेवन ही करती रहे|

पैदल चले:-

यदि आपको प्रसव की पीड़ा हो रही हैं तो आप पैदल चले जिससे बच्चा निचे की और आ जायेगा| और आपकी डिलीवरी में समय भी नहीं लगेगा और आपको प्रसव पीड़ा से भी मुक्ति मिल जाएगी| ऐसा करने से आपको तुरत आराम भी मिलेगा| यदि बच्चा अभी नहीं होने वाला होगा तो आपको दर्द से राहत मिल जाएगी| इसीलिए आप प्रसव पीड़ा से बचने के लिए इस तरीके का भी इस्तेमाल कर सकती हैं| इससे आपको आराम मिलेगा|

अपने साथी से बाते करे:-

कई बार मन कई और लगाने से भी दर्द कम हो जाता हैं| इसीलिए यदि आपको प्रसव पीड़ा हो रही हैं, परंतु अभी बच्चा होने में समय हैं तो आपको अपना मन कही और लगाने के लिए अपने साथी या फिर आपके साथ कोई भी हैं उससे बात करनी चाहिए| ऐसा करने से आपका मन कही और लगेगा और आपको दर्द से भी राहत मिलेगी| आप मन कही और लगाने के लिए भजन या किसी मन्त्र का जाप कर सकती हैं| जिससे आपको आराम मिले|

लेबर पेन

तो ये हैं कुछ बाते जिनकी मदद से आप प्रसव में होने वाले दर्द से आराम पा सकते हैं| परंतु ऐसा नहीं हैं की दर्द ख़तम हो जायेगा| परंतु आपका मन कही और लगने के कारण आपको ही प्रसव पीड़ा सहने में आसानी होगी| कहा जाता हैं की यदि नोवे महीने में अच्छे से काम किया जाये, आलस न किया जाये, ज्यादातर लेते न रहे, व्यायाम करे, गरम चीजे खाये, ज्यादा मसाले वाला भोजन करे| तो आपको प्रसव पीड़ा का ज्यादा सामना करना नहीं पड़ेगा| बस आप आसानी से थोड़ी ही देर में बच्चे को जन्म दे सकती हैं|

इनके आलावा यदि औरत पुरे नौ महीने तक अपने शरीर को हेल्थी रखे, काम करती रहे ( भारी सामान न उठाये ), और व्यायाम करे, वाक करे, साथ ही आप अच्छा आहार ले, तो भी आपकों प्रसव पीड़ा सहन करने में आसानी हो सकती हैं| जिससे आपको ज्यादा देर दर्द का अहसास भी नहीं होगा| तो यदि आप इन सब बातो का ध्यान रखेगी तो आपको प्रसव पीड़ा को सहन करने में आसानी होगी| और आप तंदरुस्त और स्वस्थ भी रहेंगे|

प्रसव पीड़ा को सहने के उपाय और टिप्स, प्रसव पीड़ा को सहने के उपाय, प्रसव पीड़ा टिप्स, प्रसव पीड़ा से बचने के उपाय, delivery pain, tips to get rid from delivery pain, delivery pain tips, delivery pain information, prasav peeda se bachne ke upay,

Show Comments (2)