Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

एक महीने का गर्भ गिराने के घरेलू उपाय

0

माँ बनना हर महिला के लिए ख़ुशी का पल होता है। लेकिन प्रेगनेंसी अगर नहीं प्लान की हो और हो जाये तो यह परेशानी का कारण भी बन जाती है। जैसे की अभी आपका पहला बच्चा एक साल का है और आप दो बच्चे चाहते हैं लेकिन दोनों बच्चों में चार से पांच साल का गैप चाहते हैं।

लेकिन अभी पहला बच्चा एक साल का ही है और आपको प्रेगनेंसी हो जाये तो आपको दिक्कत हो सकती है। ऐसे ही और भी कारण हो सकते हैं जिनकी वजह से महिला प्रेग्नेंट नहीं होना चाहती है। आज इस आर्टिकल में हम कुछ ऐसे घरेलू नुस्खे बताने जा रहे हैं जो गर्भ गिराने में आपकी मदद कर सकते हैं।

कितने महीनों का गर्भ घरेलू नुस्खों से गिर जाता है?

यदि आपका गर्भ दो महीने तक है तो इसे घरेलू नुस्खों से गिराया जा सकता है। लेकिन इससे ज्यादा दिनों का गर्भ घरेलू नुस्खों से गिराना आसान नहीं होता है और यदि घरेलू उपाय करने से ब्लीडिंग शुरू भी हो जाती है तो पेट में कुछ टिश्यू रहने का खतरा होता है। इसके अलावा कुछ केस में दो महीने का गर्भ भी घरेलू नुस्खों से नहीं गिर पाता है तो आपको डॉक्टर से मिलने की जरुरत होती है। इसके साथ ही यदि आप घरेलू नुस्खों से गर्भ गिराते हैं तो आपको एक बार बाद में अल्ट्रासॉउन्ड जरूर करवाना चाहिए की आपका गर्भाशय अच्छे से साफ़ हुआ है या नहीं।

कब पता चलता है की गर्भ ठहर गया है?

सबसे पहली बात तो पहले महीने में पता ही नहीं चलता है की गर्भ ठहर गया है लेकिन हाँ यदि आपको प्रेगनेंसी के कुछ लक्षण शरीर में नज़र आएं तो आप अंदाजा जरूर लगा सकती है की आपका गर्भ ठहर गया है। इसके बाद जब दूसरे महीने में आपके पीरियड्स नहीं आते हैं तो उसके बाद यह अन्दाज़ा लगाया जाता है की आपका गर्भ ठहर गया है। उसके बाद जब आप प्रेगनेंसी टेस्ट करते हैं या करवाते हैं तो आपकी प्रेगनेंसी कन्फर्म होती है। फिर आप ये निर्णय लेते हैं की आपको बच्चा अभी चाहिए या नहीं, यदि नहीं तो उसके बाद आप आगे बढ़ते हैं।

गर्भ गिराने के घरेलू नुस्खें

यदि आपका गर्भ ठहर गया है और आप अभी बच्चा नहीं चाहते हैं तो कुछ आसान तरीकों को फॉलो करने से आपको गर्भ गिराने में मदद मिल सकती है। जैसे की:

कच्चा पपीता खाएं

प्रेगनेंसी की शुरुआत में कच्चा पपीता खाने की मनाही होती है क्योंकि इसमें मौजूद एंजाइम गर्भ को नुकसान पहुंचा सकते हैं जिससे गर्भपात हो जाता है। ऐसे में यदि आप चाहते हैं की आपका गर्भ गिर जाए तो आपको कच्चा पपीता जरूर खाना चाहिए।

अनानास

अनानास का सेवन भी प्रेगनेंसी के दौरान न करने की सलाह दी जाती है खासकर प्रेगनेंसी की पहली तिमाही में क्योंकि इससे गर्भपात का खतरा होता है। ऐसे में यदि आप चाहती है की आपका गर्भ गिर जाये तो अनानास का सेवन या अनानास का जूस आप पी सकती है।

भुने हुए तिल

तिल की तासीर बहुत गर्म होती है ऐसे में गर्भ गिराने में यह आपकी मदद कर सकते हैं। इसके इस्तेमाल के लिए आप सबसे पहले तिल को भून लें फिर दिन में तीन से चार बार दो से तीन चम्मच तिल का सेवन करें और ऐसा तब तक करें जब तक आपको ब्लीडिंग शुरू न हो जाये।

कटहल

थोड़े दिनों का गर्भ गिराने के लिए आप कटहल का सेवन भी कर सकते हैं क्योंकि कटहल का सेवन करने से आपको गर्भ को गिराने में मदद मिलती है।

सीताफल के बीज

सीताफल के बीजों को पीसकर उसका पेस्ट बनाएं और अब उस पेस्ट को महिला अपने प्राइवेट पार्ट पर लगाएं। ऐसा दिन में दो से तीन बार करें और जब तक करें जब तक महिला को ब्लीडिंग शुरू नहीं हो जाये। ऐसा करने से भी महिला के गर्भ को गिराने में मदद मिलती है।

भागदौड़ करें

गर्भ गिराने के लिए महिला को ज्यादा से ज्यादा काम करना चाहिए, पैर के भार बैठकर काम करना चाहिए, सीढ़ियां चढ़नी चाहिए, तेजी से वाक करनी चाहिए, आदि। ऐसे कुछ काम करने से भी थोड़े दिन के गर्भ को गिराने में मदद मिलती है।

चाय पीएं

गर्भ गिराने के लिए आप दिन में तीन से चार बार इलायची अदरक वाली चाय बनाकर पीएं। अदरक और इलायची दोनों की तासीर गर्म होती है ऐसे में इनका सेवन करने से भी दस से पंद्रह दिन के गर्भ को गिराने में आसानी होती है।

दालचीनी

दालचीनी रसोई में इस्तेमाल किया जाने वाला एक मसाला है लेकिन प्रेगनेंसी की शुरुआत में इसके सेवन से परहेज रखने की सलाह दी जाती है क्योंकि इससे ब्लीडिंग होने का खतरा होता है। ऐसे में दालचीनी का इस्तेमाल भी गर्भ गिराने के लिए कर सकते हैं। लेकिन ध्यान रखें यदि आपको दालचीनी से किसी तरह की एलर्जी है तो आपको दालचीनी का सेवन नहीं करना चाहिए।

सम्बन्ध बनाएं

यह तो आप जानते हैं की डॉक्टर्स प्रेगनेंसी के पहले तीन महीने सम्बन्ध न बनाने की सलाह देते हैं क्योंकि सम्बन्ध बनाने से गर्भ गिरने का डर होता है। ऐसे में यदि आप गर्भ गिराना चाहते हैं तो आपको रोजाना सम्बन्ध बनाना चाहिए हो सकता है ऐसा करने से आपको फायदा मिलें।

तुलसी

तुलसी के पत्तों को पानी में उबालकर उसे छानकर दिन में तीन से चार बार पीएं या फिर तुलसी के पत्तों को आप ऐसे ही चबाएं। ऐसा जब तक करें जब तक आपको ब्लीडिंग न हो जाये।

एलोवेरा

गर्भवती महिला को एलोवेरा का सेवन करने की भी मनाही होती है क्योंकि एलोवेरा खाने से गर्भपात का डर होता है। ऐसे में यदि आप चाहती है की आपका गर्भपात हो जाये तो आप एलोवेरा का सेवन भी कर सकती है।

व्यायाम करें

यदि आप चाहती है की आपका गर्भपात हो जाये तो इसके लिए आप खूब व्यायाम करें ऐसा करने से आपके गर्भ को आसानी से गिराने में मदद मिलती है। खासकर वो व्यायाम अधिक करें जिससे पेट पर थोड़ा दबाव महसूस हो।

पेट की मालिश करें

ऐसा माना जाता है की थोड़े दिनों का गर्भ गिराने के लिए आप पेट पर मालिश भी कर सकते हैं। क्योंकि मालिश करने से ब्लीडिंग होने के चांस बढ़ जाते हैं जिससे गर्भपात हो जाता है।

गर्म पानी से नहाएं

गर्भ गिराने के लिए आप गर्म पानी से भी नहा सकते हैं गर्म पानी से नहाने पर शरीर का तापमान बढ़ जाता है जिससे गर्भ गिरने के चांस बढ़ जाते हैं।

डॉक्टर से दवाई लें

यदि आप बिना किसी घरेलू नुस्खें को ट्राई करें गर्भपात का करना चाहते हैं तो आप अपनी जांच करवाएं उसके बाद डॉक्टर्स आपको दवाई दे देते हैं। जिससे आसानी से आपका गर्भ गिर जाता है।

गर्भपात के अन्य तरीके

  • लहसुन की दो दिन कली दिन में तीन चार बार खाएं ऐसा करने से भी गर्भ को गिराने में मदद मिलती है।
  • आंवला, संतरा, अंगूर जैसे विटामिन सी युक्त खाद्य पदार्थों का अधिक सेवन करें इससे भी आपको फायदा मिलता है।
  • यदि सर्दियों का मौसम है तो आग सेकें, धूप में ज्यादा बैठें इससे शरीर के तापमान में बदलाव आता है और गर्भपात जल्दी करने में मदद मिलती है।
  • ज्यादा से ज्यादा काम करें ऐसा करने से भी गर्भ को गिराने में मदद मिलती है जैसे की पानी की भरी बाल्टी उठाएं, बाथरूम साफ़ करे, बैठकर पोछा लगाएं, आदि।
  • बाबुल की पत्तियों का पानी उबालकर पीने से भी गर्भपात में मदद मिलती है।
  • रात को सोने से पहले दो तीन इलायची खाएं और हो सके तो दिन में भी एक दो इलायची खाएं इससे भी थोड़े दिन के गर्भ को आसानी से गिराने में मदद मिलती है।
  • जिन खाद्य पदार्थों की तासीर गर्म होती है जैसे की ड्राई फ्रूट्स, रसोई में इस्तेमाल किये जाने वाले मसालें, आदि उनका सेवन करें। क्योंकि गर्म तासीर वाली चीजों का सेवन करने से भी गर्भपात होने में मदद मिलती है।

डॉक्टर से कब मिलें?

यदि आपका गर्भ दो महीने का होने वाला है तो आपको घरेलू नुस्खों पर ज्यादा भरोसा न करते हुए डॉक्टर से मिलना चाहिए और गर्भपात के लिए डॉक्टर से मिलना चाहिए। क्योंकि गर्भ जितने ज्यादा दिन का हो जाता है उतना ही आपको गर्भपात के बाद मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है।

तो यह हैं कुछ नुस्खें जिन्हे ट्राई करने से आपको एक से दो महीने तक का गर्भ गिराने में मदद मिलती है। साथ ही गर्भपात के कारण महिला का शरीर काफी कमजोर हो जाता है ऐसे में महिला को अपना ज्यादा ध्यान रखना चाहिए। इसके अलावा आपका गर्भ न ठहरे इसके लिए आपको सुरक्षा का इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि यदि बार बार ऐसा होता है तो इसकी वजह से महिला का ही शरीर खराब होता जाता है।

Leave a comment